×

शहीद पिता को मुखाग्नि देने के बाद बेटी हो गई बेहोश

उत्तर प्रदेश के कन्नौज में जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में आतंकी हमले में शहीद प्रदीप सिंह यादव की अंतिम विदाई में आज पूरा जिला रो दिया। शहीद का पूरे राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया। उनके पार्थिव शरीर को मुखाग्न‍ि देने के बाद बेटी सुप्रिया बेहोश हो गयी।

Dharmendra kumar

Dharmendra kumarBy Dharmendra kumar

Published on 16 Feb 2019 11:06 AM GMT

शहीद पिता को मुखाग्नि देने के बाद बेटी हो गई बेहोश
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

कन्नौज: उत्तर प्रदेश के कन्नौज में जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में आतंकी हमले में शहीद प्रदीप सिंह यादव की अंतिम विदाई में आज पूरा जिला रो दिया। शहीद का पूरे राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया। उनके पार्थिव शरीर को मुखाग्न‍ि देने के बाद बेटी सुप्रिया बेहोश हो गयी। बेटी को प्राथमिक इलाज के लिए भेजा गया है जिससे पूरा परिवार सदमे में है। शहीद की पत्नी का भी रो-रो कर बुरा हाल है।

यह भी पढ़ें.....पुलवामा आतंकी हमला: शहीद श्याम बाबू की पत्नी की ये बातें हर किसी को कर देंगी भावुक…

कन्नौज के हसेरन क्षेत्र के गांव सुखसेनपुर में आज सुबह लखनऊ से सीआरपीएफ से डीआइजी जीसी जसवीर सिंह सिंधु के नेतृत्व में 115 बटालियन सीआरपीएफ के 30 जवानों की टोली शहीद प्रदीप सिंह का पार्थिव शरीर लेकर गांव पहुंची। इसके बाद गांव में ही राजकीय सम्मान के साथ जवान के शव का अंतिम संस्कार किया गया।

यह भी पढ़ें.....शहीदों का बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा, गुनहगारों को सजा जरूर मिलेगी: पीएम मोदी

इस दौरान अपने लाल के अंतिम दर्शन के लिए रोड पर जनसैलाब उमड़ पड़ा। यहां जैसे ही सीआरपीएफ की गाडिय़ों ने गांव में प्रवेश किया, वैसे ही लोगों ने भारत माता की जय और जय हिंद के उद्घोष से आसमान गूंज उठा। तिरंगे में शव को लिपटे देख पत्नी और बच्चे पिता के पार्थिव शरीर पर गिर पड़े। पिता अमर सिंह आंसुओं को रोक नहीं सके वो एक ही बात बोल रहे थे, देश के दुश्मनों को छोडऩा मत।

यह भी पढ़ें.....पुलवामा हमला: विरोध प्रदर्शन की वजह से मुंबई लोकल ठप, अफरातफरी का माहौल

प्रदीप का पार्थिव शरीर जब घर के आंगन से उठा तो पूरा जिला रो दिया। आंखों से बहते आसुओं से गौरवान्वित होकर जवान को सैल्यूट मारा। किसी ने दोनों हाथ जोड़कर नमन किया। इस दौरान भारत माता की जय के नारे गूंजते रहे। जवान के पार्थिव शरीर को डीएम रवींद्र कुमार, एसपी अमरेंद्र प्रसाद सिंह और तिर्वा विधायक कैलाश राजपूत ने कंधा दिया।

राजकीय सम्मान के साथ गांव में ही जवान का अंतिम संस्कार कर दिया गया। इस दौरान अपने लाल के अंतिम दर्शन करने के लिए हजारों लोग गांव पहुंचे। सीआरपीएफ के गांव में प्रवेश करते ही गांव भारत माता की जय और जयहिंद के उद्घोष से गूंज उठा।

Dharmendra kumar

Dharmendra kumar

Next Story