×

मेरठ में RSS का बड़ा समागम, नजर अगले लोेकसभा चुनाव पर

aman

amanBy aman

Published on 25 Feb 2018 9:22 AM GMT

मेरठ में RSS का बड़ा समागम, नजर अगले लोेकसभा चुनाव पर
X
मेरठ में RSS का बड़ा समागम, नजर अगले लोेकसभा चुनाव पर
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

लखनऊ/मेरठ: राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) के इतिहास का अब तक का सबसे बड़ा स्वयंसेवक समागम रविवार (25 फरवरी) को मेरठ में शुरू हो गया। समागम को इसलिए बड़ा कहा जा रहा है क्योंकि इसके लिए तीन लाख से ज्यादा लोगों ने रजिस्ट्रेशन कराया है।

समागम का मकसद 2019 के आम चुनावों के लिए जनता की नब्ज टटोलना है। बीजेपी को 2014 में सर्वाधिक 73 लोकसभा सीटें उत्तर प्रदेश से ही मिली थीं जिसमें पश्चिमी उत्तर प्रदेश से बीजेपी को सबसे ज्यादा सीटें हाथ लगी थीं। आरएसएस और बीजेपी का मकसद आगामी चुनावों में युवा मतदाताओं को लुभाना है।

आगरा में किया 'समरसता समागम'

आरएसएस समागम के जरिए बीजेपी के लिए जमीन तैयार कर रही है। बिना यूपी के केंद्र में बीजेपी की राह काफी मुश्किल होगी। इसीलिए आरएसएस ने आगरा में 'समरसता समागम' किया, जिसमें संघ प्रमुख मोहन भागवत ने कहा था, कि 'देश पहले है, भगवान बाद में।'

मेरठ समागम के लिए भव्य इंतजाम

मेरठ समागम के लिए 182 फीट चौड़ा और 35 फीट ऊंचा मंच बनाया गया है। मंच का बैक ड्रॉप 92 फीट ऊंचा है। मंच पर जाने के लिए लिफ्ट और सीढ़ियां बनाई गई हैं। 35 फीट ऊंचे मंच से आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत समेत कई नेता स्वयं सेवकों को संबोधित करेंगे। मंच के आगे की तरफ जहां 35 फीट ऊंचा और करीब 125 फीट लंबा चार घोड़ों की आकृति वाला रथ भी लगाया गया है। मंच के पीछे 92 फीट का बैक ड्रॉप सूर्योदय की आकृति का है। इस आयोजन में अब तक 3 लाख 13 हजार, 393 लोगों ने पंजीकरण कराया है।

सुरक्षा के पुख्ता प्रबंध

मेरठ की एसएसपी मंजिल सैनी ने कहा है, 'सुरक्षा के लिहाज से भारी मात्रा में फोर्स लगाई गई है, जिसमें जिले के साथ साथ, जोन स्तर और पुलिस मुख्यालय फोर्स भी है। एसपी के साथ डिप्टी एसपी, इंस्पेक्टर, सब इंस्पेक्टर, एलआईयू, ट्रैफिक, एटीएस के कमांडो भी तैनात रहेंगे। 15 कंपनी पीएसी, 3 कंपनी आरएएफ को भी तैनात किया गया है। जिले में भारी वाहनों का प्रवेश भी बंद कर दिया गया है। सुरक्षा के लिए सीसीटीवी कैमरे भी लगाए गए हैं और जांच के लिए ड्रोन कैमरों की भी मदद ली जा रही है।

aman

aman

अमन कुमार, सात सालों से पत्रकारिता कर रहे हैं। New Delhi Ymca में जर्नलिज्म की पढ़ाई के दौरान ही ये 'कृषि जागरण' पत्रिका से जुड़े। इस दौरान इनके कई लेख राष्ट्रीय, अंतरराष्ट्रीय और कृषि से जुड़े मुद्दों पर छप चुके हैं। बाद में ये आकाशवाणी दिल्ली से जुड़े। इस दौरान ये फीचर यूनिट का हिस्सा बने और कई रेडियो फीचर पर टीम वर्क किया। फिर इन्होंने नई पारी की शुरुआत 'इंडिया न्यूज़' ग्रुप से की। यहां इन्होंने दैनिक समाचार पत्र 'आज समाज' के लिए हरियाणा, दिल्ली और जनरल डेस्क पर काम किया। इस दौरान इनके कई व्यंग्यात्मक लेख संपादकीय पन्ने पर छपते रहे। करीब दो सालों से वेब पोर्टल से जुड़े हैं।

Next Story