Top

मोदी की हत्या की साजिश की सूचना से हड़कंप, दो लोग पुलिस हिरासत में

By

Published on 18 Nov 2016 8:28 PM GMT

मोदी की हत्या की साजिश की सूचना से हड़कंप, दो लोग पुलिस हिरासत में
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्लीः पीएम नरेंद्र मोदी की हत्या की साजिश रचे जाने की खबर से दिल्ली पुलिस और खुफिया एजेंसियां हरकत में आ गई हैं। पुलिस ने दिल्ली के बुराड़ी और दिलशाद गार्डन से दो लोगों को हिरासत में लिया है। दोनों से पूछताछ की जा रही है। साजिश रचने वाले जिस शख्स की बात बताई जा रही है, उसकी तलाश में पुलिस अब जुटी हुई है।

क्या है मामला?

सूत्रों के अनुसार बुधवार देर रात कंट्रोल रूम को कॉल कर एक शख्स ने कहा कि कुछ लोग मोदी की हत्या की साजिश रच रहे हैं। उसने ये दावा भी किया कि साजिश रचने वाले की बात उसने सुनी है। कंट्रोल रूम ने तुरंत सीमापुरी थाने को जानकारी दी। जांच में पता चला कि जिस नंबर से कॉल आई थी, वह बुराड़ी के ही दिनेश नाम के शख्स का है।

हिरासत में लिए गए दो लोग

पुलिस ने पहले दिनेश को हिरासत में लिया। उसने बताया कि एक परिचित उसके नाम से लिए गए मोबाइल नंबर का इस्तेमाल करता है। दिनेश की निशानदेही पर उसके परिचित को भी पुलिस ने हिरासत में लिया। उसने बताया कि एक दुकान के पास वह खड़ा था। उस वक्त एक युवक आया और जरूरी कॉल करने के लिए मोबाइल लिया।

दिनेश के परिचित ने कहा कि कुछ दूर हटकर वह किसी से पीएम की हत्या करने की बात कर रहा था। अब पुलिस इस युवक की तलाश कर रही है। दुकानदार ने भी दिनेश के परिचित की बात की पुष्टि की है।

आगे की स्‍लाइड में पढ़ें नोटबंदी के फैसले के बाद पीएम मोदी ने कहा था कि हो सकती है मेरी हत्‍या...

गोवा में भावुक हुए थे मोदी

-गोवा में ग्रीनफील्ड एयरपोर्ट के शिलान्यास के दौरान पीएम मोदी भावुक हो गए।

-भाषण के अंत तक उनकी आंखों से आंसू भी झलक आए।

-500 और 1000 के नोट बंद होने पर जनता को होने वाली असुविधा की बात करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि मैं दुखी हूं। लेकिन यह जरूरी था।

-मोदी ने कहा कि उन्होंने भी गरीबी देखी है और वह परेशानी को समझ सकते हैं।

-पीएम मोदी ने कहा कि आम जन को तकलीफें होती हैं तो मुझे भी होती है।

राजनीति के लिए नहीं आया देश के लिए घर परिवार छोड़ा

-मैंने बुराइयों को निकट से देखा है। देश के लिए मैंने अपना घर परिवार छोड़ा है, अपना सब कुछ देश के नाम कर दिया है।

-मोदी ने भावुक अपील करते हुए कहा कि यह अंत नहीं है।

-भ्रष्टाचार बंद करने के लिए मेरे दिमाग में और भी प्रोजेक्ट चल रहे हैं।

-ईमानदारी के काम में मेरा साथ दीजिए।

मैंने जो लड़ाई शुरू की है उसमें लोग मुझे जिंदा नहीं छोडेंगे

-उन्होंने ज़ोर देते हुए कहा कि 'मैं जानता हूं मैंने कैसी कैसी ताकतों से लड़ाई मोल ले ली हैं।जानता हूं कैसे लोग मेरे खिलाफ हो जाएंगे।

-मुझे ज़िंदा नहीं छोड़ेंगे, मुझे बर्बाद कर देंगे।

-लेकिन मैं हार नहीं मानूंगा। आप सिर्फ 50 दिन मेरी मदद करें। मेरा साथ दें सब ठीक हो जाएगा।

पीएम मोदी ने रविवार को गोवा में ग्रीनफील्ड हवाई अड्डे और टुइम इलेक्ट्रोनिक सिटी की आधारशिला रखने के दौरान देशवासियों से 50 दिन का समय मांगा है। उन्‍होंने कहा कि कालेेधन की देश से सफाई बहुत जरूरी है। 50 दिन में सब कुछ ठीक हो जाएगा, अगर ऐसा नहीं हुआ तो आप जो सजा देंगे मुझे मंजूर है। मोदी ने कहा कि 70 साल की बीमारी 17 महीने में मिटानी हैै।

