नोटबंदी पर पहली बार बोले RBI गवर्नर- देश में कैश की कमी नहीं, नए नोट बैंक पहुंचाए जा रहे

उर्जित पटेल को जान से मारने की धमकी, मेल में लिखा - RBI गर्वनर का पद छोड़ो

नई दिल्ली: नोटबंदी पर पहली बार भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) के गवर्नर ने अपनी बात रखी। रविवार को आरबीआई गवर्नर उर्जित पटेल ने कहा, देश में कैश की कमी नहीं है। उन्होंने कहा, बैंकों को ज्यादा कैश देने की कोशिश की जा रही है। उर्जित पटेल ने कहा, नए नोट बैंक में पहुंचाए जा रहे हैं। हर दिन हालात पर नजर रखी जा रही है। समस्या दूर करने की पूरी कोशिश जारी है।

नए नोटों की नक़ल मुश्किल 
उर्जित पटेल ने कहा कि पर्याप्त कैश उपलब्ध हैं। बैंक उन्हें अपनी शाखाओं और एटीएम तक पहुंचाने के लिए मिशन के तौर पर काम कर रहे हैं। नोटों के डिजाइन पर उन्होंने कहा, ‘नए 500 और 2,000 रुपए के नोटों के डिजाइन ऐसे हैं कि उनकी नकल करना मुश्किल होगा।’

विकल्पों पर दें ध्यान 
आरबीआई गवर्नर ने जनता से नकद की जगह डेबिट कार्ड जैसे विकल्पों का इस्तेमाल करने की अपील की और कहा कि इससे लेन-देन सस्ता और आसान होगा।

नोटबंदी के बाद से RBI पर उठ रहे थे सवाल 
गौरतलब है कि 8 नवंबर को पीएम मोदी ने देश में 500 और 1000 रुपए के नोट को लीगल टेंडर से बाहर किए जाने की घोषणा की थी। इसके बाद से लोगों को कैश किल्लत का सामना करना पड़ा रहा है। नोटबंदी की घोषणा के 19 दिन बाद भी देशभर में बैंक और एटीएम के बाहर लंबी कतारें लगी हैं। आम लोगों को हो रही परेशानी को लेकर विपक्ष सरकार पर निशाने साध रही है तो अव्यवस्था को लेकर आरबीआई पर भी सवाल उठाए जा रहे हैं।