PM मोदी ने झारखंड को दी हजारों करोड़ की सौगात, बोले- जेल में हैं देश को लूटने वाले

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गुरुवार को रांची के प्रभात तारा मैदान से देश और झारखंड को सात सौगात देंगे। झारखंड के लिए नया विधानसभा भवन और साहिबगंज मल्टी मॉडल टर्मिनल का उद्घाटन के साथ नए सचिवालय की बुनियाद रखेंगे।

रांची: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने झारखंड में विधानसभा भवन का उद्धाटन किया। पीएम मोदी जगन्नाथ मैदान में रैली को संबोधित करेंगे। प्रधानमंत्री मोदी ने यहां किसान मानधन योजना सहित कई विकास योजनाओं की शुरुआत की। पीएम मोदी अब से कुछ देर में झारखंड के रांची में चुनावी बिगुल फूंकने जा रहे हैं। रांची में पीएम मोदी किसान मानधन योजना सहित कई विकास योजनाओं का आगाज करेंगे।

प्रधानमंत्री के संबोधन से पहले राज्य के मुख्यमंत्री रघुवर दास ने अपने संबोधन में आर्टिकल 370, तीन तलाक बिल जैसे फैसलों के लिए पीएम मोदी का शुक्रिया अदा किया और उन्हें बधाई दी।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कार्यक्रम में पहुंच गए हैं, उनके साथ राज्य के मुख्यमंत्री रघुवर दास भी मौजूद हैं। बता दें कि महाराष्ट्र और हरियाणा के साथ-साथ इस साल झारखंड में भी विधानसभा के चुनाव होने हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को झारखंड के रांची में चुनावी बिगुल फूंका। रांची में पीएम मोदी ने किसान मानधन योजना सहित कई विकास योजनाओं की शुरुआत की। योजना की शुरुआत करने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कुछ किसानों को पेंशन का कार्ड भी सौंपा, इनमें देश के कई राज्यों के किसान शामिल रहे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रांची में अपने भाषण की शुरुआत स्थानीय भाषा में की। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कार्यक्रम में कहा कि झारखंड गरीबों से जुड़ी बड़ी योजनाओं के लिए लॉन्चिंग पैड है। हमने यहां से आयुष्मान भारत, किसानों से जुड़ी बड़ी योजनाओं की शुरुआत की। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को झारखंड के रांची में चुनावी बिगुल फूंका।

रांची में पीएम मोदी ने किसान मानधन योजना सहित कई विकास योजनाओं की शुरुआत की। योजना की शुरुआत करने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कुछ किसानों को पेंशन का कार्ड भी सौंपा, इनमें देश के कई राज्यों के किसान शामिल रहे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रांची में अपने भाषण की शुरुआत स्थानीय भाषा में की। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कार्यक्रम में कहा कि झारखंड गरीबों से जुड़ी बड़ी योजनाओं के लिए लॉन्चिंग पैड है। हमने यहां से आयुष्मान भारत, किसानों से जुड़ी बड़ी योजनाओं की शुरुआत की।

यही प्रभात तारा मैदान था, सुबह का समय और हम सभी योग कर रहे थे और बारिश भी हमें आशीर्वाद दे रही थी। यही वो मैदान है जिससे आयुष्मान भारत योजना शुरु हुई थी। यही प्रभात तारा मैदान था, सुबह का समय और हम सभी योग कर रहे थे और बारिश भी हमें आशीर्वाद दे रही थी। यही वो मैदान है जिससे आयुष्मान भारत योजना शुरु हुई थी।

इसके साथ ही उन्होंने कहा कि नई सरकार बनने के बाद जिन कुछ राज्यों में मुझे सबसे पहले जाने का अवसर मिला, उनमें से झारखंड भी है। आज झारखंड की पहचान में एक और बात जोड़ने का मुझे सौभाग्य मिला है। आपके झारखंड की एक नई पहचान बनने जा रही है कि ये वो राज्य है जो गरीबों और आदिवासियों के हितों की बड़ी योजनाओं का लॉन्चिंग पैड है।

पीएम ने कहा कि देश के करोड़ों व्यापारियों और स्व-रोजगारियों के लिए राष्ट्रीय पेंशन योजना की शुरुआत भी यहीं से हो रही है।
आज पूरे देश के करोड़ों किसानों के लिए पेंशन सुनिश्चित करने वाली ‘प्रधानमंत्री किसान मानधन योजना’ की शुरुआत भी भगवान बिरसा मुंडा की इस महान धरती से हो रही है।

आज पूरे देश के करोड़ों किसानों के लिए पेंशन सुनिश्चित करने वाली ‘प्रधानमंत्री किसान मानधन योजना’ की शुरुआत भी भगवान बिरसा मुंडा की इस महान धरती से हो रही है।

