खत्म होता पाक : तालिबान आतंकी की गिरफ्त में पाकिस्तान, बच्चें भी हो रहे शिकार

पाकिस्तान सरकार आतंकवादियों को लेकर चाहे जितने भी झूठे दावे क्यों न कर ले, पर उसके यह सब दावे उसी वक्त झूठे साबित हो जाते है जब तालिबानी आतंकवादी महिलाओं और बच्चों कोे सरेआम धमकी देते हैं। तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान का प्रमुख ठिकाना बना हुआ है।

खत्म होता पाक : तालिबान आतंकी की गिरफ्त में पाकिस्तान, बच्चें भी हो रहे शिकार

नई दिल्ली : केंद्र सरकार द्वारा अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद से पाकिस्तान सरकार आतंकवादियों को लेकर चाहे जितने भी झूठे दावे क्यों न कर ले, पर उसके यह सब दावे उसी वक्त झूठे साबित हो जाते है जब तालिबानी आतंकवादी महिलाओं और बच्चों कोे सरेआम धमकी देते हैं। पाकिस्तान सरकार आतंकवादियों के पूर्ण समर्थन करता है। तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान का प्रमुख ठिकाना बना हुआ है। इसी के साथ वो महिलाओं और बच्चों को धमकी दे रहा है।

यह भी देखें… गोरखपुर जेल में बवाल: कैदियों ने डिप्टी जेलर समेत चार को पीटा, हो रहा पथराव

ऑपरेशन जर्ब-ए-अजब

आपको बता दें कि सन् 2014 में ऑपरेशन जर्ब-ए-अजब की वजह से आतंकवादी संगठन में गिरावट आई थी, पर अभी बीते कुछ दिनों से फिर से इनकी उपस्थिति हरकत में आई है।

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, टीटीपी से संबंधित रिपोर्टों पर नजर रखी जा रही है। जानकारी में फैसलाबाद और गुजरांवाला समेत पाकिस्तान के विभिन्न आबादी वाले शहरों से गिरफ्तार किए गए टीटीपी के गुटों के बोरे में रिपोर्ट भी दी थी।

taliban2

बता दें कि टीटीपी ने मीरनशाह के निवासियों को संगीत सुनने पर रोक लगाने की मांग की थी और एक पुरुष साथी और एक महिला को बाहर जाने पर भी रोक लगाने की मांग की थी। इसके साथ ही पोलियो टीकाकरण पर भी रोक लगाई गई थी।

इसी के साथ टीटीपी ने अपने द्वारा जारी संदेश में कहा, हम आपको याद दिलाते हैं कि तालिबान द्वारा पूर्व में कई बयान जारी किए गए हैं लेकिन इस बार हम तालिबान के आदेश का उल्लंघन करने वालों पर कड़ी कार्रवाई करेंगे।

यह भी देखें… जम्म-कश्मीर: राजौरी सेक्टर में पाकिस्तान ने किया सीजफायर का उल्लंघन

जिंदगियों से क्यों खिलवाड़

आगे उन्होंने कहा कि डीजे का कोई उपयोग नहीं होगा, न तो घर के अंदर और न ही खुले खेतों में और चेतावनी की अनदेखी करने वाले लोग परिणामों के लिए जिम्मेदार होंगे।

taliban

और तो और आतंकी संगठनों ने चिकित्सा कर्मचारियों को मासूम बच्चों को पोलियो की दवा पिलाने के खिलाफ भी चेतावनी दी है। हालाकिं पाकिस्तान के लिए यह बुरी खबर है, क्योंकि पाकिस्तान पोलियो से फ्री होने की कोशिश में लगा हुआ है। निर्दोष बच्चों पर क्यों इस तरह से कहर बरपा जा रहा है। उनकी जिंदगियों से क्यों खिलवाड़ किया जा रहा है। पाकिस्तान सरकार अपने जनता की परेशानियों को ही खत्म करना दूर कम भी करने का कोई प्रयास नहीं कर रही है।

यह भी देखें… ऐसे ही महाबलीपुरम में नहीं मिल रहे दो ‘महाबली’, ये है पुराना इतिहास