×

ट्रेन में खर्राटे लेने वाले को सहयात्रियों ने दी ऐसी सजा,...कई घंटे उसे ही सोने नहीं दिया

aman

amanBy aman

Published on 15 Feb 2018 7:19 AM GMT

ट्रेन में खर्राटे लेने वाले को सहयात्रियों ने दी ऐसी सजा,...कई घंटे उसे ही सोने नहीं दिया
X
ट्रेन में खर्राटे लेने वाले को सहयात्रियों ने दी ऐसी सजा,...कई घंटे उसे ही सोने नहीं दिया
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

मुंबई: अकसर ट्रेन से सफर के दौरान खर्राटा भरने वाले लोग सहयात्रियों के लिए परेशानी बढ़ा देते हैं। खर्राटों से उनकी बोगी के अधिकतर यात्रियों की नींद हराम हो जाती है। लेकिन जब यही खर्राटा यदि किसी को भारी पड़ जाए तो सोचिए क्या होगा।

ऐसा ही कुछ पिछले हफ्ते एलटीटी दरभंगा पवन एक्सप्रेस के थर्ड एसी डिब्बे में हुआ। जब तेज आवाज में खर्राटे भर रहे एक यात्री से लोग इतने परेशान हुए कि उन्होंने उसे कुछ घंटे ना सोने की सजा दी। ताकि बाकी लोग अपनी नींद पूरी कर सकें।

एक खबरिया चैनल के मुताबिक, पश्चिम मध्य रेलवे के मुख्य टिकट निरीक्षक गणेश एस. विरहा ने बताया, कि वह सवेरे 5 बजे जबलपुर से इस गाड़ी में चढ़े तो रामचंद्र नाम के एक यात्री को उनके सहयात्रियों ने ना सोने की सजा दे रखी थी। इसकी वजह उन्होंने उसके जोर-जोर से खर्राटा लेने को बताया। उसके खर्राटे के कारण बाकी यात्री सो ही नहीं पा रहे थे। रामचंद्र ने शुरू में तो इस बात का विरोध किया, लेकिन कुछ देर बाद वह इस बात के लिए तैयार हो गया कि बाकी यात्री आराम से सो सकें इसलिए वह कुछ घंटे नहीं सोएंगे।

मुख्य टिकट निरीक्षक के अनुसार रामचंद्र ने इस संबंध में कोई शिकायत करने से इंकार किया। बाद में सभी यात्री एक-दूसरे के साथ हंसते बात करते रहे।

aman

aman

अमन कुमार, सात सालों से पत्रकारिता कर रहे हैं। New Delhi Ymca में जर्नलिज्म की पढ़ाई के दौरान ही ये 'कृषि जागरण' पत्रिका से जुड़े। इस दौरान इनके कई लेख राष्ट्रीय, अंतरराष्ट्रीय और कृषि से जुड़े मुद्दों पर छप चुके हैं। बाद में ये आकाशवाणी दिल्ली से जुड़े। इस दौरान ये फीचर यूनिट का हिस्सा बने और कई रेडियो फीचर पर टीम वर्क किया। फिर इन्होंने नई पारी की शुरुआत 'इंडिया न्यूज़' ग्रुप से की। यहां इन्होंने दैनिक समाचार पत्र 'आज समाज' के लिए हरियाणा, दिल्ली और जनरल डेस्क पर काम किया। इस दौरान इनके कई व्यंग्यात्मक लेख संपादकीय पन्ने पर छपते रहे। करीब दो सालों से वेब पोर्टल से जुड़े हैं।

Next Story