स्मृति ने ट्वीट कर कांग्रेस को लिया निशाने पर कही ये बड़ी बात    

स्मृति ईरानी ने बायोग्राफिक शेयर करते हुए दर्शाया है कि 2004 में एनडीए की सरकार ने 1965 एवं 1971 के युद्ध में उत्पीड़ित हुए हिंदू शरणार्थियों को गुजरात एवं राजस्थान में बसाने के लिए ‘नागरिकता का़नून’ में संशोधन किया 2006 में पुनः यूपीए ने कथित संशोधन की अवधि बढ़ाई।

Published by SK Gautam Published: December 19, 2019 | 6:15 pm
Modified: December 19, 2019 | 6:16 pm

अमेठी: केंद्रीय मंत्री एवं अमेठी सांसद स्मृति ईरानी ने नागरिक संशोधन बिल के मुद्दे पर ट्वीट कर कांग्रेस पर बड़ा हमला बोला है। स्मृति ईरानी ने लिखा कि 2005-06 में जिस कांग्रेस ने यूपीए सरकार होते हुए उत्पीड़ित हिन्दू शरणार्थियों से जुड़े 2004 में पारित कानून को नोटिफ़िकेशन के माध्यम से आगे बढ़ाया था, आज वही कांग्रेस वामपंथियों के साथ मिलकर देश के युवाओं को ‘नागरिकता संशोधन कानून’ विषय पर दिग्भ्रमित कर देश में उन्माद क्यूं फैला रही है?

ये भी देखें : CAA पर हिंसा के बीच ममता बनर्जी का विवादित बयान, देश में मचेगा बवाल

स्मृति ईरानी ने बायोग्राफिक शेयर करते हुए दर्शाया है कि 2004 में एनडीए की सरकार ने 1965 एवं 1971 के युद्ध में उत्पीड़ित हुए हिंदू शरणार्थियों को गुजरात एवं राजस्थान में बसाने के लिए ‘नागरिकता का़नून’ में संशोधन किया 2006 में पुनः यूपीए ने कथित संशोधन की अवधि बढ़ाई।

उन्होंने ये भी दर्शाया है कि 2019 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार जब पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान के उत्पीड़ित हिंदुओ के साथ-साथ जैन, बौद्ध, सिख, पारसी और ईसाई धर्म के लोगों को नागरिकता दे रही है तब कांग्रेस और उसके साथी दल वामपंथियों के साथ मिलकर देश में अराजकता का माहौल क्यों बना रहे हैं? कांग्रेस अपने ही द्वारा लाए गए राजपत्र को नकार रही है।

ये भी देखें : #CAB Bill Protest Lucknow फूक डाली चौकी जान बचाकर भागा दरोगा

2003 में जो मनमोहन सिंह राज्यसभा में बांग्लादेश और पाकिस्तान में उत्पीड़ित हिंदुओ को नागरिकता देने की बात कर रहे थे वह आज भारत में उसी बिल का विरोध कर रही है। मनमोहन सिंह पार्टी की करतूतों पर चुप क्यों हैं।