मोदी ने कहा कि ”8 तारीख को रात 8 बजे देश के करोड़ों लोग सुख चैन की नींद सो गए और देश के लाखों लोग नींद के लिए गोलियां खरीदने जा रहे हैं गोलियां नहीं मिल रही हैं।”

मोदी ने कहा कि मैं देशवासियों की तकलीफ समझता हूं लेकिन ये कष्‍ट 50 दिन के लिए है इस बीच कालेधन की सफाई हो जाएगी। मैंने ये लड़ाई ईमानदार लोगों के भरोसे शुरू की है उनकी ताकत पर मुझे भरोसा है।

मोदी ने कहा ”बेनामी सम्‍पत्ति पर जल्‍द सरकार हमला बोलने वाली है। यह देश की सम्‍पत्ति है।”

कई सांसदों ने मुझे इसके खिलाफ लिखी थ चिट्ठी

-कई सांसदों ने मुझे 2 लाख से ज्‍यादा सोने की खरीद पर पैन नंबर के नियम लागू करने के फैसले के खिलाफ चिट्ठी लिखी थी।

-जिस दिन मैंने उसे सार्वजनिक कर दिया तो पता नहीं वो अपने क्षेत्रों में जा पाएंगे या नहीं।

-मोदी ने कहा कि कुछ लोगों ने मुझे चिट्ठी लिखी थी कि ढाई लाख से ज्‍यादा वाला नियम मत लगाइए।

-ज्‍वेलरी पर जब एक्‍साइज ड्यूटी लगाई तो मुझपर बहुत दबाव था।

-70 साल की बीमारी 17 महीने में मिटानी है।

आगे की स्‍लाइड में पढ़ें मोदी ने कहा कि 8 की रात कई लोगोंं को नींद की गाेलियां खानी पढ़ी…

8 तारीख की रात लोगों को नींद की गोलियां खानी पड़ीं

-8 तारीख की रात आठ बजे देश के लाखों लोग सुख चैन की नींद सो गए उसी रात देश के कई लोगोे को नींद की गोलियां खानी पड़ीं।

-मोदी ने कहा कि आपने ही मुझे कालेधन पर कमर कसने के लिए कहा था।

-पुत्र के लक्षण पालने में ही दिखने लगते हैं। मैंने पहले दिन ही कैबिनेट में अपनी स्‍ट्रेटजी जाहिर कर दी थी।

मैंने नहीं किया देश के साथ धोखा

-मैंने कभी देश को कभी धोखे में नहीं रखा, अंधेरे में नहीं रखा।

-दूसरा जरूरी काम था दुनिया के देशों के साथ पिछले 50-60 सालों से ऐसे एग्रीमेंट हुए थे जिनसे हम कोई जानकारी नहीं पा रहे थे।

-हमनेे कई देशों से नए एग्रीमेंट किए और कालेधन को रखने वालों के आकड़े लिए हैंं।

-कालेधन के खिलाफ अमेरिका समेत दुनिया के कई देशों का समर्थन मिला है।

आगे की स्‍लाइड में पढ़ें पीएम मोदी का क्‍या है अगला कदम…

बेनामी सम्‍पत्ति पर अगला कदम

-बेनामी सम्‍पत्ति पर जल्‍द सरकार हमला बोलने वाली है।

-मोदी ने कहा कि यह देश की सम्‍पत्ति है।

-बहुत लोगों ने अपने पैसों से दूसरों के नाम पर सम्‍पत्ति खरीदी है।

कई सांसदों ने मुझे लिखी चिट्ठी

-कई सांसदों ने मुझे 2 लाख से ज्‍यादा सोने की खरीद पर पैन नंबर के नियम लागू करने के फैसले के खिलाफ चिट्ठी लिखी थी।

-जिस दिन मैंने उसे सार्वजनिक कर दिया तो पता नहीं वो अपने क्षेत्रों में जा पाएंगे या नहीं।

-मोदी ने कहा कि कुछ लोगों ने मुझे चिट्ठी लिखी थी कि ढाई लाख से ज्‍यादा वाला नियम मत लगाव।

-ज्‍वेलरी पर जब एक्‍साइज ड्यूटी लगाई तो मुझपर बहुत दबाव था।

-70 साल की बीमारी 17 महीने में मिटानी है।

भाषण के दौरान भावुक हुए मोदी

-मैंने घर परिवार सबकुछ देश के लिए छोड़ा हुआ है।

-मैं कुर्सी के लिए पैदा नहीं हुआ हूं।

आगे की स्‍लाइड में पढ़ें आजादी के बाद पहली बार 67 हजार करोड़ रुपए जुर्माना जमा हुआ...

