सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर RSS प्रमुख ने दिया बड़ा बयान

अयोध्या पर सुप्रीम कोर्ट के ऐतिहासिक फैसले के बाद क्या संघ काशी और मथुरा में भी ऐसे ही आंदोलन करेगा, इस पर आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत ने कहा कि संघ आंदोलन करने वाला संगठन नहीं है। वह इंसान सृष्टि करने वाला संगठन है।

Published by Harsh Pandey Published: November 9, 2019 | 1:27 pm
Modified: November 9, 2019 | 1:29 pm

Mohan bhagwat

नई दिल्ली: अयोध्या राम मंदिर बाबरी मस्जिद विवाद मामले में सुप्रीम कोर्ट ने शनिवार को ऐतिहासिक फैसला दिया है।

कोर्ट ने विवादित भूमि का मालिकाना हक राम जन्मभूमि न्यास को दिया है, वहीं मुस्लिमों को मस्जिद बनाने के लिए अयोध्या में किसी और जगह 5 एकड़ वैकल्पिक जमीन दी जाएगी।

इसके साथ ही कोर्ट ने केंद्र सरकार को 3 महीने में ट्रस्ट बनाने को कहा है, कोर्ट ने निर्मोही अखाड़ा और वक्फ बोर्ड की याचिका खारिज कर दी है।

फैसले से बाद राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक मोहन भागवत दिल्ली में मीडिया से बातचीत किया ।

संघ आंदोलन करने वाला संगठन नहीं…

अयोध्या पर सुप्रीम कोर्ट के ऐतिहासिक फैसले के बाद क्या संघ काशी और मथुरा में भी ऐसे ही आंदोलन करेगा, इस पर आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत ने कहा कि संघ आंदोलन करने वाला संगठन नहीं है। वह इंसान सृष्टि करने वाला संगठन है।

मोहन भागवत ने कहा कि हम फैसले का स्वागत करते हैं, सुप्रीम कोर्ट की ओर से देश की जनभावना और आस्था को न्याय देने वाले फैसले का संघ स्वागत करता है।

साथ ही उन्होंने कहा कि इस लंबी प्रक्रिया में राम जन्मभूमि से संबंधित सभी पक्षों को धैर्य से सुना गया है, सभी पक्षों के वकीलों का हम अभिनंदन करते हैं और बलिदानियों को प्रति कृतज्ञता प्रकट करते हैं।

उन्होंने आगे कहा कि सरकार और आम लोगों की ओर से किए गए प्रयासों का अभिनंदन करते हैं, जय और पराजय की दृष्टि से इस फैसले को नहीं देखना चाहिए।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App