×

बहन प्रियंका के राजनीति में आने का राहुल ने खोला राज, बताया अब तक क्यों थीं दूर?

लोकसभा चुनाव में चंद महीने बचे हैं ऐसे में सभी राजनीतिक पार्टियों ने चुनाव जीतने के लिए पूरा जोर लगा दिया है। लोकसभा चुनाव से ठीक पहले कांग्रेस में प्रियंका गांधी को पार्टी महासचिव बनाया गया है। प्रियंका की राजनीति में एंट्री को कांग्रेस का ब्रह्मास्त्र बताया जा रहा है।

Dharmendra kumar

Dharmendra kumarBy Dharmendra kumar

Published on 25 Jan 2019 9:51 AM GMT

बहन प्रियंका के राजनीति में आने का राहुल ने खोला राज, बताया अब तक क्यों थीं दूर?
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

नई दिल्ली: लोकसभा चुनाव में चंद महीने बचे हैं ऐसे में सभी राजनीतिक पार्टियों ने चुनाव जीतने के लिए पूरा जोर लगा दिया है। लोकसभा चुनाव से ठीक पहले कांग्रेस में प्रियंका गांधी को पार्टी महासचिव बनाया गया है। प्रियंका की राजनीति में एंट्री को कांग्रेस का ब्रह्मास्त्र बताया जा रहा है। पार्टी में प्रियंका के शामिल होने की अटकलों पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने विराम लगा दिया है।

यह भी पढ़ें.....प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना बदलेगी घरेलू प्रदूषण की तस्वीर

कांग्रेस में प्रियंका की एंट्री पर राहुल का जवाब

कांग्रेस अध्यक्ष ने शुक्रवार को भुवनेश्वर में एक कार्यक्रम में कांग्रेस में प्रियंका की एंट्री पर जवाब देते कहा कि प्रियंका को राजनीतिक में लाने का फैसला काफी पहले ही कर लिया गया था, लेकिन बच्चे छोटे होने की वजह से वह देर से कांग्रेस में शामिल हो पाईं।

यह भी पढ़ें.....वाराणसी ने जोरदार आतिथ्य से प्रवासियों का दिल जीता

'10 दिनों में कोई फैसला नहीं किया'

राहुल गांधी ने कहा कि प्रियंका और उनकी सोच काफी मिलती है और ज्यादातर फैसलों पर दोनों की राय एक जैसी ही होती है। राहुल ने कहा, 'मैंने यह 10 दिनों में कोई फैसला नहीं किया है। मैं बहुत पहले से उनसे राजनीति में आने पर बात कर रहा था। प्रियंका कह रही थीं कि उनके बच्चे छोटे हैं और मैं उनकी देखभाल पर ध्यान देना चाहती हूं। अब उनके बच्चे बड़े हो गए हैं। एक यूनिवर्सिटी की पढ़ाई कर रहा है और दूसरा यूनिर्वसिटी जाने को तैयार है। इसलिए उन्होंने सक्रिय राजनीति में आने का फैसला कर लिया।'

यह भी पढ़ें.....कांग्रेस के प्रियंका कार्ड के बाद बीजेपी खेमे में खलबली, डैमेज कंट्रोल में जुटे ‘चाणक्य’

उन्होंने कहा कि इस तरह की चर्चा हमारे बीच होती थी।' प्रियंका को कांग्रेस का ट्रंप कार्ड के तौर पर देखा जा रहा है और ऐसा कहा जा रहा है कि यह फैसला राहुल ने अचानक लिया और पार्टी के वरिष्ठ नेताओं को भी इसकी खबर नहीं थी।

यह भी पढ़ें.....UPSC में 10वीं और 12वीं पास के लिए बंपर वैकेंसी, ऐसे करें आवेदन

'80 फीसदी विचार एक जैसे होते हैं'

राहुल ने कहा, 'यह काफी अजीब बात है, अगर आप एक ही मुद्दे पर मेरी बहन से उनकी राय मांगे और फिर उसी मुद्दे पर मुझसे राय मांगे और हम दोनों अलग-अलग कमरे में बैठे हों, तो भी 80 फीसदी बार हमारे विचार एक ही तरह के होंगे। आपके मेरी बहन के साथ मेरे रिश्ते को समझना होगा। हम एक बड़े परिवार से थे पर हमारे लिए सबकुछ बहुत आसान भी नहीं था।'

यह भी पढ़ें.....नॉर्वे को ज्यादा बच्चों की जरूरत है : प्रधानमंत्री एरना सोल्बर्ग

'बचपन में काफी संघर्ष भी किया'

राहुल ने बचपन की मुश्किलों का जिक्र करते हुए कहा कि ऐसा लगता है कि हम बड़े परिवार से थे और हमें चीजें आसानी से मिलीं तो ऐसा नहीं है। हम दोनों ने बचपन में काफी संघर्ष भी किया और एक जैसी परिस्थितियों में बड़े हुए। इस कारण बड़े मुद्दों पर हमारे फैसले और सोचने का तरीका एक सा ही होता है।

Dharmendra kumar

Dharmendra kumar

Next Story