Top
TRENDING TAGS :Coronavirusvaccination

पहली बार ‘आमची मुंबई हैप्पीनेस कार्ड’ मुंबई में लॉन्च

शिक्षा में अगर खुशियों और हास्य का तड़का लगे तो बच्चों को पढ़ने-लिखने में किसी दिक्कत का सामना नहीं करना पड़ेगा। कुछ इसी तरह का प्रोग्राम अक्तूबर 7 (सोमवार) को सायन के षण्मुखानंद चंद्रसेकरेंद्र सरस्वती ऑडिटोरियम में छात्रों और अभिभावकों के समुदाय के लिए ऐलन एंटरप्रेन्योर्स द्वारा विभिन्न क्षेत्रों की 7 मशहूर हस्तियों के साथ अपनी तरह का पहला ‘हैप्पीनेस कार्ड’ लॉन्च किया गया।

SK Gautam

SK GautamBy SK Gautam

Published on 10 Oct 2019 7:28 AM GMT

पहली बार ‘आमची मुंबई हैप्पीनेस कार्ड’ मुंबई में लॉन्च
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

मुंबई: ऐलन एंटरप्रेन्योर्स, देश की प्रमुख ऐलन करियर इंस्टीट्यूट की सर्वोच्च संस्था द्वारा उनके छात्रों के लिए अपनी तरह का पहला ‘हैप्पीनेस कार्ड’ लॉन्च किया गया जिसका उद्देश्य छात्रों को कनेक्ट करने, सीखने और बढ़ने के लिए प्रोत्साहित करना है।

शिक्षा में अगर खुशियों और हास्य का तड़का लगे तो बच्चों को पढ़ने-लिखने में किसी दिक्कत का सामना नहीं करना पड़ेगा। कुछ इसी तरह का प्रोग्राम अक्तूबर 7 (सोमवार) को सायन के षण्मुखानंद चंद्रसेकरेंद्र सरस्वती ऑडिटोरियम में छात्रों और अभिभावकों के समुदाय के लिए ऐलन एंटरप्रेन्योर्स द्वारा विभिन्न क्षेत्रों की 7 मशहूर हस्तियों के साथ अपनी तरह का पहला ‘हैप्पीनेस कार्ड’ लॉन्च किया गया।

ये भी देखें : बड़ी हड़ताल: विलय के विरोध में राजस्व कर्मी, घिरेगी योगी सरकार

अभिनेता और स्टैंड-अप कॉमेडियन सुनिल ग्रोवर भी रहे शामिल

इन 7 मशहूर हस्तियों में शामिल थे लोकप्रिय अभिनेता और स्टैंड-अप कॉमेडियन सुनिल ग्रोवर, वरुण शर्मा, फिल्म फुकरे से प्रसिद्ध हुए अभिनेता और कॉमेडियन, अफरोज़ शाह यूएन चैंपियन्स ऑफ द अर्थ, कु. दीपा भूषण, डायरेक्टर – स्कूल्स, सी पी गोएनका ग्रुप ऑफ स्कूल्स, संदीप लोखंडे, टीवी होस्ट आरजे, मिमिक्री कलाकार, कार्तिकेय गुप्ता, जेईई (एडवांस्ड) टॉपर 2019 और ऐलन एंटरप्रेन्योर्स के निदेशक आराध्य माहेश्वरी। इनमें शामिल कलाकार लोगों को हंसाकर उनका मनोरंजन करते हैं और जानते हैं जीवन में खुशियों का महत्व।

हैप्पीनेस कार्ड धारकों को 1 लाख रुपए तक का व्यक्तिगत बीमा

हैप्पीनेस कार्ड एक अनोखी पहल होगी जिसमें छात्रों के लिए कई फायदे शामिल हैं जैसे-20000 रुपए तक की कैश–बैक योजना, स्थानीय स्टोर्स में 50% तक की छूट के साथ 100000 रुपए तक की कैश-बैक योजना, 1000000 रुपए तक के लोन का लाभ, 500000 रुपए तक के तुरंत स्टडी लोन और 100 + राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय ब्रांड्स पर आकर्षक योजना। हैप्पीनेस कार्ड धारकों को 1 लाख रुपए तक का व्यक्तिगत बीमा कवर और 25000 रुपए तक के स्वास्थ्य बीमा का लाभ मिलेगा।

ये भी देखें : करवा चौथ पर इस समय दिखेगा चांद, इस मुहूर्त में करें पूजा

ऐलन करियर इंस्टीट्यूट से जुड़े लाखों छात्रों और उनके पालकों के लिए ये कार्ड फायदेमंद होगा। ये “हैप्पीनेस एक्टिविटी” का एक हिस्सा है जिससे छात्रों को उनके साथियों से कनेक्ट करने, सीखने और बढ़ने में मदद मिलेगी और उनके फुरसत के समय को वे एंजॉय कर सकते हैं।

हैप्पीनेस इंडेक्स यानी खुशी सूचकांक में भारत 140 वें क्रमांक पर हैं। ऐलन करियर इंस्टीट्यूट के डायरेक्टर ब्रजेश माहेश्वरी ने हैप्पीनेस इंडेस्क में भारत की रैंकिंग में सुधार लाने के लिए एक मिशन की शुरुआत की है और इसके लिए उन्होंने ‘माय सिटी हैप्पीनेस सिटी’ नामक ऐलन एंटरप्रेन्योर्स के नए वर्टिकल की पहल की है।

इस कार्यक्रम के दौरान ऐलन द्वारा छात्रों के लिए हैप्पीनेस ऐप नामक अनोखे ऐप को लॉन्च किया गया जिसमें न केवल ताज़े कार्यक्रमों के अपडेट्स, योजनाएं, कैश-बैक शामिल हैं बल्कि पालकों के दिमाग से तनाव दूर करने का उपाय भी है क्योंकि इससे वो अपने बच्चों की लोकेशन ट्रैक कर सकेंगे यदि उन्हें यात्रा में कोई परेशानी हो रही हो, आईआईटी जेईई के लिए इच्छुक छात्र आगे की पढ़ाई के लिए दूसरे शहरों में जाते हैं।

अतिरिक्त फायदों के साथ हैप्पीनेस कार्ड की शुरुआत

इस लॉन्च के मौके पर ऐलन करियर इंस्टीट्यूट के डायरेक्टर ब्रजेश माहेश्वरी ने कहा, “खुशियों को बिखेरने के लिए भारत के भविष्य की देखभाल करनी होगी और योग्य तरीके की शिक्षा आत्मसात कर भविष्य को आकार दिया जा सकता है। पालकों का बोझ कम करने के लिए हमने कई अतिरिक्त फायदों के साथ हैप्पीनेस कार्ड की शुरुआत की है क्योंकि शिक्षा के साथ खुशी बेहद महत्वपूर्ण है। हमारा ये भरोसा है कि आधुनिक दौर की समस्याएं जैसे तनाव, भ्रष्टाचार और प्रदूषण को मानव केंद्रित शिक्षा के ज़रिए सुलझाया जा सकता है। अच्छे इंसान तैयार करने की दिशा में “हैप्पीनेस कार्ड” एक मजबूत कदम है।”

SK Gautam

SK Gautam

Next Story