×

ज्योतिरादित्य को बनाएं मप्र का मुख्यमंत्री उम्मीदवार : सत्यव्रत चतुर्वेदी

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 14 Feb 2018 2:47 PM GMT

ज्योतिरादित्य को बनाएं मप्र का मुख्यमंत्री उम्मीदवार : सत्यव्रत चतुर्वेदी
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

अशोकनगर : कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और राज्यसभा सांसद सत्यव्रत चतुर्वेदी ने यहां बुधवार को कहा कि मध्यप्रदेश में मुख्यमंत्री उम्मीदवार के तौर पर ज्योतिरादित्य सिंधिया का नाम जल्द घोषित किया जाना चाहिए। मुंगावली विधानसभा क्षेत्र में हो रहे उपचुनाव के लिए प्रचार करने आए चतुर्वेदी ने कहा, "मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार के तौर पर ज्योतिरादित्य सिंधिया का नाम अभी और तत्काल घोषित किया जाना चाहिए, क्योंकि चुनाव के लिए अभी सिर्फ छह से आठ माह ही बचे हैं। यह अवधि तो पूरे राज्य का दौरा करने और पार्टी के लिए माहौल बनाने में लग जाएगी।"

ये भी देखें : ‘रेप’ के आरोपी कांग्रेस विधायक को मिला ज्योतिरादित्य का साथ

चतुर्वेदी ने आगे कहा कि वह पिछले छह-सात साल से यही मांग करते आ रहे हैं कि सिंधिया को मुख्यमंत्री का उम्मीदवार घोषित किया जाए। उनके नाम का ऐलान जल्द और अभी होना चाहिए, ताकि छह-आठ माह का समय उन्हें मिले, वे पूरे राज्य का दौरा कर सकें और हालात को समझ सकें।

चतुर्वेदी की गिनती माधवराव सिंधिया के करीबियों में रही है। वह इस समय ज्योतिरादित्य सिंधिया के संरक्षक की भूमिका निभा रहे हैं। बुंदेलखंड क्षेत्र से नाता रखने वाले चतुर्वेदी का नाता उस परिवार से है, जो आजादी की लड़ाई में सक्रिय रहा है। उनके पिता बाबूराम चतुर्वेदी राज्य में मंत्री और मां विद्यावती चतुर्वेदी कई बार सांसद रहीं। विद्यावती की गिनती इंदिरा गांधी के करीबियों में रही है।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story