चुनाव से पहले देखें क्या कहती है एडीआर रिपोर्ट, हरियाणा के बारे में 

चुनाव सुधार प्रक्रिया से जुड़ी शोध संस्था ‘‘एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स’’ (एडीआर) द्वारा रविवार को जारी किये गये हरियाणा विधानसभा के कामकाज के रिपोर्ट कार्ड के अनुसार राज्य के 90 विधायकों में तोशाम से विधायक किरण चौधरी ने पांच साल में सर्वाधिक 225 सवाल पूछे।

नयी दिल्ली: एडीआर रिपोर्ट में यह देखने में आया कि हरियाणा की 13वीं विधानसभा में पिछले पांच साल में सत्तापक्ष और विपक्ष के सदस्यों द्वारा पूछे गये कुल 1797 सवालों में सबसे अधिक सवाल  विपक्षी दल कांग्रेस की किरण चौधरी ने पूछा है । वहीं, पूर्व मुख्यमंत्री भूपेन्द्र सिंह हुड्डा और पार्टी के वरिष्ठ नेता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने एक भी सवाल नहीं पूछा।

किरण चौधरी ने पांच साल में सर्वाधिक 225 सवाल पूछे

चुनाव सुधार प्रक्रिया से जुड़ी शोध संस्था ‘‘एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स’’ (एडीआर) द्वारा रविवार को जारी किये गये हरियाणा विधानसभा के कामकाज के रिपोर्ट कार्ड के अनुसार राज्य के 90 विधायकों में तोशाम से विधायक किरण चौधरी ने पांच साल में सर्वाधिक 225 सवाल पूछे।

ये भी देखें : पड़ोसी की लड़की को देखकर गाते थे अश्लील गाने, अब मिलेगी सजा

सूचना के अधिकार (आरटीआई) के तहत एडीआर द्वारा जुटायी गयी जानकारी के आधार पर संस्था द्वारा जारी रिपोर्ट के अनुसार सवाल पूछने के मामले में दूसरे स्थान पर डबवाली से विधायक नैना सिंह चौटाला रहीं।

जननायक जनता पार्टी की नेता नैना चौटाला ने सदन में कुल 180 सवाल पूछे

रिपोर्ट कार्ड में पिछली विधानसभा में एक भी सवाल नहीं पूछने वाले 16 विधायकों में मुख्यमंत्री मनोहर लाल और उनके मंत्रिमंडल के सदस्यों को भी शामिल किया गया है। इन 12 सदस्यों के अलावा अन्य चार सदस्य कांग्रेस के गढ़ी सांपला किलोई सीट से विधायक हुड्डा और कैथल से विधायक सुरजेवाला, बेरी से विधायक रघुवीर सिंह कादियाद और मेहम से विधायक आनंद सिंह दांगी शामिल हैं।

एडीआर को विधानसभा सचिवालय ने विधायकों की सदन में उपस्थिति की जानकारी देने से इंकार कर दिया। विधानसभा सचिवालय ने दलील दी है कि इस तरह की सूचनाओं को विधानसभा की कार्यवाही संबंधी नियमों और आरटीआई अधिनियम के प्रावधानों के तहत सार्वजनिक नहीं किया जा सकता है।

ये भी देखें : नहीं मिल रहीं भक्तों को खिलाने के लिए देवी स्वरूपा कन्याएं

174 विधयेकों में से 170 विधेयक पारित किये गये

रिपोर्ट कार्ड के अनुसार पांच साल में विधानसभा के पटल पर पेश किये गये 174 विधयेकों में से 170 विधेयक पारित किये गये। विधानसभा की बैठक साल में औसतन 15 दिन चली और पांच साल के दौरान सदन की कुल 73 बैठकें संपन्न हुयी।(यह आर्टिकल एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड हुआ है। इसे नवभारतटाइम्स.कॉम की टीम ने एडिट नहीं किया है।)

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App