Top
TRENDING TAGS :Coronavirusvaccination

पाक में रची गयी बुखारी की हत्या की साजिश

seema

seemaBy seema

Published on 29 Jun 2018 7:50 AM GMT

पाक में रची गयी बुखारी की हत्या की साजिश
X
पाक में रची गयी बुखारी की हत्या की साजिश
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली : राइजिंग कश्मीर के संपादक शुजात बुखारी की हत्या के मामले में जम्मू-कश्मीर पुलिस ने बड़ा खुलासा किया है। बुखारी की हत्या की साजिश पाकिस्तान में रची गयी और इस हत्याकांड को लश्कर-ए-तैयबा के आतंकियों ने अंजाम दिया। जम्मू-कश्मीर पुलिस ने इस घटना को अंजाम देने वाले हत्यारों का स्केच भी जारी कर दिया है।

पुलिस ने अनंतनाग में लश्कर के आतंकी आजाद अहमद मलिक, मुजफ्फर अहमद भट और नवीद जट्ट की तस्वीरें साझा की हैं। कश्मीर के आईजी एसपी पाणि ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर मीडिया से आरोपियों की तस्वीरें साझा कीं। वरिष्ठ अधिकारी ने खुलासा किया कि पुलिस के पास इस बात के पर्याप्त सबूत हैं कि पत्रकार की हत्या में पाकिस्तान की संलिप्तता थी। आरोपियों में शामिल नावीद जट्ट पिछले दिनों श्रीनगर के अस्पताल से भाग निकला था। नावीद जट्ट पाकिस्तान का है और लश्कर से जुड़ा है।

जाने-माने पत्रकार थे बुखारी

मालूम हो कि राजधानी श्रीनगर में 14 जून को वरिष्ठ पत्रकार शुजात बुखारी और उनके दो सुरक्षाकर्मियों की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। हत्यारे बाइक पर सवार होकर आए थे, जिसका फुटेज सीसीटीवी में रिकॉर्ड हो गया था। हालांकि उनका चेहरा नहीं दिख रहा था क्योंकि हमलावरों ने हेलमेट पहन रखा था। बुखारी एक समय द हिंदू अखबार के ब्यूरो चीफ भी रह चुके थे। उन्हें पत्रकारिता के लिए कई अंतरराष्ट्रीय फेलोशिप मिली थी। बुखारी की हत्या ऐसे समय हुई जब कश्मीर में ये बहस चल रही थी कि रमजान के बाद भी कश्मीर में संघर्ष विराम बढ़ाया जाए या नहीं। आतंकियों ने प्रेस कॉलोनी में उनकी गाड़ी को निशाना बनाया। अस्पताल ले जाते समय बुखारी की मौत हो गई थी। उन पर पहले भी हमला हुआ था। साल 2000 में हमले के बाद उन्हें सुरक्षा दी गई थी। उनके पिता भी पत्रकार थे। महबूबा सरकार में उनके भाई सैयद बशरत बुखारी कश्मीर के कानून मंत्री थे।

seema

seema

सीमा शर्मा लगभग ०६ वर्षों से डिजाइनिंग वर्क कर रही हैं। प्रिटिंग प्रेस में २ वर्ष का अनुभव। 'निष्पक्ष प्रतिदिनÓ हिन्दी दैनिक में दो साल पेज मेकिंग का कार्य किया। श्रीटाइम्स में साप्ताहिक मैगजीन में डिजाइन के पद पर दो साल तक कार्य किया। इसके अलावा जॉब वर्क का अनुभव है।

Next Story