×

14th BRICS Summit: कोरोना से वैश्विक अर्थव्यवस्था पर पड़ा असर, ब्रिक्स समिट में बोले पीएम मोदी

14th BRICS Summit: प्रधानमंत्री ने कहा कि आज लगातार तीसरे साल में हम कोरोना महामारी की चुनौतियों के बीच वर्चुअल तरीके से मिल रहे हैं।

Krishna Chaudhary
Updated on: 23 Jun 2022 5:35 PM GMT
Corona affected the global economy in BRICS Summit, PM Modi said in BRICS summit
X

14वें ब्रिक्स समिट में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी: Photo - Social Media

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

New Delhi: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) गुरूवार को दो दिवसीय 14वें ब्रिक्स समिट (14th BRICS Summit) में शामिल हुए। बैठक का आज पहला दिन था। वर्चुअल तरीके से बुलाई गई इस बैठक में पीएम मोदी के अलावा चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग (Chinese President Xi Jinping), रूस के राष्ट्रपति ब्लादिमीर पुतिन (Russian President Vladimir Putin), ब्राजील के राष्ट्रपति जायर बोल्सोनारो और दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति सिरिल रामफोसा भी शामिल हुए। इस बार बैठक की मेजबानी चीन कर रहा है। पीएम मोदी ने अपने संबोधन में सबसे पहले ब्रिक्स देशों में अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर हुए शानदार आयोजनों के लिए अभिनंदन किया।

प्रधानमंत्री ने कहा कि आज लगातार तीसरे साल में हम कोरोना महामारी की चुनौतियों के बीच वर्चुअल तरीके से मिल रहे हैं। हालांकि, वैश्विक स्तर पर कोरोना का प्रकोप पहले की तुलना में कम हुआ है। मगर इसके अनके दुष्प्रभाव अभी भी वैश्विक अर्थव्यवस्था में दिखाई दे रहे हैं।

ब्रिक्स की प्रभावशीलता बढ़ी–पीएम मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि बीते कई सालों में हमने ब्रिक्स देशों की राजनीति में कई संस्थागत सुधार किए हैं, जिनसे इस संगठन की प्रभावशीलता बढ़ी है। यह खुशी की बात है कि हमारे न्यू डेवलपमेंट बैंक की सदस्यता में भारी वृद्धि हुई है। ऐसे कई क्षेत्र हैं, जहां हमारे आपसी सहयोग से नागरिकों के जीवन को सीधा लाभ मिल रहा है।

आर्थिक वृद्धि दर को लेकर बोले पीएम मोदी

पीएम मोदी (PM Modi) ने इस दौरान भारतीय अर्थव्यवस्था (Indian Economy) का जिक्र करते हुए कहा कि 2025 तक भारतीय डिजिटल अर्थव्यवस्था (Indian Digital Economy) का मूल्य 1 लाख करोड़ अमेरिकी डॉलर तक पहुंच जाएगा। हमारी राष्ट्रीय अवसंरचना के मुताबिक, भारत में 1.5 लाख करोड़ डॉलर का निवेश करने का अवसर है। हम इस साल भारतीय अर्थव्यवस्था में 7.5 प्रतिशत की आर्थिक वृद्धि दर की उम्मीद कर रहे हैं।

बता दें कि इससे पहले रूस के राष्ट्रपति ब्लादिमीर पुतिन ने ब्रिक्स सम्मेलन को संबोधित करते हुए भारत के साथ व्यापारिक रिश्तों को लेकर बड़ा बयान दिया था। उनका कहना था कि रूस में बहुत जल्द भारतीय स्टोर्स खुलेंगे, इसको लेकर बातचीत जारी है।

Shashi kant gautam

Shashi kant gautam

Next Story