उपचुनाव मतगणना: राजस्थान में कांग्रेस आगे, पश्चिम बंगाल में एक सीट जीती TMC

Published by aman Published: February 1, 2018 | 9:53 am
Modified: February 1, 2018 | 12:53 pm
उपचुनाव मतगणना: राजस्थान की 2 सीट पर कांग्रेस तो 1 पर BJP आगे

नई दिल्ली: एक तरफ देश की नजर गुरुवार (01 फ़रवरी) को पेश होने वाले आम बजट पर है तो वहीं दूसरी तरफ, आज ही राजस्थान और पश्चिम बंगाल उपचुनाव के नतीजों को भी काफी अहम माना जा रहा है। बता दें, कि 29 जनवरी को राजस्थान के दो लोकसभा सीट और एक विधानसभा तथा पश्चिम बंगाल के सीट पर हुए उपचुनाव की गिनती जारी है।

शुरुआती रुझानों में राजस्थान में कांग्रेस का पलड़ा भारी है। अलवर और अजमेर लोकसभा सीट पर कांग्रेस बढ़त बनाए हुए है। अलवर लोकसभा सीट पर कांग्रेस खबर लिखे जानें तक 9,225 वोटों से बढ़त बनाए हुए है। हालांकि, मांडलगढ़ विधानसभा सीट पर बीजेपी 699 वोट से आगे है। जबकि, प. बंगाल के नवपाड़ा विधानसभा सीट पर छह चक्र की मतगणना पूरी हो चुकी है। इसमें टीएमसी को 46,281 मत मिले हैं और सीपीएम से 26,837 वोट से आगे चल रही है। सीपीएम को 16444, बीजेपी को 15575 और कांग्रेस को 4782 वोट मिले हैं।

भारी पुलिस बल तैनात
बता दें, कि सुबह 8 बजे से वोटों की गिनती शुरू हुई है। सभी की निगाहें उपचुनाव के परिणाम पर टिकी हुई हैं। मतगणना को लेकर प्रशासन ने सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम कर लिए हैं। सुरक्षा के मद्देनजर मतगणना केंद्र पर भारी पुलिस बल तैनात कर दिया गया है।

राजस्थान के परिणाम अहम
गौरतलब है, कि राजस्थान में इसी साल के अंत में विधानसभा चुनाव होने हैं। ऐसे में यह उपचुनाव कांग्रेस के लिए अपनी जमीन मजबूत करने के मौके के रूप में देखा जा रहा है। जबकि, सीएम वसुंधरा राजे के लिए यह अग्निपरीक्षा से कम नहीं माना जा रहा। विधानसभा चुनाव से पहले इसे बीजेपी और कांग्रेस के लिए सेमीफाइनल माना जा रहा है।

पश्चिम बंगाल में एक सीट तृणमूल के खाते में
पश्चिम बंगाल में सत्ताधारी पार्टी तृणमूल कांग्रेस ने नोआपारा विधानसभा सीट पर जीत दर्ज कर ली है और गुरुवार को हो रही मतगणना के रुझान के मुताबिक, उलुबेरिया लोकसभा सीट पर अपने प्रतिद्वंदियों से आगे चल रही है।

निर्वाचन आयोग के सूत्रों ने यह जानकारी दी।

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) तृणमूल के लिए मुख्य चुनौती बनकर उभरी, जो नोआपारा में दूसरे स्थान पर रही। उलुबेरिया में भी यह जीत के दावेदारों में दूसरे स्थान पर है।

वामपंथी मार्क्‍सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) का उम्मीदवार नोअपारा में तीसरे स्थान पर रहा, उलुबेरिया में भी यही स्थिति है।

नोआपारा, जहां कांग्रेस विधायक मदुसूदन घोष के निधन के चलते उपचुनाव हुआ, तृणमूल के सुनील सिंह ने अपने करीबी प्रतिद्वंदी भाजपा के संदीप बनर्जी को 63,000 से ज्यादा वोटों से मात दे दी।

उलुबेरिया में तृणमूल की सजदा अहमद जो सांसद सुलतन अहमद की बेवा हैं, वे भाजपा के अनुपम मलिक से 68,000 मतों से आगे हैं।

दोनों निर्वाचन सीटों पर कांग्रेस काफी पीछे चौथे स्थान पर है। कांग्रेस ने वाममोर्चा के साथ गठबंधन में नोअपारा सीट जीती थी।