×

मोदी सरकार का बड़ा फैसला, जवानों को श्रीनगर से आने और जाने के लिए मिलेगी प्लेन की सुविधा

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में आतंकी हमले के बाद केंद्र की मोदी सरकार ने जवानों की सुरक्षा के मद्देनजर बड़ा फैसला लिया है। अब अर्ध सैनिक बलों के जवान श्रीनगर आने और जाने के लिए हवाई सफर कर सकेंगे।

Dharmendra kumar

Dharmendra kumarBy Dharmendra kumar

Published on 21 Feb 2019 9:36 AM GMT

मोदी सरकार का बड़ा फैसला, जवानों को श्रीनगर से आने और जाने के लिए मिलेगी प्लेन की सुविधा
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

नई दिल्ली: जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में आतंकी हमले के बाद केंद्र की मोदी सरकार ने जवानों की सुरक्षा के मद्देनजर बड़ा फैसला लिया है। अब अर्ध सैनिक बलों के जवान श्रीनगर आने और जाने के लिए हवाई सफर कर सकेंगे।

यह भी पढ़ें.....आशुतोष की तस्वीरों में देखिए आवास विकास मुख्यालय पर भूतपूर्व सैनिकों का धरना

गृह मंत्रालय के आदेश के मुताबिक दिल्ली-श्रीनगर, श्रीनगर-दिल्ली, जम्मू-श्रीनगर और श्रीनगर-जम्मू के बीच किसी भी यात्रा के लिए हवाई सफर कर सकेंगे। केंद्रीय सशस्त्र अर्धसैनिक बलों के सभी जवानों पर यह आदेश लागू होगा।

यह भी पढ़ें.....आशुतोष की तस्वीरों में देखिए- CM योगी ने बालिकाओं के लिए ‘स्कीम फॉर एडोलसेंट गर्ल्स’ का शुभारंभ किया

इस आदेश से अर्ध सैनिक बलों के 7,80,000 जवानों को फायदा मिलेगा। इनमें कॉन्स्टेबल, हेड कॉन्स्टेबल और एएसआई से लेकर अन्य वे सभी कर्मी शामिल हैं, जिन्हें अब तक हवाई यात्रा करने का अधिकार नहीं था। इस फैसले को तत्काल प्रभाव से लागू करने का आदेश गृह मंत्रालय की ओर से दिया गया है। आदेश के मुताबिक जवान ड्यूटी के दौरान यात्रा करने के अलावा छुट्टी पर श्रीनगर से वापस जाने या फिर आने के लिए भी हवाई यात्रा कर सकेंगे।

यह भी पढ़ें.....सीएम योगी ने किशोरी बालिका योजना का किया शुभारंभ, कहा -‘यूपी जल्द होगा कुपोषण से मुक्त’

बता दें कि पुलवामा में सीआरपीएफ काफिले पर आतंकी हमले के बाद मीडिया रिपोर्ट्स में यह कहा गया था कि अर्धसैनिक बल ने एयर ट्रांजिट की मांग की थी, लेकिन इसे मंजूर नहीं किया गया था। हालांकि गृह मंत्रालय ने ऐसी खबरों को गलत करार दिया था और कहा था कि सीआरपीएफ की ओर से ऐसी कोई मांग ही नहीं की गई थी।

Dharmendra kumar

Dharmendra kumar

Next Story