Top

पंजाब में बिजली संकट: आंदोलन के कारण कोयले की कमी, छा सकता है अंधेरा

पंजाब बिजली बोर्ड की तरफ से कहा गया है कि अब वह कम-से-कम दो से तीन घंटे बिजली में कटौती करेगा। निजी क्षेत्र के तीन तापीय बिजलीघरों में ईंधन ना होने के कारण बिजली उत्पादन बंद हो गया है। इसके साथ दो अन्य विद्युत संयंत्रों में भी कोयला बहुत कम बचा है।

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 3 Nov 2020 5:42 PM GMT

पंजाब में बिजली संकट: आंदोलन के कारण कोयले की कमी, छा सकता है अंधेरा
X
निजी क्षेत्र के तीन तापीय बिजलीघरों में ईंधन ना होने के कारण बिजली उत्पादन बंद हो गया है। इसके साथ दो अन्य विद्युत संयंत्रों में भी कोयला बहुत कम बचा है।
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: पंजाब में कोयले की कमी हो गई जिसके बाद बिजली का संकट पैदा हो गया। किसानों के रेल-रोको आंदोलन की वजह से पंजाब में कोयले की कमी हो गई है। पंजाब के बिजली संयंत्रों में से बिजली की कमी बढ़कर 1000-1500 मे मेगावॉट हो गई है। इसलिए बिजली विभाग के पास कटौती करने के अलावा कोई विकल्प नहीं है।

पंजाब बिजली बोर्ड की तरफ से कहा गया है कि अब वह कम-से-कम दो से तीन घंटे बिजली में कटौती करेगा। निजी क्षेत्र के तीन तापीय बिजलीघरों में ईंधन ना होने के कारण बिजली उत्पादन बंद हो गया है। इसके साथ दो अन्य विद्युत संयंत्रों में भी कोयला बहुत कम बचा है।

किसानों ने रेल पटरियों को किया बाधित

केंद्र सरकार के कृषि कानून के खिलाफ किसान विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। उन्होंने कुछ रेल पटरियों को बाधित किया हुआ है। इसके कारण माल गाड़ियों को निलंबित कर दिया गया है। इसके कारण तापीय बिजलीघरों में कोयले की कमी हो गई है।

ये भी पढ़ें...मंत्री का बड़ा बयानः मंदिर में नमाज मुसलमानो ने नहीं बल्कि साजिशकर्ताओं ने पढ़ी

Power Cut in Punjab

पंजाब सरकार के प्रवक्ता के मुताबिक, इस समय राज्य में दिन की मांग करीब 5100-5200 मेगावॉट और रात की मांग करीब 3400 मेगावॉट है। उन्होंने कहा कि आपूर्ति पूरी तरह से अपर्याप्त है। गौरतलब है कि पंजाब के थर्मल प्लांटों को कोयले की सप्लाई दूसरे राज्यों से की जाती है, मालगाड़ियों से कोयला पहुंचता है। लेकिन किसानों के आंदोलन की वजह से कुछ दिनों से मालगाड़ियों की आवाजाही बिल्कुल बंद है।

ये भी पढ़ें...यहां व्यवस्था है मजबूतः कोरोना मरीजों के इंतजार में हैं आइसोलेशन बोगियां

दो-तीन घंटे की बिजली कटौती कर रहा पीएसपीसीएल

पंजाब में पीएसपीसीएल की तरफ से दो-तीन घंटे की बिजली कटौती की जा रही है। पीएसपीसीएल के चेयरमैन ए वेणु प्रसाद का कहना है कि बिजली की स्थिति गंभीर है। बिजली कटौती को बढ़ाकर चार से पांच घंटे किया जाएगा। उन्होंने बताया कि आज शाम से तीन घंटे की बिजली कटौती की जा रही है।

ये भी पढ़ें...झारखंड में शांतिपूर्ण मतदान संपन्न, प्रत्याशियों की किस्मत EVM में कैद

तो वहीं प्राइवेट कंपनी जीवीके पावर ने कहा कि वह मंगलवार को दापेहर तीन बजे से बिजली की सप्लाई बंद कर दी है, क्योंकि कोयला भंडार पूरी तरह से खत्म हो गया है। दो अन्य प्राइवेट बिजली संयंत्रों राजपुरा में नभा पावर और मनसा में तलवंडी साबो कोयले की कमी की वजह से पहले ही सप्लाई बंद कर चुके हैं।

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें

Newstrack

Newstrack

Next Story