जी 20 शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेने के लिए PM मोदी पहुंचे जापान

PM नरेंद्र मोदी आज यानि गुरुवार को जी-20 शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेने जापान पहुंचे। वे यहां महत्वपूर्ण बहुपक्षीय बैठकों में भाग लेंगे। इस दौरान अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प सहित दुनिया के कई शीर्ष नेताओं के साथ बैठक करेंगे।

Published by Roshni Khan Published: June 27, 2019 | 9:16 am
Modified: June 27, 2019 | 11:03 am

नई दिल्ली: PM नरेंद्र मोदी आज यानी गुरुवार को जी-20 शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेने जापान पहुंचे। वे यहां महत्वपूर्ण बहुपक्षीय बैठकों में भाग लेंगे। इस दौरान अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प सहित दुनिया के कई शीर्ष नेताओं के साथ बैठक करेंगे।

प्रधानमंत्री मोदी छठी बार जी-20 शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेंगे। इस बार समिट 28-29 जून को ओसाका में हो रहा है।

ये भी देंखे:अमेरिकी विदेश मंत्री पॉम्पियो ने आजतक से कहा, पाक प्रायोजित आतंकवाद बर्दाश्त नहीं

प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) ने ट्वीट किया, ‘‘सुबह-सुबह ओसाका पहुंचा। आने वाले दो दिनों में शीर्ष नेताओं के साथ द्विपक्षीय और बहुपक्षीय बैठक होगी। इस दौरान उनसे वैश्विक महत्व के कई मुद्दों पर चर्चा होगी। नेताओं के सामने वैश्विक समस्याओं पर भारत का दृष्टिकोण रखा जाएगा।’’

मोदी भारत के 5 साल के विकास को साझा करेंगे

जापान रवाना होने से पहले मोदी ने कहा कि महिला सशक्तीकरण, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, आतंकवाद, जलवायु परिवर्तन जैसी वैश्विक समस्याओं का समाधान इस बैठक का मुख्य मुद्दा होगा। उन्होंने कहा कि बैठक में पिछले 5 सालों में भारत में हुए विकास के अनुभव को भी साझा करेंगे। भारत के लोगों ने शानदार जनादेश दिया है।

भारत 2022 में जी-20 शिखर सम्मेलन की मेजबानी करेगा। ऐसे में ओसाका शिखर सम्मेलन हमारे लिए महत्वपूर्ण कदम होगा। 2022 में हम अपनी आजादी की 75वीं वर्षगांठ भी मनाएंगे।

शीर्ष नेताओं से मिलेंगे मोदी

ये भी देंखे:अमरनाथ यात्रा पर अमित शाह का निर्देश, सीनियर अधिकारी खुद करें इंतजामों की निगरानी

समिट से इतर मोदी अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प, चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग और रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन समेत कई शीर्ष नेताओं से मिलेंगे।

मोदी जी-20 समिट के दौरान रूस, भारत और चीन (आरआईसी) के नेताओं के साथ बैठक करेंगे। इसके साथ ही ब्रिक्स (ब्राजील, रूस, भारत, चीन और दक्षिण अफ्रीका) और जापान, अमेरिका के साथ भी वार्ता करेंगे।