67 हजार करोड़ रुपए जुर्माना जमा हुआ

-आजादी के बाद पहली बार 67 हजार करोड़ रुपए जुर्माना जमा हुआ ।

-हमने प्रधानमंत्री जनधन योजना के तहत गरीब से गरीब लोगों के एकाउंट खोले।

-देश की आर्थिक तबियत सुधारने के लिए दवाईयां दे रहा था।

-मैंने कहा था जीरो पैसे से एकाउंट खोल सकते हैं लेकिन लोगों ने जनधन खाते में 45 हजार करोड़ रुपए जमा करवाए।

-मैंने 8 तारीख की रात कहा था तकलीफ होगी लेकिन आगे सुविधा होगी।

देश की जनता ने नोटबंदी के फैसले का किया स्‍वागत

-लोग थिएटर के बाहर सिनेमा देखने के लिए टिकट काउंटर पर लाइन लगाते हैं। वहां झगड़े होते हैं।

– लेकिन आज लोग पैसा निकालते समय यही कह रहे हैं कि तकलीफ है लेकिन यह जरूरी था।

-देश में मतदाता सूची सभी पोलिटिकल पार्टी बनाने में काम करती हैं टीचर करते हैं लेकिन जिस दिन वोटिंग होती है उस दिन लोगों को शिकायत होती है।

-इसमें लोग 90 दिन तक मेहनत करते हैं तब जाकर देश का चुनाव सम्‍मपन्‍न हो पाता है।

आगे की स्‍लाइड में पढ़ें मोदी ने देश से मांगा 50 दिन का समय…

देश मुझे 50 दिन दे सब ठीक हो जाएगा

– मैंने देश से 50 दिन मांगे हैं अगर 30 दिसंबर तक समय दे दीजिए अगर इसके बाद कोई गलती निकल जाए तो देश जो सजा देगा मैं भुगतने के लिए तैयार हूं।

-मोदी ने कहा कि प्रिय देशवासियों दुनिया आगे बढ़ रही है। कालेधन की बीमारी हमे निगल रही है।

-जिन्‍हें राजनीति करनी है करें लेकिन आप साथ दे सिर्फ 30 दिसंबर तक मैं सब ठीक कर दूंगा।

देशवासियों को तकलीफ होती है तो मुझे भी कष्‍ट होता है

-मोदी ने कहा कि किसी को तकलीफ होती हैै तो मुझे भी कष्‍ट होता है।

-मैं देशवासियों की तकलीफ समझता हूं लेकिन 50 दिन का समय दें तब तक सब सफाई हो जाएगी।

-मैंने ये लड़ाई ईमानदार लोगों के भरोसे शुरू की है उनकी ताकत पर मुझे भरोसा है।

लाइन में लगे हैं 2जी 3जी स्‍कैम वाले

– कल जो चवन्‍नी नहीं डालते थे वो आज मां गंगा में नोटेे डाल रहे हैं।

-2जी 3जी स्‍कैम वाले लोग भी आज 4000 के लिए लाइन में लगे हैं।

कालाधन रखने वालों का खोलेंगे चिट्ठा

-कुछ लोग चाहते हैं पाक से वार हो जाए मैं उनसे कहता हूं कि इसके बाद तकलीफ होगी, वार करना आसान है।

-मोदी ने कहा कि 500 और 1000 का नोट भी आज भिखारी मना कर देता है।

-देश की आजादी के बाद जिनके पास कालाधन है मैं उनका चिट्ठा खोल दूंगा।

-जो लोग सोचते हैं आगे देखा जाएगा वो जान लें मोदी पीएम हैं।

-देश आजाद हुआ है तब से लेकर अब तक का मैं काला चिट्ठा खोल दूंगा।

-मोदी ने कहा कि चाहे एक लाख नए कर्मचारी लगवाने पढ़ें मैं लगाकर नोटोंं को साफ कर दूंगा।

