×

पाक आतंकी ने त्राल में रची थी पुलवामा हमले की साजिश, 7 लोगों को हिरासत में लिया

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले के बाद सुरक्षाबलों की कार्रवाई शुरू हो गई है। जम्मू-कश्मीर पुलिस ने साजिश के शक में दक्षिण कश्मीर के 7 लोगों को हिरासत में लिया है। इन संदिग्धों को हिरासत में लिए जाने के बाद एजेंसियों के अधिकारी इनसे पूछताछ कर रहे हैं।

Dharmendra kumar

Dharmendra kumarBy Dharmendra kumar

Published on 16 Feb 2019 4:02 AM GMT

पाक आतंकी ने त्राल में रची थी पुलवामा हमले की साजिश, 7 लोगों को हिरासत में लिया
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

नई दिल्ली: जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले के बाद सुरक्षाबलों की कार्रवाई शुरू हो गई है। जम्मू-कश्मीर पुलिस ने साजिश के शक में दक्षिण कश्मीर के 7 लोगों को हिरासत में लिया है। इन संदिग्धों को हिरासत में लिए जाने के बाद एजेंसियों के अधिकारी इनसे पूछताछ कर रहे हैं। बता दें कि पुलवामा हमले में 38 जवान शहीद हो गए।

साथ ही प्रारंभिक जांच में हमले की साजिश के पुलवामा के त्राल में रचे जाने की बात सामने आई है। त्राल वही इलाका है, जहां साल 2016 में हिज्बुल के टॉप कमांडर बुरहान वानी को सेना ने मार गिराया था।

यह भी पढ़ें.....ऐसे चलता है संयुक्त परिवार, आसान नहीं है इसमें एकजुटता बनाए रखना

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक पुलवामा हमले के कनेक्शन में पुलिस ने जिले के अवंतिपोरा और इसके आसपास के कुछ इलाकों से 7 लोगों को हिरासत में लिया है। माना जा रहा है कि पुलवामा के हमले की पूरी योजना एक पाकिस्तानी नागरिक कामरान ने बनाई थी, जो जैश-ए-मोहम्मद का सदस्य है।

एजेंसियों का मानना है कि कामरान दक्षिण कश्मीर के पुलवामा, अवंतिपोरा और त्राल इलाके में सक्रिय है, ऐसे में उसकी तलाश भी की जा रही है।

यह भी पढ़ें.....ऑनलाइन शॉपिंग का आप भी रखते हैं शौक तो इस खबर पर जरूर डाले नजर

प्रारंभिक जांच के अनुसार दक्षिण कश्मीर के त्राल इलाके के मिदूरा में आतंकी हमले की योजना बनाई गई। त्राल वही इलाका है, जिसे लंबे वक्त तक हिज्बुल मुजाहिदीन का गढ़ माना जाता था। 8 जुलाई 2016 को त्राल में ही हिज्बुल के कमांडर बुरहान वानी को मार गिराया गया था, जिसके एनकाउंटर के बाद 4 महीने तक कश्मीर घाटी में तनावपूर्ण हालात रहे थे।

उच्च स्तरीय सूत्रों के मुताबिक, पुलिस जैश-ए-मोहम्मद के एक अन्य स्थानीय सक्रिय सदस्य की तलाश कर रही है, जिसने पुलवामा हमले के लिए विस्फोटकों का इंतजाम किया था।

यह भी पढ़ें.....शांति की बात करने वालों को गधे पर बैठाकर जड़ो तमाचा, पाकिस्तान का विध्वंस जरूरी: कंगना

शुक्रवार को पुलवामा के हमले के बाद आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने इस हमले की जिम्मेदारी ली थी। हमले के बाद जैश ने इसकी जिम्मेदारी लेते हुए एक वीडियो भी जारी किया था, जिसमें काकापोरा पुलवामा के निवासी स्थानीय आतंकी आदिल अहमद डार के इस हमले को अंजाम देने की बात कही गई थी।

वहीं केंद्र सरकार ने आतंकी हमले की जांच के लिए एनआईए की 12 सदस्यीय टीम का गठन किया था, जिसने कि शुक्रवार सुबह लेथीपोरा स्थित घटनास्थल पर पहुंचकर तमाम सबूत इकट्ठा किए थे।

Dharmendra kumar

Dharmendra kumar

Next Story