मोदी का बड़ा ऐलान: किसानों को दिया ये उपहार, लॉन्च की करोड़ो की योजना

देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देशवासियों के लिए रविवार को एग्रीकल्चर इंफ्रास्ट्रक्चर फंड के तहत वित्तीय सुविधाओं का ऐलान किया।

kisan

मोदी का बड़ा ऐलान: किसानों को दिया ये उपहार, लॉन्च की करोड़ो की योजना

नई दिल्ली। देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देशवासियों के लिए रविवार को एग्रीकल्चर इंफ्रास्ट्रक्चर फंड के तहत वित्तीय सुविधाओं का ऐलान किया। पीएम मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए पीएम-किसान योजना की अलग-अलग सुविधाओं का ऐलान किया। इसके साथ ही पीएम मोदी ने ट्वीट कर देशवासियों को तमाम बधाई भी दी हैं।

ये भी पढ़ें… केरल में भारी बारिश का अनुमान, मौसम विभाग ने कई जिलों के लिए जारी किया रेड अलर्ट

बलराम जयंती की, हलछठ और दाऊ जन्मोत्सव की शुभकामनाएं

पीएम मोदी ने ट्वीट कर लिखा, सभी देशवासियों को, विशेष रूप से किसान भाई-बहनों को बलराम जयंती की, हलछठ और दाऊ जन्मोत्सव की शुभकामनाएं। इस खास दिन पर सुबह 11 बजे वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए एग्रीकल्चर इन्फ्रास्ट्रक्चर फंड के तहत एक लाख करोड़ रुपये की वित्तपोषण सुविधा की शुरुआत करूंगा।

देश में इस योजना के शुभारंभ पर पीएम मोदी ने कहा, इस योजना से गांव में किसानों के समूहों को, किसान समितियों को, FPOs को वेयरहाउस बनाने के लिए, कोल्ड स्टोरेज बनाने के लिए, फूड प्रोसेसिंग से जुड़े उद्योग लगाने के लिए 1 लाख करोड़ रुपये की मदद मिलेगी।

ये भी पढ़ें…कानपुर देहात: बीजेपी नेता ने किया सरकारी जमीन पर कब्जा, पुलिस प्रशासन ने शुरू की कार्येवाही

टैक्स के दायरे से मुक्त

आगे कहते हुए- पहले e-NAM के ज़रिए, एक टेक्नॉलॉजी आधारित एक बड़ी व्यवस्था बनाई गई। अब कानून बनाकर किसान को मंडी के दायरे से और मंडी टैक्स के दायरे से मुक्त कर दिया गया।

पीएम मोदी ने कहा, अब किसान के पास अनेक विकल्प हैं। अगर वो अपने खेत में ही अपनी उपज का सौदा करना चाहे, तो वो कर सकता है। या फिर सीधे वेयरहाउस से, e-NAM से जुड़े व्यापारियों और संस्थानों को, जो भी उसको ज्यादा दाम देता है, उसके साथ फसल का सौदा किसान कर सकता है।

ये भी पढ़ें…सुशांत की नाराजगी: रिया संग चैट में हुआ खुलासा, इस शख्स से थी शिकायत

कृषि से जुड़े व्यापार को मुक्त कर दिया

आगे कहते हुए- इस कानून का उपयोग से ज्यादा दुरुपयोग हुआ। इससे देश के व्यापारियों को, निवेशकों को, डराने का काम ज्यादा हुआ। अब इस डर के तंत्र से भी कृषि से जुड़े व्यापार को मुक्त कर दिया गया है।

पीएम मोदी ने कहा, अब हम उस स्थिति की तरफ बढ़ रहे हैं, जहां गांव के कृषि उद्योगों से फूड आधारित उत्पाद शहर जाएंगे और शहरों से दूसरा औद्योगिक सामान बनकर गांव पहुंचेगा। यही तो आत्मनिर्भर भारत अभियान का संकल्प है, जिसके लिए हमें काम करना है।

आगे कहते हैं- 2 दिन पहले ही, देश के छोटे किसानों से जुड़ी एक बहुत बड़ी योजना की शुरुआत की गई है। जिसका आने वाले समय में पूरे देश को बहुत बड़ा लाभ होने वाला है। देश की पहली ‘किसान रेल’ महाराष्ट्र और बिहार के बीच में शुरू हो चुकी है।

ये भी पढ़ें…कोविड को लेकर लखनऊ के अस्पतालों ने उठाए ये कदम, शुरू की तैयारियां

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App