ये सिर्फ एक प्रोजेक्ट नहीं है, बल्कि इस पूरे क्षेत्र को परिवहन का नया विकल्प दे रहा है। आज मुझे साहिबगंज मल्टी-मॉडल टर्मिनल का उद्घाटन करने का भी अवसर मिला है। इस टर्मिनल से यहां के आदिवासी भाई-बहनों को, किसानों को अपने उत्पाद अब पूरे देश के बाज़ारों में और आसानी से पहुँच पाएंगे।

ये जल मार्ग झारखण्ड को पूरे देश से ही नहीं, बल्कि विदेश से भी जोड़ेगा। चुनाव के समय मैंने आपसे कामदार और दमदार सरकार देने का वादा किया था। एक ऐसी सरकार जो पहले से भी ज्यादा तेज गति से काम करेगी, एक ऐसी सरकार जो आपकी आकांक्षाओं को पूरा करने के लिए पूरी ताकत लगा देगी।

बीते 100 दिन में देश ने इसका ट्रेलर देख लिया है, अभी फिल्म बाकी है: पीएम आज देश के लगभग 6.50 करोड़ किसान परिवारों के खाते में पीएम किसान सम्मान निधि के अंतर्गत 21 हज़ार करोड़ रुपए से अधिक की धनराशि पहुंच चुकी है। इसमें 8 लाख किसान परिवार झारखंड के भी हैं, जिनके खाते में करीब 250 करोड़ रुपये जमा हो चुके हैं।

हमारा संकल्प है, आतंकवाद के खिलाफ निर्णायक लड़ाई का। पहले 100 दिन में ही आतंक रोधी कानून को और मजबूत किया गया है।
पीएम नरेन्द्र मोदी ने कहा कि हमारा संकल्प है, जम्मू कश्मीर और लद्दाख को विकास की नई ऊँचाई पर पहुंचाने का। हमने 100 दिन के भीतर ही इसकी शुरुआत भी कर दी है।

हमारा संकल्प है, जनता को लूटने वालों को उनकी सही जगह पहुंचाने का। इस पर भी बहुत तेजी से काम हो रहा है, कुछ लोग तो अंदर चले भी गए हैं: पीएम श्री नरेन्द्र मोदी आज का दिन झारखंड के लिए ऐतिहासिक है।

इसके साथ ही उन्होंने कहा कि आज यहां विधानसभा के नए भवन का लोकार्पण किया गया है। राज्य बनने के लगभग 2 दशक बाद आज झारखंड में लोकतंत्र के मंदिर का लोकार्पण हो रहा है।

आपने इस बार संसद के सत्र को लेकर भी काफी कुछ सुना और देखा होगा। इस बार जिस तरह संसद चली, उसे देखकर आपको अच्छा लगा होगा।

वो इसलिए क्योंकि इस बार संसद का मानसून सत्र, देश के इतिहास में सबसे ज्यादा उत्पादक सत्रों में से एक रहा है। विकास हमारी प्राथमिकता भी है और हमारी प्रतिबद्धता भी है। विकास का हमारा वादा भी अटल इरादा है। आज जितनी तेजी से देश चल रहा है उतनी तेजी से पहले कभी नहीं चला।

विकास हमारी प्राथमिकता भी है और हमारी प्रतिबद्धता भी है। विकास का हमारा वादा भी अटल इरादा है। आज जितनी तेजी से देश चल रहा है उतनी तेजी से पहले कभी नहीं चला।

हमारी सरकार हर भारतवासी को सामाजिक सुरक्षा का कवच देने का प्रयास कर रही है। इस वर्ष मार्च से ऐसी ही पेंशन योजना देश के करोड़ों असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों के लिए चल रही है।

अब तक इस श्रमयोगी मानधन योजना से 32 लाख से ज्यादा श्रमिक साथी जुड़ चुके हैं। आप तेज रफ्तार से काम करने वाली सरकार देखना चाहते थे न? हमारे 100 दिन के काम से आप खुश हैं न?

तो ये सिर्फ शुरुआत है, अभी 5 साल बाकी हैं, बहुत से संकल्प बाकी हैं, बहुत से प्रयास बाकी हैं। प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना और प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना से 22 करोड़ से अधिक देशवासी जुड़ चुके हैं।

इन दोनों योजनाओं के माध्यम से साढ़े 3,000 करोड़ रुपए से अधिक का क्लेम लोगों को दिए जा चुके हैं। सामाजिक सुरक्षा के लिए प्रधानमंत्री जीवन ज्योति योजना और प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना देश के सामान्य मानवी के लिए शुरु की गई। सिर्फ 90 पैसे प्रतिदिन और 1 रुपये प्रतिमाह की दर पर दोनों योजनाओं से 2-2 लाख रुपये का बीमा सुनिश्चित कराया है।