-मैं जानता हूं मैंने कैसी कैसी ताकतों के खिलाफ लड़ाई मोल ली है

-शायद वो मुझे जिंदा नहीं छोड़ेंगे। पर आप मुझे सिर्फ 50 दिन का समय दें।

आगे की स्‍लाइड में पढ़ें मोदी ने कहा गोवा ने मुझे दिया बड़ा मुझे रत्‍न …

मोदी ने की पर्रिकर की तारीफ

मोदी ने कहा कि मैं भाग्‍यशाली हूं मेरे पास बहुत रत्‍न हैं और उसमें एक चमकता हुआ रत्‍न गोवा ने दिया है वो है मनोहर पर्रिकर। अगर मनोहर पर्रिकर का इतना पुरुषार्थ न रहा होता तो 40 साल से अटका वन रैंक वन पेंशन आज जवानों को नहीं मिलता। वह मेरी सरकार मे रक्षामंत्री हैं, ढाई साल में रक्षा मंत्रालय पर कहीं से किसी ने उंगली नहीं उठाई है।

बमबोलिम गांव में स्थित डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी स्टेडियम में यह कार्यक्रम हुआ। भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने इस साल 20 अगस्त को पार्टी का चुनावी अभियान इसी स्थल से शुरू किया था। प्रधानमंत्री दोपहर में राज्य से रवाना होंगे और पुणे में एक अन्य कार्यक्रम को संबोधित कर रहे हैं।

हर किसी की जुबान पर गोवा गोवा और गोवा

-कई वर्षों के बाद एक बहुत बड़ा अंतर्राष्‍ट्रीय इवेंट गोवा में आयोजन हुआ है।

-आज विश्‍व में जितने बड़े नेता हैं उनकी जुबान पर गोवा गोवा और गोवा ही आता है।

-इसके लिए मैं गोवा सरकार की और यहां के लोगों का अभिनंदन करता हूं।

-गोवा में राजनीतिक अस्थिरता की बीमारी ने गोवा को बर्बाद किया।

-इस राजनीतिक अस्थिरता ने गोवा का जो सामर्थ्‍य है उसको फलने फूलने का अवसर नहीं दिया।

मीडिया के एक सर्वेंं ने गोवा को नंबर वन बताया

-2012 से 2017 की सरकार का लाभ गोवा को प्राप्‍त हुआ है।

-लक्ष्‍मीकांत जी सीएम हैं मैं उन्‍हें भी इसके लिए धन्‍यवाद देना चाहूंगा।

-एक सप्‍ताह पहले एक बहुत बढ़े मीडिया हाउस ने भारत के छोटे राज्‍यों का जायजा लिया।

-अलग अलग पैरामीटर्स का सर्वेंं किया। देश के सभी छोटे राज्‍यों में तेज गति से गोवा आगे है।

ऐसे राज्‍य में पीएम को सर झुकाने में गर्व होता है

-गोवा में ट्यूम इलेक्‍ट्रानिक सिटी की सौगात।

-मोदी ने कहा कि मैं एक रात से ज्‍यादा रुका तो गोवा में।

-ऐसे गोवा में आकर जो देश के विकास को आगे बढ़ता है तो यहां आकर देश के पीएम को भी सर झुकाने में गर्व होता है।

टूरिज्‍म को बढ़ावा

-हिंदुस्‍तान के टूरिज्‍म को आगे करने में गोवा सबसे अच्‍छा स्‍थान है।

-50 सालों से गोवा वाले सुनते आ रहे थे कि यहां एक एयरपोर्ट बनेगा।

-गोवा में एयरपोर्ट बनने से यहां टूरिज्‍म को बढ़ावा मिलेगा और रोजगार मिलेगा।

गोवा की विकास दर सबसे ज्‍यादा

-छोटे राज्‍यों में गोवा की विकास दर सबसे ज्‍यादा।

-गोवा में सरकार की ओर से जारी योजनाओं का अंबार।

– गोवा में 18 साल तक की लड़कियों को एक लाख रुपए दिए।

– एयरपोर्ट बनने से टूरिज्‍म और रोजगार को बढ़ावा मिलेगा।

गोवा ने मुझे दिया चमकता रत्‍न

-मोदी ने कहा कि मैं भाग्‍यशाली हूं मेरे पास बहुत रत्‍न हैं और उसमें एक चमकता हुआ रत्‍न गोवा ने दिया है वो हैंं मनोहर पर्रिकर।

-अगर मनोहर पर्रिकर का इतना पुरुस्‍वार्थ न रहा होता तो 40 साल से अटका वन रैंक वन पेंशन दिया।

-ढाई साल में रक्षा मंत्रालय पर कहीं से किसी ने उंगली नहीं उठाई है।

आगे की स्‍लाइड में देखिए वीडियो…

Next Story