×

ताज महोत्सव के आखिरी दिन मचा बवाल, पलाश मुच्छाल ने आयोजकों को जड़ा थप्पड़

Charu Khare

Charu KhareBy Charu Khare

Published on 28 Feb 2018 5:07 AM GMT

ताज महोत्सव के आखिरी दिन मचा बवाल, पलाश मुच्छाल ने आयोजकों को जड़ा थप्पड़
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

आगरा। उत्तर प्रदेश के आगरा में चल रहे 10 दिवसीय ताज महोत्सव का आखिरी दिन जंग का मैदान बन गया। यहां मंगलवार की रात को शिल्पग्राम के मुक्ताकाशीय मंच पर सिंगर व आयोजक के बीच हाथापाई हो गई। यह विवाद गायिका पलक मुच्छाल और गजल गायक सुधीर नारायण के बीच हुआ। गायिका पलक ने उनकी मां के साथ बदसलूकी का आरोप लगाया और बीच में ही शो छोड़कर चली गईं।

Related imageदरअसल, देर रात जब 'मेरी आशिकी अब तुम ही हो ' फेम फीमेल सिंगर 'पलक मुच्छल' मंच पर अपनी प्रस्तुति दे रहीं थीं, तभी उनके भाई 'पलाश मुच्छाल' अचानक स्टेज पर पहुंचे और पलक के हाथ से माइक लेकर जमीन पर पटक दिया।

इसके बाद पलाश ने बताया कि, कार्यक्रम आयोजन समिति के आयोजकों ने उनकी मां से बदतमीजी की है। पलक के भाई ने आयोजन समिति के सदस्य से मां से दु‌र्व्यवहार का आरोप लगाते हुए मंच पर हंगामा किया। इस हंगामे के बीच सिंगर पलक ने कार्यक्रम को बीच में ही छोड़ दिया।Image result for palak muchhal at taj mahotsavपलाश के इन आरोपों को सुनते ही आयोजक दुर्यव्यवहार वाली बात नकारने लगे। सदस्यों के झूठ को सुनते ही पलाश बौखला उठे, और आयोजकों से हाथापाई करने लगे।

Image result for palak muchhal at taj mahotsavइसके बाद, सिंगर पलक ने मंच से कहा कि, मेरी मां के साथ ऐसा व्यवहार करने की हिम्मत कैसे हुई। अभी माफी मांगो हाथ जोड़कर। पलक ने दर्शकों से कहा कि अगर कोई आपकी मां के साथ ऐसा करे तो आप क्या करोगे? दर्शकों ने हूटिंग शुरू करते हुए हंगामा शुरू कर दिया। पुलिस ने किसी तरह स्थिति को संभाला। पलक, पलाश और उनकी मां मंच छोड़कर ग्रीन रूम में चले गए। काफी देर तक उन्हें मनाने का सिलसिला चला। जिसके बाद लगभग सवा बारह के आस पास पलक अपने माँ और भाई के साथ होटल वापिस चली गयी।

Image result for palak muchhal at taj mahotsavबता दें कि, पलक की प्रस्तुति के दौरान एक गीत खत्म हुआ तो सांस्कृतिक संयोजक और गजल गायक सुधीर नारायण ने उनके पास जाकर होली का एक गीत गाने की फरमाइश की। आरोप है कि उनकी इस फरमाइश को सुनकर मंच पर मौजूद पलक की मां भड़क गईं। इसके बाद सुधीर नारायण और उनके बीच कहासुनी होने लगी।

ताजमहोत्सव के मुक्ताकाशीय मंच पर मंगलवार को प्रस्तुति का अंतिम दिन था। गायिका पलक मुच्छाल मंच पर प्रस्तुति दे रही थीं। यहां आयोजन समिति के सांस्कृतिक संयोजक और गजल गायक सुधीर नारायण और पर्यटन विभाग के अधिकारी मंच के एक ओर बैठे थे।

Image result for palak muchhal and palash muchhalपलक की प्रस्तुति के दौरान एक गीत खत्म हुआ तो सुधीर नारायण ने उनके पास जाकर होली का एक गीत गाने की फरमाइश की। आरोप है कि उनकी इस फरमाइश को सुनकर मंच पर मौजूद पलक की मां भड़क गईं। इसके बाद सुधीर नारायण और उनके बीच कहासुनी होने लगी।

पलक की मां ने सुधीर से कहा कि वह किस हैसियत से मंच पर मौजूद हैं। चलिए हटिए यहां से। इस पर सुधीर ने कहा कि वह नहीं हटेंगे। आरोप है कि इस बात पर पलक के भाई पलाश मुच्छाल सुधीर की तरफ लपके, जिसके बाद दोनों में मंच पर ही हाथापाई शुरू हो गई।

Image result for palak muchhal and palash muchhalइस पूरे वाकये पर डीएम गौरव दयाल ने बताया कि, महोत्सव आयोजन समिति के सदस्यों की कोई गलती नहीं थी। उन्होंने एक गीत सुनाने की फरमाइश की थी। फरमाइश करना कोई अपराध नहीं है। गलती पलक और पलाश की है, उन्हें ऐसा नहीं करना चाहिए था।

Charu Khare

Charu Khare

Next Story