×

शाहीन बाग का काला सच: बीजेपी ने किया JNU छात्र शरजील इमाम का पर्दाफाश

सरजील कथित रूप से यह कहता दिखाई दे रहा है कि हमारे पास पांच लाख लोग हों संगठित तो हम असम या नार्थ-ईस्ट से हिंदुस्तान को हमेशा के लिए अलग कर सकते हैं। स्थाई नहीं तो एक-दो महीने के लिए असम को हिंदुस्तान से कट कर ही सकते हैं।

SK Gautam

SK GautamBy SK Gautam

Published on 25 Jan 2020 12:30 PM GMT

शाहीन बाग का काला सच: बीजेपी ने किया JNU छात्र शरजील इमाम का पर्दाफाश
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

नई दिल्ली: शाहीन बाग़ में नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के विरोध में किये जा रहे प्रदर्शन के दौरान जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी (JNU) के छात्र शरजील इमाम के 'असम को भारत से अलग करने' वाले बयान पर विवाद बढ़ता दिख रहा है। यहां लगभग एक महीने से प्रदर्शन चल रहा है।

असम को काटना हमारी जिम्मेदारी-शरजील इमाम

बता दें कि इस वीडियो में सरजील कथित रूप से यह कहता दिखाई दे रहा है कि हमारे पास पांच लाख लोग हों संगठित तो हम असम या नार्थ-ईस्ट से हिंदुस्तान को हमेशा के लिए अलग कर सकते हैं। स्थाई नहीं तो एक-दो महीने के लिए असम को हिंदुस्तान से कट कर ही सकते हैं। रेलवे ट्रैक पर इतना मलबा डालो कि उनको एक महीना हटाने में लगेगा। जाना हो तो जाएं एयरफोर्स से। असम को काटना हमारी जिम्मेदारी है।'

ये भी देखें : प्रधानमंत्री की बड़ाई में ये क्या कह गए ‘नेता जी’

भारत के टुकड़े करने की साजिश

भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के प्रवक्ता संबित पात्रा (Sambit Patra) ने इस वीडियो को शाहीन बाग का बताते हुए दावा किया कि वहां भारत के टुकड़े करने की साजिश रची जा रही है। वहीं असम के मंत्री हिमंत बिस्व सरमा ने कहा कि शाहीन बाग के विरोध प्रदर्शन के मुख्य आयोजक शरजिल के इस राष्ट्रविरोधी बयान पर सरकार ने संज्ञान लेते हुए उनके खिलाफ केस दर्ज कराने का फैसला लिया है।

ये भी देखें : डब्बू अंकल के बाद अब इनका डांस देख हो जाएंगे मस्त

दरअसल जेएनयू छात्र शरजील इमाम का एक वीडियो वायरल हो रहा है। हालांकि न्यूज़18 इस वीडियो की सत्यता की पुष्टि नहीं करता। बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने यह वीडियो शेयर करते हुए आपत्ति जताई है। इसके साथ ही उन्होंने इस मुद्दे पर प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि प्रदर्शन की जगह शाहीन बाग नहीं, बल्कि दिशाहीन बाग है, तौहीन बाग है।

शाहीन बाग़ की असलियत

-असम को इंडिया से काट कर अलग करना हमारी ज़िम्मेदारी

-"Chicken Neck" मुसलमानों का है

-इतना मवाद डालो पटरी पे की इंडिया की फ़ौज Assam जा ना सके

-सारे ग़ैर मुसलमानों को मुसलमानों के शर्त पर ही आना होगा

असम को देश से काटने का ऐसा है प्लान

ये भी देखें : सड़कों को छोड़िए, सरकारी आश्रय में गोवंश बदहाल: अब लिया गया ये एक्शन…

शरजील कथित रूप से यह भी कहता है, 'असम और इंडिया कटकर अलग हो जाए, तभी वह हमारी बात सुनेंगे। असम में मुसलमानों का क्या हाल है, आपको पता है क्या? वहां एनआरसी लागू हो गया है। मुसलमान डिटेंशन कैंप में डाले जा रहे हैं। 6-8 महीनों में पता चलेगा कि सारे बंगालियों को मार दिया गया वहां। अगर हमें असम की मदद करनी है तो हमें असम का रास्ता बंद करना होगा।'

SK Gautam

SK Gautam

Next Story