घाटी का जायजा लेने श्रीनगर पहुंचे गृहमंत्री,लोगों से करेंगे सीधा संवाद

Published by Published: July 23, 2016 | 5:20 pm
Modified: July 24, 2016 | 2:27 am

श्रीनगर: हिजबुल आतंकी बुरहान वानी की मौत के बाद सुलगती घाटी का जायजा लेने केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह शनिवार को श्रीनगर पहुंचे। कश्मीर के लोगों से सीधा संवाद स्थापित करने के वादे को पूरा करने के लिए गृहमंत्री राजनाथ सिंह दो दिवसीय यात्रा पर श्रीनगर पहुंचे हैं। यहां वे विभिन्न प्रतिनिधिमंडलों से मुलाकात करेंगे, इनमें हुर्रियत नेताओं के लिए कोई जगह नहीं मिलेगी।

राजनाथ ने किया था वादा
गौरतलब है कि मानसून सत्र शुरू होने के दौरान राजनाथ सिंह ने संसद के दोनों सदनों में कश्मीर पर चर्चा का जवाब देते हुए कश्मीरियों से सीधा संवाद कायम करने का वादा किया था। उनका कहना था कि कश्मीर का नौजवान देशभक्त और शांतिप्रिय हैं। लेकिन पाकिस्तान के बहकावे में कुछ नौजवान रास्ते भटक गए हैं। उन्होंने कश्मीर के वर्तमान हालात के लिए उन्होंने सीधे तौर पर पाकिस्तान को जिम्मेदार ठहराया था।

ये भी पढ़ें …गोरखपुर AIIMS के लिए मची क्रेडिट की होड़, मैदान में कूदे CM अखिलेश

मिजाज भांपने की कोशिश
राजनाथ सिंह इस दौरे में श्रीनगर के लोगों का मिजाज भांपने की कोशिश करेंगे। उनके इस दौरे का मकसद यह संदेश देना है कि कश्मीर का विकास और वहां के लोगों की भलाई भारत के साथ रहने में है। इस दौरान गृहमंत्री मोदी सरकार की ओर से चलाए जा रहे कार्यक्रमों की जानकारी भी देंगे। सूत्रों के अनुसार राजनाथ सिंह से मिलने वाले प्रतिनिधिमंडल को चुनने की जिम्मेदारी राज्य सरकार को सौंपी गई है।

ये भी पढ़ें …जान्हवी का एलान- लाल चौक पर फहराऊंगी तिरंगा, हिम्मत है तो रोककर दिखाओ

हुर्रियत के लिए कोई जगह नहीं
राजनाथ सिंह के एजेंडे में हुर्रियत नेताओं से मिलने का कोई कार्यक्रम नहीं है। गौरतलब है कि मोदी सरकार ने सत्ता में आने के बाद से हुर्रियत को कश्मीरियों का प्रतिनिध मानने से इनकार कर दिया था। उल्लेखनीय है कि हुर्रियत नेताओं से बातचीत के कारण विदेश सचिव स्तर की बातचीत भी रद्द कर दी गई थी। हुर्रियत नेता अपनी पाक परस्ती के लिए बदनाम रहे हैं।

 

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App