मथुरा का रावल गांव बना देश का पहला डिजिटल इंडिया से जुड़ने वाला गांव

मथुरा का रावल गांव बना देश का पहला डिजिटल इंडिया से जुड़ने वाला गांव

मथुरा: मथुरा की सांसद हेमा मालिनी का गोद लिया आदर्श ग्राम रावल, देश का पहला डिजिटल इंडिया से जुड़ने वाला गांव बन गया है। सोमवार को हेमा मालिनी ने नवनिर्मित कम्युनिटी हॉल में निःशुल्क कंप्यूटर प्रशिक्षण केंद्र का उद्घाटन किया।

सांसद ने जताई ख़ुशी
प्रशिक्षण केंद्र का उद्घाटन करते हुए स्थानीय सांसद हेमा मालिनी ने कहा, ‘मैं आज बहुत खुश हूं कि मेरा गोद लिया हुआ आदर्श गांव देश का ऐसा पहला आदर्श ग्राम बना है जिसमें डिजिटल इंडिया के अंतर्गत सभी ग्रामीणों को कंप्यूटर और इंटरनेट का प्रशिक्षण देने की पहल की गई।’

प्रोग्राम से जुड़ी जानकारी दी
समारोह में उपस्थित गांव के सभी युवा छात्र-छात्राओं, महिलाओं, किसानों, व्यापारियों एवं बुजुर्गों को कंप्यूटर, मोबाइल फोन एवं इंटरनेट की जानकारी और उससे होने वाले लाभों के बारे में कल्पना गर्ग ने प्रोजेक्टर पर लाइव वीडियो और ग्राफ़िक्स के माध्यम से समझाया। उन्होंने यह भी बताया कि आम आदमी पीएम मोदी की विभिन्न योजनाओं से जुड़कर किस प्रकार जुड़कर अपने जीवन को प्रभावकारी बना सकते हैं।

…तो कहें ‘डिजिटल ग्राम’
इस अवसर पर रावल गांव के करीब 110 छात्र छात्राओं, महिलाओं, किसानों आदि ने कंप्यूटर ट्रेनिंग के लिए अपना नाम पंजीकरण कराया। सांसद हेमा मालिनी ने ग्रामवासियों को प्रशिक्षण लेने के लिए प्रेरित करते हुए कहा, ‘इस योजना का लाभ अधिक से अधिक लोग उठाएं जिससे मैं गर्व से कह सकूं कि मेरा ग्राम आदर्श ग्राम से कई कदम आगे बढकर ‘डिजिटल ग्राम’ बन रहा है।’

इस आयोजन के लिए सांसद हेमा मालिनी ने कार्यक्रम की संयोजिका बीजेपी की नेत्री कल्पना गर्ग एवं आशुतोष गर्ग को धन्यवाद दिया।