दुश्मनों का पलभर में होगा खात्मा: जबरदस्त खासियत है राफेल में

अदालत ने केंद्र की दलीलों को तर्कसंगत और पर्याप्त बताते हुए माना कि केस के मेरिट को देखते हुए इसमें दोबारा जांच के आदेश देने की जरूरत नहीं है। इस मौके पर  राफेल से जुड़ी कुछ ऐसी बातें भी हैं जिसे हर भारतीय को जानना बेहद ज़रूरी है।

लखनऊ: विवादों की जंजीर तोड़ते हुए आखिरकार भारत को पहला फ्रांसीसी लड़ाकू विमान राफेल मिल ही गया है। देश के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने विजयदशमी के दिन शस्त्र पूजा करने के साथ ही दसॉल्ट कंपनी से पहले राफेल विमान को रिसीव किया, इसी के साथ भारत की वायुसेना और अधिक शक्तिशाली हो गया है।

सर्वोच्च न्यायालय ने सुनाया बड़ा फैसला

राफेल को लेकर अब तक हुए राजनीतिक विवाद पर गुरूवार को सर्वोच्च न्यायालय ने बड़ा फैसला सुनाते हुए कहा कि मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई की अगुवाई वाली बेंच ने 14 राफेल लड़ाकू विमानों के सौदे को बरकरार रखते हुए अपने 14 दिसंबर, 2018 को दिए फैसले के खिलाफ दाखिल पुनर्विचार याचिकाओं को खारिज कर दिया।

पीठ ने केंद्र सरकार को राहत देते हुए कहा कि इसकी अलग से जांच करने की जरूरत नहीं है। अदालत ने केंद्र की दलीलों को तर्कसंगत और पर्याप्त बताते हुए माना कि केस के मेरिट को देखते हुए इसमें दोबारा जांच के आदेश देने की जरूरत नहीं है। इस मौके पर  राफेल से जुड़ी कुछ ऐसी बातें भी हैं जिसे हर भारतीय को जानना बेहद ज़रूरी है।

पढ़ें…कितना ताकतवर-कितना ज़रूरी! राफेल की इन खूबियों के बारें में जानते हैं?

ये हैं राफेल की खूबियां

1. फ्रांस में बना राफेल विमान अत्याधुनिक फाइटर जेट है। भारत को फ्रांस से 36 राफेल जेट मिलेंगे।
2. विमान में हेल्मेट माउंटेड साइट्स और लक्ष्य को भेदने की प्रणाली है।
3. विमान में बहुत ऊंचाई वाले एयरबेस से भी उड़ान भरने की क्षमता है।
4. मिसाइल हमले का सामना करने के लिए विमान में खास तकनीक है।
5. राफेल की रेंज प्रति घंटा 780 से 1055 किमी तक है ये प्रति घंटे 5 सोर्टीज लगा सकता है।
6. राफेल एक मिनट में 60 हजार फुट की ऊंचाई तक जा सकता है और इसकी ईंधन क्षमता 17 हजार किलोग्राम है।
7. राफेल मल्टिरोल फाइटर एयरक्राफ्ट है, आकार में छोटा होने से इसे इस्तेमाल करना आसान है।
8. इसमें स्काल्प मिसाइल है जो हवा से जमीन पर 600 किमी तक निशाना साध सकती है।
9. राफेल की मारक क्षमता 3700 किलोमीटर तक है।
10. यह विमान 24,500 किलो तक का वजन ले जाने में सक्षम है।

राफेल से जुड़ी बातें:

राफेल विमान परमाणु मिसाइल डिलीवर करने में सक्षम है। इसमें दो तरह की मिसाइलें हैं। एक की रेंज डेढ़ सौ किलोमीटर है तो दूसरी की रेंज क़रीब तीन सौ किलोमीटर की है। परमाणु हथियारों से लैस राफेलहवा से हवा में 150 किलोमीटर तक मिसाइल दाग सकता है और हवा से ज़मीन तक इसकी मारक क्षमता 300 किलोमीटर है। राफेल जैसा विमान चीन और पाकिस्तान के पास भी नहीं है।

राफेल से जुड़ी ये दस बातें हर भारतीय को जानना बेहद ज़रूरी! देखें वीडियो...  

ये भारतीय वायुसेना के इस्तेमाल किए जाने वाले मिराज 2000 का एडवांस वर्जन है। दासॉ एविएशन के मुताबिक, राफेलकी स्पीड मैक 1.8 है। यानी क़रीब 2020 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार। ऊंचाई 5.30 मीटर, लंबाई 15.30 मीटर। राफेलमें हवा में तेल भरा जा सकता है। राफेल लड़ाकू विमानों का अब तक अफ़ग़ानिस्तान, लीबिया, माली, इराक़ और सीरिया जैसे देशों में हुई लड़ाइयों में इस्तेमाल हुआ है।

देखें वीडियो…

पायलट को बस विरोधी को देखना है और बटन दबा देना है बस: मनोहर पर्रिकर

पूर्व रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने कहा था कि राफेल का टारगेट अचूक होगा। राफेल ऊपर-नीचे, अगल-बगल यानी हर तरफ़ निगरानी रखने में सक्षम है। मतलब इसकी विजिबिलिटी 360 डिग्री होगी। पायलट को बस विरोधी को देखना है और बटन दबा देना है और बाक़ी काम कंप्यूटर कर लेगा।