Top

बारिश में पॉलीथिन के नीचे रहती थी महिला, मौत के बाद जो हुआ वो रुला कर रख देगा

बिहार के जमुई से मानवता को शर्मशार कर देने वाली एक ऐसी खबर सामने आई है। जिसने पूरे सिस्टम पर सवालिया निशान खड़े कर दिए है। मामला बिहार में बारिश के कारण हुई एक महिला की मौत से जुड़ा है।

Aditya Mishra

Aditya MishraBy Aditya Mishra

Published on 30 Sep 2019 10:51 AM GMT

बारिश में पॉलीथिन के नीचे रहती थी महिला, मौत के बाद जो हुआ वो रुला कर रख देगा
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

पटना: बिहार के जमुई से मानवता को शर्मशार कर देने वाली एक ऐसी खबर सामने आई है। जिसने पूरे सिस्टम पर सवालिया निशान खड़े कर दिए है। मामला बिहार में बारिश के कारण हुई एक महिला की मौत से जुड़ा है।

खबर है कि पक्के घर के आभाव में एक महिला की मौत हो गई। वह अपने परिवार के साथ बारिश में पालीथीन से बनी झोपड़ी में रहती थी। बताया जा रहा है कि लगातार हो रही बारिश के कारण पानी टपकने और फिर लगातार भीगे रहने से उसकी मौत हो गई।

हैरानी की बात यह कि वह महिला ज़िंदा रहते खुद के पक्का मकान के लिए तरसती रह गई लेकिन उसे घर नसीब नहीं हुआ लेकिन जैसे ही उसकी मौत हुई और इस घटना की खबर अधिकारियों तक पहुंची वे मृतक के घर आवास योजना का लाभ देने के लिए खुद ही पहुंच गये।

उसके बाद ये खबर इलाके में आग की तरह फ़ैल गई और लोग अब सरकारी तंत्र पर सवाल उठा रहे है।

ये भी पढ़ें...बिहार: भारी बारिश के चलते पटना के सभी प्राइवेट और सरकारी स्कूल 1 अक्टूबर पर रहेंगे बंद

ये है पूरा मामला

मृतका का नाम पूजा देवी था। उसकी उम्र करीब 20 वर्ष थी। चार दिन पहले ही उसकी डिलीवरी हुई थी। उसके थोड़े देर बाद ही इसके

बच्चे की भी मौत हो गई थी।

प्रसव के बाद पूजा भी बीमार चल रही थी, लेकिन गरीबी के कारण वह पॉलीथिन और बांस की झोपड़ी में रहने को मजबूर थी। लगातार बारिश और भीगे रहने से उसकी तबीयत बीती रात बिगड़ गई और उसकी मौत हो गई।

ये भी पढ़ें...बारिश का खौफनाक मंजर! यूपी-बिहार में मचा कोहराम, 100 से ज्यादा ने गंवाई जान

तो शायद अज ज़िंदा होती पूजा

मौत के बाद जहां पूरा परिवार शोक में है, वहीं गांव वालों में आक्रोश था कि यदि उस परिवार को सरकारी आवास योजना का लाभ मिला होता तो उसकी मौत नहीं होती।

जानकारी के अनुसार, पिछले बारिश के दौरान उस परिवार का मिट्टी का बना घर ढह गया था। घटना जमुई जिले के बरहट प्रखंड के बिचला कटौना गांव की है।

घटना के बाद पहुंचे ये अफसर

पूजा की मौत के बाद डीएम धर्मेंद्र कुमार ने घटनास्थल पर बरहट प्रखंड विकास पदाधिकारी (बीडीओ) को भेजा और पीड़ित परिवार को सरकारी योजनाओं का सहायता दी गई। डीएम के मुतबिक की परिवार को आवास योजना का लाभ दिलाने के लिए सूची में उसका नाम शामिल किया जा रहा है।

ये भी पढ़ें...बिहार में बारिश-बाढ़: सीएम नीतीश बोले- सामुदायिक रसोई और पेयजल की व्यवस्था की जा रही

Aditya Mishra

Aditya Mishra

Next Story