×

SSC पेपर लीक: प्रदर्शन कर रहे छात्र गृहमंत्री से मिले, कार्रवाई का भरोसा

aman

amanBy aman

Published on 4 March 2018 6:24 AM GMT

SSC पेपर लीक: प्रदर्शन कर रहे छात्र गृहमंत्री से मिले, कार्रवाई का भरोसा
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

नई दिल्ली: राष्ट्रीय राजधानी के सीजीओ कॉम्प्लेक्स में स्टाफ सेलेक्शन कमीशन (एसएससी) की दफ्तर के बाहर पेपर लीक मामले पर छात्रों का प्रदर्शन जारी है। एक हफ्ते से जारी इस प्रदर्शन को रविवार (04 मार्च) को अन्ना हजारे का साथ मिला। आजा समाजसेवी अन्ना हजारे सीजीओ कॉम्प्लेक्स पहुंचे और विरोध प्रदर्शन में शामिल एसएससी छात्रों से मुलाकात की।

दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष मनोज तिवारी नाराज छात्रों के साथ आज गृहमंत्री राजनाथ सिंह से भी मिले। इस मुलाकात के बाद मनोज तिवारी ने कहा, 'गृहमंत्री ने छात्रों की बातें सुनीं और आवश्यक कार्रवाई का भरोसा दिया।'

ज्ञात हो, कि एसएससी द्वारा आयोजित सीजीएल- 2017 के 'टियर- 2' परीक्षा के प्रश्नपत्र और आंसर की लीक हो गई थी। इसके बाद से छात्रों ने प्रदर्शन करना शुरू कर दिया। छात्रों ने पेपर लीक होने पर आरोप लगाते हुए एसएससी की परीक्षा में बड़े स्तर पर हो रही गड़बड़ी की सीबीआई जांच कराने की मांग की है, ताकि दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई हो सके।

इससे पहले दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष मनोज तिवारी शनिवार को प्रदर्शन छात्रों से मिले थे। उन्होंने छात्रों के दुख को अपना दुख बताकर सीबीआई जांच का भरोसा दिया। इस दौरान छात्रों ने मांग रखी कि जब तक इस मामले की सीबीआई जांच के आदेश नहीं दिए जाते हैं, तब तक वो वहां से नहीं हटेंगे।



aman

aman

अमन कुमार, सात सालों से पत्रकारिता कर रहे हैं। New Delhi Ymca में जर्नलिज्म की पढ़ाई के दौरान ही ये 'कृषि जागरण' पत्रिका से जुड़े। इस दौरान इनके कई लेख राष्ट्रीय, अंतरराष्ट्रीय और कृषि से जुड़े मुद्दों पर छप चुके हैं। बाद में ये आकाशवाणी दिल्ली से जुड़े। इस दौरान ये फीचर यूनिट का हिस्सा बने और कई रेडियो फीचर पर टीम वर्क किया। फिर इन्होंने नई पारी की शुरुआत 'इंडिया न्यूज़' ग्रुप से की। यहां इन्होंने दैनिक समाचार पत्र 'आज समाज' के लिए हरियाणा, दिल्ली और जनरल डेस्क पर काम किया। इस दौरान इनके कई व्यंग्यात्मक लेख संपादकीय पन्ने पर छपते रहे। करीब दो सालों से वेब पोर्टल से जुड़े हैं।

Next Story