×

आर्थिक रूप से कमजोर सवर्णों को भी मिले आरक्षण : अठावले

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 25 Oct 2018 3:42 PM GMT

आर्थिक रूप से कमजोर सवर्णों को भी मिले आरक्षण : अठावले
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

पटना : केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले ने गुरुवार को यहां कहा कि आर्थिक रूप से कमजोर सवर्णो को भी आरक्षण मिलना चाहिए। अठावले कहा कि उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली राजग सरकार की बैठक में इसकी मांग की है। पटना में आयोजित श्रीकृष्ण सिंह जयंती समारोह और कृषक समागम समारोह को संबोधित करते हुए अठावले ने कहा कि सवर्णों में भी बड़ी आबादी ऐसी है जो आर्थिक रूप से बेहद कमजोर है। उन्हें सहयोग की जरूरत है।

ये भी देखें :बवाली वकील दीप्ति चौधरी जमानत पर रिहा, बार एसोसिएशन ने रद की सदस्यता

ये भी देखें :डिजिटाइज्ड फाइलें आॅनलाइन न होने से बढ़ रही दुश्वारियां दो हजार से अर्जियां लंबित

ये भी देखें :अब देखें BHU के रंगीन मिजाज ‘चौबे सर’ का वायरल वीडियो

ये भी देखें :बनारस में अवैध पटाखा फैक्ट्री पर पुलिस की रेड, इतने का माल हुआ जब्त

उन्होंने कहा कि व्यवस्था ऐसी होनी चाहिए कि सवर्णों को 25 प्रतिशत आरक्षण मिले।

आठावले ने कहा, "अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति (एससी/एसटी) को मिल रहे आरक्षण की सुविधा में बगैर छेड़छाड़ किए आर्थिक रूप से कमजोर सवर्णों को आरक्षण मिलना चाहिए।"

केंद्रीय मंत्री ने स्पष्ट करते हुए कहा कि राजग सरकार कभी भी दलित विरोधी नहीं रही है। उन्होंने कहा कि अगले वर्ष होने वाले लोकसभा चुनाव में 300 सीटों पर जीत दर्ज करनी है और एकबार फिर से नरेंद्र मोदी को प्रधानमंत्री बनाना है।

बिहार को महापुरुषों की धरती बताते हुए उन्होंने कहा कि राजग सरकार श्रीकृष्ण सिंह के सपने के पूरा करने के लिए 'सबका साथ, सबका विकास' के मूलमंत्र के साथ आगे बढ़ रही है।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story