×

रामलला की जमीन को रातोंरात VHP के हवाले कर दिया जाए: सुब्रमण्यम स्वामी

अयोध्या में राम मंदिर मुद्दे पर बीजेपी के वरिष्ठ नेता और राज्यसभा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने बड़ा बयान दिया है। सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा कि राम मंदिर निर्माण में भले ही देर लगे, लेकिन मंदिर उसी स्थान पर बनेगा।

Dharmendra kumar

Dharmendra kumarBy Dharmendra kumar

Published on 10 Feb 2019 6:31 AM GMT

रामलला की जमीन को रातोंरात VHP के हवाले कर दिया जाए: सुब्रमण्यम स्वामी
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

नई दिल्ली: अयोध्या में राम मंदिर मुद्दे पर बीजेपी के वरिष्ठ नेता और राज्यसभा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने बड़ा बयान दिया है। सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा कि राम मंदिर निर्माण में भले ही देर लगे, लेकिन मंदिर उसी स्थान पर बनेगा।

दिल्ली विश्वविद्यालय में 'श्रीराम जन्मभूमि आंदोलन राष्ट्रीय पुनर्जागरण' विषय पर राष्ट्रीय संगोष्ठी में सुब्रमण्यम स्वामी ने यह बयान दिया। उन्‍होंने कहा कि लोकसभा चुनाव से पहले राम मंदिर नहीं बने तो इससे निराश होने की जरूरत नहीं है।

यह भी पढ़ें.....जहरीली शराब पर CM योगी ने जताया साजिश का शक, कहा- जांच के बाद होगी कड़ी कार्रवाई

बीजेपी के नेता ने कहा कि हम चुनाव के बाद राम मंदिर की स्थापना वहीं करेंगे जिस जमीन पर रामलला विराजमान हैं। राम मंदिर बनना निश्चित है, इस पर संदेह नहीं करना चाहिए।सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा कि लोकसभा चुनाव के बाद यह उपयुक्त होगा कि रामलला की जमीन को रातोंरात विश्व हिंदू परिषद (विहिप) के हवाले कर दिया जाए। हम एक इंच जमीन भी किसी को नहीं देने वाले। राम मंदिर निर्माण में भले ही देर लगे, लेकिन मंदिर उसी स्थान पर बनेगा।

यह भी पढ़ें.....आलिया ने दीपिका के लिए यूज किया ये शब्द तो सुनकर खुला रह गया होगा उनका मुंह

स्वामी ने कहा कि संविधान के अनुच्छेद 308 में यह स्पष्ट है कि सरकार को स्वामित्व का अधिकार है। वह किसी की भी जमीन ले सकती है। लेकिन, ऐसा करने के बाद न्यायपूर्ण मुआवजा देना चाहिए। मुझे लगता है कि न्यायपूर्ण मुआवजा दे दिया जाएगा। इसके लिए हमें कोर्ट भी जाने की जरूरत नहीं है। बस उन्हें इसकी सूचना देनी होगी।

यह भी पढ़ें.....बसंत पंचमी पर तीसरा शाही स्नान, BJP सांसद मनोज तिवारी ने लगाई डुबकी

उन्होंने रामसेतु के मुद्दे को विस्तार से बताते हुए छात्रों को बताया कि किस तरह से उन्होंने रामसेतु विस्फोट पर स्टे लगवाने के लिए प्रयास किए थे।

Dharmendra kumar

Dharmendra kumar

Next Story