×

WFI Body Suspended: खेल मंत्रालय के एक्शन पर आया संजय सिंह का ये रिएक्शन, बृजभूषण जेपी नड्डा से मिलने पहुंचे

WFI Body Suspended: बीते गुरूवार को संघ के चुनाव नतीजे आए थे, जिसमें पूर्व प्रमुख और बीजेपी सांसद बृजभूषण शरण सिंह के करीबी संजय सिंह ने जीत हासिल की थी।

Krishna Chaudhary
Published on: 24 Dec 2023 5:49 AM GMT (Updated on: 24 Dec 2023 8:04 AM GMT)
WFI Body Suspended: खेल मंत्रालय के एक्शन पर आया संजय सिंह का ये रिएक्शन, बृजभूषण जेपी नड्डा से मिलने पहुंचे
X

WFI Body Suspended: नए कुश्ती संघ के चुनाव नतीजे आने के बाद से पहलवानों में भारी नाराजगी देखी जा रही है। अब इस मामले में केंद्रीय खेल मंत्रालय की ओर से बड़ी कार्रवाई की गई है। केंद्र ने नए कुश्ती संघ को निलंबित कर दिया है। बीते गुरूवार को संघ के चुनाव नतीजे आए थे, जिसमें पूर्व प्रमुख और बीजेपी सांसद बृजभूषण शरण सिंह के करीबी संजय सिंह ने जीत हासिल की थी। इसके विरोध में महिला पहलवान साक्षी मलिक ने कुश्ती से सन्यास लेने की घोषणा कर दी और बजरंग पुनिया ने अपना पद्मश्री प्रधानमंत्री आवास के बाहर रख दिया था।

खेल मंत्रालय ने कुश्ती संघ के नए प्रमुख संजय सिंह द्वारा लिए गए सभी फैसलों पर भी रोक लगा दी है। मंत्रालय ने अगले आदेश तक किसी भी तरह की गतिविधि पर रोक लगा दी है। ऊपर से आए निर्देश में कहा गया कि ऐसा लगता है कि पुराने पदाधिकारी ही भारतीय कुश्ती संघ के सारे फैसले ले रहे हैं। खेल मंत्रालय के इस फैसले को बृजभूषण शरण सिंह के लिए बड़ा झटका माना जा रहा है। इससे पहले संजय सिंह की जीत को कुश्ती संघ पर उनकी जबरदस्त पकड़ के रूप में देखा जा रहा था।

संजय सिंह की आई पहली प्रतिक्रिया

खेल मंत्रालय एक एक्शन पर संजय सिंह की पहली प्रतिक्रिया सामने आई है। रांची एयरपोर्ट पर मीडिया से बात करते हुए उन्होंने कहा,"मैं फ्लाइट में था। मुझे अभी तक कोई पत्र नहीं मिला है। पहले मुझे पत्र देखने दीजिए, उसके बाद ही मैं कोई टिप्पणी करूंगा।" संजय सिंह के गुट से जुड़े एक सूत्र ने बताया कि खेल मंत्रालय के निलंबन के फैसले को कोर्ट में चुनौती देने पर गंभीरता से विचार किया जा रहा है। लीगल टीम ने मंत्रालय के आदेश की स्टडी शुरू कर दी है।

जेपी नड्डा से मिलने पहुंचे बृजभूषण

खेल मंत्रालय के एक्शन से सबसे बड़ा झटका कुश्ती संघ के पूर्व प्रमुख और कैसरगंज से लोकसभा सांसद बृजभूषण शरण सिंह को लगा है। गुरूवार को नतीजे आने के बाद सिंह काफी खुश नजर आ रहे थे और इशारों-इशाकों में उन्होंने उनके खिलाफ मोर्चा खोलने वालों को सुना भी दिया था। लेकिन अब वो एक बार फिर बैकफुट पर नजर आ रहे हैं। बृजभूषण सिंह बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से मिलने पहुंचे हैं। सूत्रों की मानें तो मुलाकात के बाद वो कोई बड़ा फैसला ले सकते हैं।

गुरूवार को आए थे नतीजे

नए कुश्ती संघ के चुनाव नतीजे बीते गुरूवार को आए थे। जिसमें उत्तर प्रदेश कुश्ती संघ के उपाध्यक्ष संजय सिंह ने राष्ट्रमंडल खेलों की पूर्व स्वर्ण पदक विजेता अनिता श्योराण को बड़े अंतर से हरा दिया था। संजय को जहां 40 वोट मिले थे, वहीं अनिता महज सात वोट ही हासिल कर पाई थीं। कुश्ती संघ के अन्य पदों पर भी बृजभूषण समर्थकों की जीत हुई थी। इन चुनाव नतीजों से बृजभूषण के खिलाफ यौन उत्पीड़न के आरोप लगाने वाले पहलवान काफी निराश हुए थे।

पुनिया ने फैसले का किया स्वागत

ओलंपिक में मेडल जीतने वाली देश की पहली महिला पहलवान साक्षी मलिक ने रोते हुए कुश्ती से सन्यास लेने का ऐलान किया था। अगले दिन यानी शुक्रवार 22 दिसंबर को ओलंपिक में देश के लिए मेडल जीतने वाले एक अन्य रेसलर बजरंग पुनिया ने 2019 में मिली पद्मश्री सम्मान को प्रधानमंत्री आवास के बाहर जाकर रख दिया। पुनिया ने पीएम मोदी को भी एक खत लिखा था। खेल मंत्रालय के ताजा फैसले पर बजरंग पुनिया ने कहा कि अगर ये फैसला लिया गया है तो बिलकुल ठीक लिाय गया है। जो हमारी बहन बेटियों के साथ हो रहा है। ऐसे लोगों का सभी फेडरेशन से सफाया होना चाहिए।

पहलवानों को बीजेपी सांसद रमेश बिधूड़ी ने दी नसीहत

कुश्ती संघ के चुनाव नतीजों का विरोध कर रहे पहलवानों को दिल्ली से बीजेपी सांसद रमेश बिधूड़ी ने नसीहत दी है। उन्होंने कहा कि खिलाड़ियों को प्रैक्टिस पर ध्यान देना चाहिए, किसी के हाथ की कठपुतली नहीं बनना चाहिए। खिलाड़ियों को खिलाड़ी वाली मानसिकता ही रखनी चाहिए। उन्हें किसी के हाथ का हथियार नहीं बनना चाहिए। पिछली बार उन्हें हरियाणा के नेता अपने राजनीतिक फायदे के लिए उन्हें लेकर आगे आए थे। इसके चलते उनका करियर खराब हो गया था।

Snigdha Singh

Snigdha Singh

Leader – Content Generation Team

Hi! I am Snigdha Singh from Kanpur. I Started career with Jagran Prakashan and then joined Hindustan and Rajasthan Patrika Group. During my career in journalism, worked in Kanpur, Lucknow, Noida and Delhi.

Next Story