Top

सिर पर पट्टी लगाकर संसद पहुंचे सपा सांसद धर्मेंद्र यादव, UP सरकार पर लगाया ये बड़ा आरोप

धर्मेंद्र यादव ने आरोप लगाया कि प्रयागराज में सपा अध्यक्ष का इंतजार कर रहे पार्टी नेता और कार्यकर्ता जब गांधी प्रतिमा पर माल्यार्पण कर रहे थे तो वहां के पुलिस और प्रशासन के अधिकारियों के नेतृत्व में लाठीचार्ज किया गया।

Dharmendra kumar

Dharmendra kumarBy Dharmendra kumar

Published on 13 Feb 2019 3:41 PM GMT

सिर पर पट्टी लगाकर संसद पहुंचे सपा सांसद धर्मेंद्र यादव, UP सरकार पर लगाया ये बड़ा आरोप
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: समाजवादी पार्टी(सपा) ने उत्तर प्रदेश में पार्टी कार्यकर्ताओं पर पुलिस बल प्रयोग करने का आरोप लगाया है। सपा ने बुधवार को लोकसभा में प्रदेश सरकार और बीजेपी पर जमकर निशाना साधा। तो वगहीं केंद्र सरकार ने कहा कि इस घटनाक्रम से बीजेपी और सरकार का कोई लेना-देना नहीं है।

यह भी पढ़ें......योग महोत्सव का आयोजन, चिदानन्द सरस्वती ने कहा- व्यक्ति को योग्य बनाता है योग

लोकसभा में सपा सांसद धर्मेंद्र यादव ने लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन से यह मांग भी की कि प्रयागराज में उनकी पार्टी के लोगों पर कार्रवाई करने वाले अधिकारियों के खिलाफ विशेषाधिकार हनन के उनके नोटिस को स्वीकार किया जाए। शून्यकाल में सपा के धर्मेंद्र यादव ने मंगलवार को सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव को इलाहाबाद विश्वविद्यालय और कुंभ मेले में नहीं जाने देने का यूपी की योगी सरकार पर आरोप लगाया।

यह भी पढ़ें......प्रियंका गांधी ने सरकारी कर्मचारियों को सरकार बनने पर दिया पुरानी पेंशन का आश्वासन

धर्मेंद्र यादव ने आरोप लगाया कि प्रयागराज में सपा अध्यक्ष का इंतजार कर रहे पार्टी नेता और कार्यकर्ता जब गांधी प्रतिमा पर माल्यार्पण कर रहे थे तो वहां के पुलिस और प्रशासन के अधिकारियों के नेतृत्व में लाठीचार्ज किया गया। यादव का आरोप है कि पुलिस के लाठीचार्ज में उनके समेत पार्टी सांसद, विधायक, विधान परिषद सदस्यों के साथ ही सपा छात्र संगठन के सदस्य और महिलाएं चोटिल हुए। इस दौरान यादव के सिर पर पट्टी बंधी हुई थी।

उन्होंने आरोप लगाया कि राज्य के अधिकारी प्रदेश के मुख्यमंत्री के निर्देश पर और मुख्यमंत्री जिन लोगों के निर्देश पर चल रहे हैं, उनकी लोकतंत्र में कोई आस्था नहीं है।

यह भी पढ़ें......अमेठी: 25 साल पहले मर चुकी महिला पर पुलिस ने दर्ज किया एससी-एसटी केस

यादव ने लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन से मांग की कि उनके समेत पार्टी के अन्य लोकसभा सदस्यों के विशेषाधिकार हनन के नोटिस को स्वीकार किया जाए तथा जिम्मेदार अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की जाए।

केंद्रीय संसदीय कार्य मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि सपा सदस्य ने जो कहा है, उससे सरकार को सहानुभूति है लेकिन इस घटनाक्रम से सरकार और बीजेपी का कोई लेना-देना नहीं है। उन्होंने कहा कि इलाहाबाद विश्वविद्यालय के कुलपति ने प्रशासन को लिखकर दिया कि सपा नेता के कार्यक्रम से अव्यवस्था हो सकती है, इसलिए उन्हें रोकना पड़ा।

Dharmendra kumar

Dharmendra kumar

Next Story