‘पायलट प्रोजेक्ट’ पूरा हो गया, पहले तो प्रैक्टिस थी, अब रियल करना है: PM मोदी

– आज भारत दुनिया की सबसे तेज गति से आगे बढ़ने वाली अर्थव्यवस्था बन चुका है । लोकतंत्र, आबादी और मांग की ताकत भी है। युवाओं का इसमें खासा योगदान है।

नई दिल्ली: यहां के शांति स्वरूप भटनागर पुरस्कार समारोह में पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि विज्ञान से जुडे़ हमारे संस्थानों को भविष्य की आवश्यकताओं के अनुरूप अपने आपको गढ़ना होगा। आगे उन्होंने क्या कहा, नीचे दिया गया है-

पीएम मोदी ने कही ये बड़ी बातें

-अभी-अभी एक ‘पायलट प्रोजेक्ट’ पूरा हो गया। अभी रियल करना है, पहले तो प्रैक्टिस थी।

-आज भारत दुनिया की सबसे तेज गति से आगे बढ़ने वाली अर्थव्यवस्था बन चुका है और भारतीय वैज्ञानिकों ने हमेशा मानवता की भलाई के लिए अपना योगदान दिया है।

-विज्ञान से जुड़े हमारे संस्थानों को भविष्य की आवश्यकताओं के अनुरूप अपने आपको गढ़ना होगा। हमें अपनी मौलिक शक्ति को बनाए रखते हुए भविष्य के समाज और इकॉनमी के हिसाब से ढालना होगा।

-जब इच्छाशक्ति हो तो सीमित संसाधनों में भी कैसे अद्भुत परिणाम दिए जा सकते हैं, इसका उदाहरण हमारा अंतरिक्ष कार्यक्रम है।

-बायो फ्यूल के मामले में भी सीएसआईआर बड़ी भूमिका निभा रहा है। सीएसआईआर ने जो एविएशन बायो फ्यूल बनाया है, उसका ट्रायल भी 27 अगस्त 2018 को, इससे संचालित होने वाले हवाई जहाज को देहरादून से दिल्ली तक उड़ाकर किया जा चुका है।

-अब हमारे फार्मा सेक्टर और बायोटेक सेक्टर को अधिक गति देने का समय आ गया है।

– आज भारत दुनिया की सबसे तेज गति से आगे बढ़ने वाली अर्थव्यवस्था बन चुका है । लोकतंत्र, आबादी और मांग की ताकत भी है। युवाओं का इसमें खासा योगदान है।