स्वामी ने PM को लिखी चिट्ठी, कहा- मानसिक रूप से भारतीय नहीं RBI गवर्नर

Published by May 17, 2016 | 3:38 pm

नई दिल्ली: बीजेपी के नए राज्यसभा सदस्य सुब्रह्मण्यम स्वामी ने पीएम नरेंद्र मोदी को चिट्ठी लिखकर कहा है कि रिज़र्व बैंक ऑफ इंडिया के गवर्नर पद से रघुराम राजन को हटा दिया जाना चाहिए। स्वामी ने रघुराम राजन पर देश की अर्थव्यवस्था को नुकसान’ पहुंचाने का आरोप लगाया है।

रघुराम राजन मानसिक रूप से भारतीय नहीं हैं
-पीएम मोदी को भेजे पत्र में सुब्रह्मण्यम स्वामी ने लिखा है कि ‘मैं डॉ. राजन द्वारा जानबूझकर और सोचसमझकर भारतीय अर्थव्यवस्था को छिन्न-भिन्न कर देने के किए जा रहे प्रयासों से स्तब्ध हूं।’
-स्वामी काआरोप है कि डॉ. राजन भारतीय अर्थव्यवस्था को पटरी से उतारने वाले व्यक्ति की तरह काम कर रहे हैं, किसी ऐसे शख्स की तरह नहीं, जो भारतीय अर्थव्यवस्था की बेहतरी चाहता हो।’
-उन्होंने यह भी कहा कि डॉ. रघुराम राजन इस देश भारत में ग्रीन कार्ड के साथ रह रहे हैं, वह मानसिक रूप से पूरी तरह भारतीय नहीं हैं।

राजन को वापस शिकागो भेजो
-सुब्रह्मण्यम स्वामी ने पिछले सप्ताह भी कहा था कि डॉ. राजन को जल्द से जल्द उनकी ज़िम्मेदारियों से मुक्त कर दिया जाना चाहिए।
-इसके साथ ही उन्होंने कहा कि डॉ. राजन को वापस शिकागो भेज दिया जाना चाहिए।

बता दें, कि रघुराम राजन शिकागो यूनिवर्सिटी के बूथ स्कूल ऑफ बिज़नेस में वित्त विषय के प्रोफेसर हैं और फिलहाल रिज़र्व बैंक के गवर्नर के रूप में कार्य करने के लिए यूनिवर्सिटी से छुट्टियों पर भारत आए हुए हैं।

यूपीए कार्यकाल में RBI गवर्नर नियुक्त हुए थे राजन
-यूपीए सरकार के कार्यकाल के दौरान डॉ. राजन को आरबीआई गवर्नर के रूप में नियुक्त किया गया था।
-जब साल 2014 में नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली बीजेपी की सरकार सत्ता में आई तो उनके पद को खतरे में माना जाने लगा था।
-लेकिन रघुराम राजन ने कहा था कि रिज़र्व बैंक तथा सरकार के बीच ‘सम्मानजनक रिश्ता’ स्थापित है।