विवादों के बीच CM उद्धव ठाकरे से मिले सोनू सूद, कही ये बड़ी बात

देश भर में हजारों मजदूरों को उनके घर पहुंचाने को लेकर एक्टर सोनू सूद की हर तरफ तारीफ हो रही है। प्रवासी मजदूरों को घर भेजने में फिल्म स्टार सोनू सूद ने जो मदद की,  उस पर भी राजनीति होने लगी है। शिवसेना के अखबार सामना में सोनू सूद को बीजेपी की कठपुतली बताया गया है।

मुंबई देश भर में हजारों मजदूरों को उनके घर पहुंचाने को लेकर एक्टर सोनू सूद की हर तरफ तारीफ हो रही है। प्रवासी मजदूरों को घर भेजने में फिल्म स्टार सोनू सूद ने जो मदद की,  उस पर भी राजनीति होने लगी है। शिवसेना के अखबार सामना में सोनू सूद को बीजेपी की कठपुतली बताया गया है।

 

 

यह पढ़ें…डीएम ने दिए धर्मगुरुओं को निर्देश, कोरोना संकट से लड़ने में निभाएं ये जिम्मेदारी

 

 

 

 

इन विवादों के बीच सोनू सूद महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री  उद्धव ठाकरे से मिलने उनके आवास मातोश्री गए। सोनू सूद के साथ कांग्रेस नेता और प्रदेश के मौजूदा कपड़ा मंत्री असलम शेख भी मातोश्री पहुंचे थे। मुलाकात के बाद सोनू सूद ने कहा कि यह किसी राजनीतिक पार्टी का मामला नहीं है…इस मामले में कोई मतभेद भी नहीं है क्योंकि कश्मीर से लेकर कन्याकुमारी तक सबने मेरा समर्थन (प्रवासियों को घर भेजने में) किया है। बता दें, प्रवासी मजदूरों को उनके घर भेजने को लेकर शिवसेना नेता संजय राउत ने सोनू सूद की आलोचना की है। इसके बाद यह विवाद काफी बढ़ गया है। इस मुलाकात के बाद संयज राउत ने एक ट्वीट किया और लिखा कि आखिर सोनू सूद को महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री का पता मिल गया, वो मातोश्री पहुंच गए, जय महाराष्ट्र।

इस पर बीजेपी ने कहा कि जो काम सोनू सूद ने किया, वह राज्य सरकार को करना चाहिए था। बीजेपी की प्रवक्ता श्वेता शालिनी ने ट्विटर पर सोनू सूद के नाम खुला पत्र पोस्ट किया है, जिसमें उन्होंने इस मसले को राजनीतिक रंग दिए जाने पर नाराजगी व्यक्त की है। संजय राउत के ट्वीट के बाद मंत्री आदित्य ठाकरे का भी बयान आया। आदित्य ठाकरे ने सोनू सूद को अच्छा इंसान बताया। आदित्य ठाकरे ने कहा, आज (रविवार) शाम सोनू सूद प्रदेश मंत्री असलम शेख के साथ मुख्यमंत्री आदित्य ठाकरे और हमसे मिले। एक साथ मिलकर लोगों का सहयोग करना अच्छा होता है। एक अच्छे इंसान से मिलकर अच्छा लगा।

 

 पक्ष में कांग्रेस

मुंबई कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष संजय निरुपम ने कहा कि लॉकडाउन में सूद ने बहुत अच्छा काम किया है। उनके काम की सराहना की जानी चाहिए। लेकिन ऐसा करने की बजाय शिवसेना सूद की आलोचना कर रही है। जो भी शख्स संकट के समय अच्छा काम करेगा  उसकी तारीफ होगी।

 

यह पढ़ें…राजनीति का तगड़ा खेल: 16 प्रशासनिक अधिकारियों के किए गए तबादले

 

पूरा  मामला

शिवसेना नेता संजय राउत ने रविवार को कहा कि सोनू सूद बेहतरीन एक्टर है। फिल्मों के लिए एक अलग निर्देशक होता है। उन्होंने जो काम किया है वह अच्छा है लेकिन इस बात की संभावना है कि उनके पीछे एक राजनीतिक निर्देशक हो। इससे पहले भी, संजय राउत ने सोनू सूद पर सवाल उठाते हुए कहा था कि वह बहुत चालाकी से ‘महात्मा’ सूद बनने की ओर हैं। रविवार को शिवसेना के मुखपत्र ‘सामना’ में संजय राउत ने पूछा कि ‘आखिर जब लॉकडाउन में लोगों को कहीं आने-जाने की अनुमति नहीं है तो बिना किसी राजनीतिक दल की मदद के उन्हें बसें कैसे मिल जा रही हैं?’ राउत ने लिखा कि लॉकडाउन में अचानक एक नया ‘महात्मा’ सूद आया है। जब राज्य सरकारें किसी प्रवासी मजदूर को कहीं जाने की अनुमति नहीं दे रही हैं तो वो कहां जा रहे हैं?’ सोनू सूद पर हमला करते हुए राउत ने यहां तक कहा कि बहुत जल्दी ही वो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिल सकते हैं और मुंबई के सेलिब्रिटी मैनेजर बन सकते हैं।

 

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App