×

दिल्ली पुलिस सामने लाई सुनंदा का अंतिम ईमेल, अब थरूर का क्या ?

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 28 May 2018 12:06 PM GMT

दिल्ली पुलिस सामने लाई सुनंदा का अंतिम ईमेल, अब थरूर का क्या ?
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

नई दिल्ली : सुनंदा पुष्कर ने कांग्रेस के लोकसभा सदस्य और अपने पति शशि थरूर को एक ईमेल में मरने की इच्छा जताई थी। दिल्ली पुलिस ने सोमवार को अदालत में यह बयान दिया। सरकारी वकील अतुल श्रीवास्तव ने अतिरिक्त मुख्य महानगर दंडाधिकारी समर विशाल से कहा कि थरूर के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए पर्याप्त सबूत हैं।

वकील ने अदालत को बताया कि पुष्कर तनाव में थीं और उन्होंने आठ जनवरी, 2014 को थरूर को एक ईमेल लिखा था, जिसमें उन्होंने मरने की इच्छा जाहिर की थी।

सरकारी वकील श्रीवास्तव ने पुष्कर द्वारा थरूर को भेजे गए ईमेल की लाइन पढ़ी, "मैं जीना नहीं चाहती हूं। मैं बस मरना चाहती हूं।"

उन्होंने अदालत को बताया कि पुष्कर की मौत जहर से हुई थी।

बयान दर्ज करने के बाद अदालत थरूर के खिलाफ आरोप पत्र स्वीकार करने संबंधी अपना आदेश पांच जून को देगी।

दिल्ली पुलिस ने थरूर के खिलाफ पत्नी से क्रूरता तथा आत्महत्या के लिए उकसाने के लिए भारतीय दंड संहिता की धारा 306 और 498ए के अंतर्गत 14 मई को आरोप पत्र दाखिल किए थे।

पुष्कर (51) 17 जनवरी, 2014 को दक्षिण दिल्ली के लीला होटल में अपने कमरे में मृत पाई गईं थीं। इससे कुछ दिन पहले ही उन्होंने अपने पति शशि थरूर पर पाकिस्तान की एक पत्रकार से संबंध होने का आरोप लगाया था।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story