×

लोग मोदी सरकार के कार्यकाल में राम मंदिर निर्माण की उम्मीद कर रहे: संघ

पीएम नरेंद्र मोदी ने राम मंदिर पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद ही अध्यादेश पर विचार करने का बयान एक इंटरव्यू में दिया। इसके बाद राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सह सरकार्यवाह दत्तात्रेय होसबोले का कहना है कि लोग मोदी सरकार के कार्यकाल में ही मंदिर निर्माण की उम्मीद कर रहे हैं।

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 2 Jan 2019 3:57 AM GMT

लोग मोदी सरकार के कार्यकाल में राम मंदिर निर्माण की उम्मीद कर रहे: संघ
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

नई दिल्ली : पीएम नरेंद्र मोदी ने राम मंदिर पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद ही अध्यादेश पर विचार करने का बयान एक इंटरव्यू में दिया। इसके बाद राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सह सरकार्यवाह दत्तात्रेय होसबोले का कहना है कि लोग मोदी सरकार के कार्यकाल में ही मंदिर निर्माण की उम्मीद कर रहे हैं। 2014 में उसे इसीलिए चुना गया था कि राम मंदिर निर्माण के लिए सभी संभव प्रयास किए जा सकें।

ये भी देखें :Interview:PM मोदी ने कहा- राम मंदिर पर अध्यादेश लाने के बारे में अदालती प्रक्रिया के बाद ही विचार



होसबोले ने मोदी के बयान को बीजेपी के 1989 के उस प्रस्ताव के अनुरूप बताया है, जो पालमपुर अधिवेशन में पारित हुआ था।

आपको बता दें, सुप्रीम कोर्ट में इस मसले पर 4 जनवरी को सुनवाई होने वाली है।

ये भी देखें : राम मंदिर पर SC में 4 जनवरी को सुनवाई, निगाहों को इंतजार निर्णय का



Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story