×

संसद बजट सत्र: राज्यसभा में उठा अखिलेश यादव को एयरपोर्ट पर रोके जाने का मुद्दा

राज्यसभा की कार्यवाही का आज 9 वां दिन है। कार्यवाही के शुरू होते ही सपा सांसद वेल में आकर नारेबाजी करने लगे। उपसभापति ने सांसदों ने धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा करने की अपील की। उन्होंने कहा कि बजट पर भी चर्चा होनी है, यह हमारा संवैधानिक दायित्व है। तभी सदन में सपा सांसद नारेबाजी करने लगे। हंगामा शांत होते न देख उपसभापति ने सदन की कार्यवाही दिनभर के लिए स्थगित कर दी।

Aditya Mishra

Aditya MishraBy Aditya Mishra

Published on 12 Feb 2019 9:30 AM GMT

संसद बजट सत्र: राज्यसभा में उठा अखिलेश यादव को एयरपोर्ट पर रोके जाने का मुद्दा
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

नई दिल्ली: राज्यसभा की कार्यवाही का आज 9 वां दिन है। कार्यवाही के शुरू होते ही सपा सांसद वेल में आकर नारेबाजी करने लगे। उपसभापति ने सांसदों ने धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा करने की अपील की। उन्होंने कहा कि बजट पर भी चर्चा होनी है, यह हमारा संवैधानिक दायित्व है। तभी सदन में सपा सांसद नारेबाजी करने लगे। वेल में सपा के सांसदों का साथ देने टीएमसी के सांसद भी वेल में ही खड़े हो गये। हंगामा शांत होते न देख उपसभापति ने सदन की कार्यवाही दिनभर के लिए स्थगित कर दी।

ये भी पढ़ें...राम तो एक हैं लेकिन धर्म संसद दो, ऐसा क्यों?

लाइव अपडेट्स...

- राज्यसभा की कार्यवाही फिर से शुरू होती ही उच्च सदन में जोरदार हंगामा देखने को मिला। इस बीच वित्त राज्य मंत्री ने अंतरराष्ट्रीय वित्तीय सेवाएं केंद्र प्राधिकरण विधेयक 2019 सदन में पेश कर दिया। इसके बाद सपा सांसद रामगोपाल यादव ने अखिलेश यादव को एयरपोर्ट पर रोके जाने का मुद्दा उठाया और सपा सांसदों ने इस पर वेल में आकर नारेबाजी की। लोकसभा की कार्यवाही 3 बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई है।

-खड़गे के आरोपों पर गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि इस पर सदन में चर्चा हो चुकी है और सुप्रीम कोर्ट ने भी फैसला दिया है। राजनाथ सिंह ने कहा कि बार-बार विपक्ष के नेता झूठ को प्रचारित कर रहे हैं। गृहमंत्री ने कहा कि जनता को गुमराह करने की कोशिश की जा रही है और किसी भी पार्टी या नेता के लिए लोकतंत्र में ऐसा करना बिल्कुल गलत है, आपको जनता के सामने झूठ नहीं बोलना चाहिए।

-लोकसभा में प्रश्नकाल खत्म हो चुका है। स्पीकर ने बताया कि उन्हें विभिन्न मुद्दों पर स्थगन प्रस्ताव के नोटिस मिले हैं लेकिन किसी भी प्रस्ताव को स्वीकार नहीं किया गया है, अब सदन में मंत्री दस्तावेज पटल पर रख रहे हैं।

- लोकसभा में प्रश्नकाल चल रहा है, कांग्रेस के सांसद लगातार वेल में आकर नारेबाजी कर रहे हैं। उधर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने एक ईमेल के हवाले से राफेल डील में भ्रष्टाचार का आरोप फिर से दोहराया है। उन्होंने प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री ने इस डील में अनिल अंबानी के लिए बिचौलिये का काम किया है और गोपीलयता कानून का उल्लंघन किया है।

राज्यसभा की कार्यवाही दोपहर 2 बजे तक के लिए स्थगित। इससे पहले राकेश शर्मा ने दिल्ली विश्वविद्यालय के सेवानिवृत्त शिक्षण कर्मचारियों को पेंशन नहीं दिए जाने का मुद्दा उठाया।

- लोकसभा की कार्यवाही फिर शुरू हो गई है, सदन में प्रश्न काल जारी है और मंत्री मलिन बस्तियों में सुविधाओं से जुड़े मुद्दे पर सांसदों के सवाल का जवाब दे रहे हैं। सदन में कांग्रेस के सांसद राफेल डील की जेपीसी जांच को लेकर प्रधानमंत्री और कैग के खिलाफ नारे लगा रहे हैं।

