चीनी सेना मारी जाएगी: बैलेस्टिक मिसाइल से होगा हमला, नहीं बचेगा दुश्मन देश

भारत की तरफ से दुश्मनों को धूल चटाने में शौर्य मिसाइल के नए संस्करण का सफल परीक्षण है। शौर्य मिसाइल परमाणु क्षमता रखने वाली मिसाइल है। सबमरीज लॉन्च्ड बैलेस्टिक मिसाइल होती है। इसे रक्षा रिसर्च और विकास संस्थान(DRDO) ने विकसित किया।

Air-launched missile

मिसाइल (फोटो-सोशल मीडिया)

नई दिल्ली। वैसे तो इन दिनों चीन की कई देशों से तनातनी चल रही है। लेकिन भारत से बीते 8 महीनों से चीन के साथ रिश्ते खराब होने के साथ-साथ पाकिस्तान भी उसी की चाल चलने लगा है। ऐसे में हालातों को देखते हुए भारत का नई मिसाइलों का सफल परीक्षण करना अहम हो जाता है। इन्हीं के चलते 3 अक्तूबर को भारत ने शौर्य मिसाइल के नए संस्करण का सफल परीक्षण किया था। जिसके बाद से ये मिसाइल फैमिली की हिस्सा है। चलिए आपको बताते हैं क्या है इस मिसाइल की महत्वपूर्ण बातें।

ये भी पढ़ें… मां दुर्गा को नुकसान: पाकिस्तान ने की सबसे नीच हरकत, पूरे देश में आक्रोश

सबमरीज लॉन्च्ड बैलेस्टिक मिसाइल

भारत की तरफ से दुश्मनों को धूल चटाने में शौर्य मिसाइल के नए संस्करण का सफल परीक्षण है। शौर्य मिसाइल परमाणु क्षमता रखने वाली मिसाइल है। सबमरीज लॉन्च्ड बैलेस्टिक मिसाइल होती है। इसे रक्षा रिसर्च और विकास संस्थान(DRDO) ने विकसित किया।

ये भी पढ़ें…मध्य प्रदेश उपचुनाव से पहले कांग्रेस के एक और विधायक ने दिया इस्तीफा

 missile
फोटो-सोशल मीडिया

इसका नाम पूर्व राष्ट्रपति और मिसाइलमैन के नाम पर नाम रखा गया। बता दें, इस मिसाइल के विकास का कार्यक्रम 1990 के दशक में शुरू हुआ था। नए संस्करण वाली मिसाइल की रेंज 6,000 किमी तक है।

युद्ध के मोर्चे पर

भारत पहले कई बार के-4 मिसाइलों का सफल परीक्षण कर चुका है, जिनकी रेंज 3,500 किमी तक रही है। साथ ही के-5 और के-6 कोडनेम वाली मिसाइलें विकसित की जा रही हैं, उनकी रेंज 5,000-6,000 किमी तक होगी।

ये भी पढ़ें…युद्ध को तैयार देश: अब नहीं बचेगा चीन, युद्धाभ्यास में कई देश की सेनाएं शामिल

बीते कई दिनों से पाकिस्तान और चीन दोनों ही पड़ोसी और दुश्मनी पर उतारू देशों के साथ भारत समुद्र में भी युद्ध के मोर्चे पर है। ऐसे में एक तरफ चीन परमाणु क्षमता वाली कई सबमरीन विकसित कर चुका है, इसलिए भारत के लिए जवाबी कार्रवाई के लिए के-फैमिली की मिसाइलों का सफल परीक्षण करना बहुत जरूरी और अहम हो जाता है।

हालाकिं ये मिसाइलें सबमरीन पनडुब्बियों से भी लॉन्च की जा सकती है। ये मिसाइलें हल्की, छोटी और पकड़ में ना आने वाली मिसाइल हैं। लेकिन के-फैमिली की अधिकतर मिसाइलें सबमरीन लॉन्च ही हैं।

ये भी पढ़ें…धमाके में उड़े 30 लोग: सड़कों पर बिछ गईं सबकी लाशें, हर तरफ चीखें ही चीखें

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App