इन दोनों योजनाओं से 22 करोड़ से ज्यादा देशवासी जुड़ चुके हैं, जिसमें से 30 लाख से अधिक झारखंड के लोग हैं।

आज यहां आदिवासी बच्चों की शिक्षा और उनके कौशल को निखारने के लिए देशभर में 462 एकलव्य मॉडल आवासीय स्कूल बनाने के अभियान का शुभारंभ हुआ है। इन स्कूलों में आदिवासी बच्चों की पढ़ाई-लिखाई के साथ-साथ Sports और Skill Development के लिए भी सुविधाएं होंगी।

हमारी सरकार चाहे केंद्र में रही हो या राज्यों में, हमने गरीब के जीवन को आसान बनाने, आदिवासी के जीवन को आसान बनाने और उसकी चिंताएं कम करने का पूरी ईमानदारी से प्रयास किया है। कल से ही देश में स्वच्छता ही सेवा अभियान की शुरुआत हुई है।

इस अभियान के अंतर्गत हमें अपने घरों, स्कूलों और दफ्तरों में Single Use प्लास्टिक को जमा करना है और 2 अक्बटूर को गांधी जी की 150वीं जयंती के दिन हमें उस प्लास्टिक के ढेर को हटा देना है।

गरीब की गरीमा, मर्यादा, सेहत, इलाज, दवाई, बीमा सुरक्षा, पेंशन, बच्चों की पढ़ाई, उसकी कमाई, ऐसा कोई क्षेत्र नहीं है जिसको ध्यान में रखकर हमने काम न किया हो। इस प्रकार की योजनाएं गरीबों को सशक्त तो करती ही हैं, जीवन में नया आत्मविश्वास भी लाती हैं।
आज यहां आदिवासी बच्चों की शिक्षा और उनके कौशल को निखारने के लिए देशभर में 462 एकलव्य मॉडल आवासीय स्कूल बनाने के अभियान का शुभारंभ हुआ है। इन स्कूलों में आदिवासी बच्चों की पढ़ाई-लिखाई के साथ-साथ Sports और Skill Development के लिए भी सुविधाएं होंगी।

हमारी सरकार चाहे केंद्र में रही हो या राज्यों में, हमने गरीब के जीवन को आसान बनाने, आदिवासी के जीवन को आसान बनाने और उसकी चिंताएं कम करने का पूरी ईमानदारी से प्रयास किया है। इन दोनों योजनाओं से 22 करोड़ से ज्यादा देशवासी जुड़ चुके हैं, जिसमें से 30 लाख से अधिक झारखंड के लोग हैं।

LIVE: PM MODI

 

 

ये भी पढ़ें…कैसा होगा नया जम्मू-कश्मीर, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने खींचा खाका

1. पेपरलेस होगी विधानसभा की नई बिल्डिंग

यहां बता दे कि झारखंड विधानसभा की नई बिल्डिंग एक तरफ जहां झारखंड की संस्कृलति की सतरंगी झलक को संजोए हुए है वहीं दूसरी ओर ये बिल्डिंग बेहद हाईटेक और तमाम अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस है। ये देश की पहली ऐसी विधानसभा है जो पूरी तरह से पेपरलेस है।

तमाम कार्यवाही के लिए यहां कंप्यूटर और टैब का इस्तेमाल किया जाएगा। इसके लिए हरेक विधायक की सीट पर टैब लगाया गया है और किसी भी विधायक को अपनी बात कहने और वोटिंग के लिए पेपर की जरूरत नहीं पड़ेगी।

झारखंड विधानसभा में फिलहाल 81 सदस्य हैं लेकिन भविष्य को ध्यान में रखते हुए यहां एक सौ बाइस सदस्यों के बैठने की व्यवस्था की गई है। झारखंड विधानसभा की नई इमारत में जल संचयन और ऊर्जा संरक्षण की मुकम्मभल व्यतवस्थाय की गई है।

इस इमारत में सौर ऊर्जा से बिजली की आपूर्ति की जाएगी। यहां विधानसभा की कार्यवाही को सुचारू रूप से चलाने के लिए छोटी से छोटी बातों का ध्यान रखा गया है। खास बात ये है कि इमारत की डिजायन में झारंखड की आत्मा जल-जंगल और जमीन का भी पूरा ध्यान रखा गया है।

आज सुबह 10 बजे के बाद प्रधानमंत्री मोदी रांची पहुंचेंगे और सबसे पहले झारखंड के लोगों को अपनी नई विधानसभा का गिफ्ट देंगे।