- सियासी खींचतान का मुद्दा बन चुकी राफेल विमान डील पर संसद से सड़क तक हंगामा जारी है। आज 12 बजे के करीब लोकसभा में CAG की रिपोर्ट पेश की जा सकती है. इस रिपोर्ट में डील के बारे में जानकारी दी गई है।

- लोकसभा में राफेल डील पर जोरदार हंगामा देखने को मिल रहा है। स्पीकर ने वेल में आए कांग्रेस सांसदों को फटकार लगाते हुए कहा कि आपका बर्ताव ठीक नहीं है, सदन चर्चा के लिए है और कई बार चर्चा का मौका भी दिया गया है।

- राज्यसभा में सभापति वेंकैया नायडू ने सदस्यों से धन्यवाद प्रस्ताप पर चर्चा की शुरुआत करने के लिए कहा। लेकिन इस पर नेता प्रतिपक्ष गुलाम नबी आजाद ने सदन में कहा कि राष्ट्रपति के भाषण बड़ा संवैधानिक काम है, इसपर चर्चा होनी है। हमारे कई नोटिसों पर भी चर्चा नहीं हो पाई है, उन्होंने कहा कि धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा हो और उसके बाद प्रधानमंत्री जवाब दें।

- संसद की कार्यवाही शुरू हो गई है। राज्यसभा में संसदीय समितियों की रिपोर्ट सदन में रखी जा रही है। वहीं लोकसभा में प्रश्न काल जारी है और विभिन्न दलों के सांसद मंत्रियों से सवाल पूछ रहे हैं।

ये भी पढ़ें...Twitter CEO और अधिकारियों ने संसदीय समिति के समन पर IND आने से इनकार

बहुचर्चित राफेल लड़ाकू विमान खरीद करार को लेकर भारत के नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक (कैग) द्वारा तैयार की गई ऑडिट रिपोर्ट सरकार मंगलवार को संसद में पेश करेगी। मौजूदा 16वीं लोकसभा का बुधवार को अंतिम दिन है और अप्रैल-मई में लोकसभा चुनाव होना हैं।

कांग्रेस सत्तारूढ़ राजग सरकार पर राफेल करार में भ्रष्टाचार व धांधली के आरोप लगा रही है। ऐसे में कैग की रिपोर्ट सरकार के पक्ष में आने पर राजग को क्लीनचिट मिल सकती है।

सूत्रों के अनुसार, कैग ने राफेल पर 12 चैप्टर लंबी विस्तृत रिपोर्ट तैयार की है। कुछ हफ्ते पहले ही रक्षा मंत्रालय ने राफेल पर विस्तृत जवाब और संबंधित रिपोर्ट कैग को सौंपी थी। इसमें खरीद प्रक्रिया की अहम जानकारी के साथ 36 राफेल की कीमतें भी बताई थीं।

नागरिकता संशोधन बिल पिछले महीने यानि 8 जनवरी को लोकसभा में पास कराया गया था। इसके बाद से इस बिल का उत्तर-पूर्व राज्यों में भारी विरोध हो रहा है। नागरिकता संशोधन विधेयक 2016 के तहत नागरिकता कानून 1955 में संशोधन कर पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बांग्लादेश से आए गैर मुस्लिम धार्मिक अल्पसंख्यकों को भारतीय नागरिकता दिए जाने की बात कही गई है।

गौरतलब है कि सोमवार को संसद में विपक्षी दलों द्वारा काफी हंगामा हुआ। राज्यसभा में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर लाए गए धन्यवाद प्रस्ताव पर आगे की चर्चा होनी थी, लेकिन हंगामे की वजह से सदन की कार्यवाही दिनभर के लिए स्थगित कर दी गई। वहीं लोकसभा में अंतरिम बजट पर आगे की चर्चा हुई और फिर वित्त मंत्री पीयूष गोयल के जवाब के बाद इसे ध्वनि मत से पारित कर दिया गया। लोकसभा में अंतरिम बजट पर चर्चा का जवाब देते हुए वित्त मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि मोदी सरकार ने लगातार 5 साल तक देश में विकास यात्रा को बल देने का काम किया है. गांव-गरीब तक विकास पहुंचाने के लिए कई सारे काम हमारी सरकार ने किए हैं।

ये भी पढ़ें...राफेल डील पर सीएजी की रिपोर्ट संसद में हो सकती है पेश

Aditya Mishra

Aditya Mishra

Next Story