झारखंड विधानसभा की ये हाइटेक इमारत कई और मायनों में खास है। यह विधानसभा भवन रांची के धुर्वा में 39 एकड़ में बना है। 3 मंजिला भवन 465 करोड़ की लागत से बनी है जो 57,220 वर्ग मीटर में बना है। देश का ये सबसे ऊंचा गुंबद वाला विधानसभा भवन है। इसकी गुंबद की ऊंचाई करीब 39.5 मीटर है।

12 जून 2015 को इस इमारत का शिलान्यास किया गया था जिसके बाद रिकॉर्ड टाइम में विधानसभा भवन की नई इमारत को तैयार कर लिया गया।

इसके अलावा पीएम मोदी रांची के प्रभात तारा मैदान में आयोजित समारोह में किसान मानधन योजना, खुदरा व्यापारिक एवं स्वरोजगार पेंशन योजना एवं एकलव्य मॉडल विद्यालय का शुभारंभ करेंगे।

2. साहिबगंज मल्टी मॉडल बंदरगाह

समदा में विश्व बैंक की मदद से 5369 करोड़ की लागत से साहिबगंज मल्टी मॉडल बंदरगाह का पहला फेज तैयार है। पीएम मोदी ने ही अप्रैल 2017 में शिलान्यास किया था।

अब उन्हीं के हाथों ऑनलाइन उद्घाटन के साथ झारखंड से देश और विदेश में व्यापार के द्वार खुलेंगे और रोजगार के नए अवसर पैदा होंगे। इस बंदरगाह से 2.24 मिलियन टन कार्गो का सालाना कारोबार होगा। पास में ही लॉजिस्टिक हब बनेगा।

3. सचिवालय

नए विधानसभा भवन के समाने के पूर्वी और पश्चिमी ब्लॉक में नया सचिवालय बनेगा। इसमें मुख्यमंत्री, मुख्य सचिव, विभागों से जुड़े मंत्री, सचिव और पदाधिकारी-कर्मचारी बैठेंगे। सरकार का कामकाज यहीं से संचालित होगा। 23.60 लाख वर्ग फीट में बनने वाले पूर्वी और पश्चिमी ब्लॉक में आने-जाने के लिए अंडर पास होगा।

ये भी पढ़ें…फिर होगा बवाल! क्योंकि आमिर की इस फिल्म में है बाबरी मस्जिद और नरेंद्र मोदी का ज़िक्र

4.एकलव्य आदर्श आवासीय विद्यालय

पीएम 462 एकलव्य आदर्श आवासीय विद्यालयों देश के नाम करेंगे। झारखंड में 69 एकलव्य स्कूल बनेंगे। केंद्र सरकार ने 23 स्कूलों के लिए 524 करोड़ रुपये की स्वीकृति दे दी है। राज्य में कक्षा छह से 12वीं वाले सात एकलव्य स्कूलों का संचालन हो रहा है। केंद्र सरकार हर छात्र के लिए सालाना 1.09 लाख रुपये अनुदान भी देगी। भवन की लागत भी केंद्र पोषित है।

5. खुदरा व्यापारिक दुकानदार व स्वरोजगार पेंशन योजना

इसमें 18 से 40 साल के व्यापारी व दुकानदारों का पंजीकरण रजिस्ट्रेशन किया जायेगा और 60 साल की उम्र होने पर हर महीने से तीन हजार रुपये का पेंशन दिया जाएगा।

6. पीएम वन धन योजना

योजना गांव के उत्पादों को अंतर्राष्ट्रीय बाजार देने के लिए लांच होगी। झारखंड के वनोत्पाद को 190 देशों में ऑनलाइन बेचा जाएगा। योजना के तहत 27 राज्यों के 307 जनजातीय जिलों में बसे 5.5 करोड़ जनजाति लोगों के सशक्तिकरण की शुरुआत होगी।

 

हर साल 30 हजार सेल्फ हेल्प ग्रुप बनाए जाएंगे। सरकार हर वन धन विकास केंद्र को 15 लाख की वित्तीय सहायता देगी। पैकेजिंग और मार्केटिंग रिटेल नेटवर्क के जरिये होगी। निजी क्षेत्र की भागीदारी भी होगी।

7. किसान मानधन योजना

18 से 40 वर्ष के उम्र के किसानों को उम्र के आधार पर 55 से 200 रुपये प्रति माह पेंशन निधि में अंशदान जमा करना होगा। किसानों को 60 साल की उम्र पूरी होने के बाद 3000 रुपये हर महीने पेंशन मिलेगी।

मृत्यु होने पर आश्रित पति या पत्नी को पारिवारिक पेंशन के तौर पर 50 फीसदी मासिक पेंशन मिलेगी। झारखंड में इस योजना के अंतर्गत 1.16 लाख किसानों का निबंध हो गया है। पहले चरण में एक लाख किसानों को लाभ देने का लक्ष्य है।

ये भी पढ़ें…प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की वाक कला की नैंसी पेलोसी ने की तारीफ