सीरिया में हो रहे इंसानियत के कत्ल पर दारुल उलूम चिंतित

Published by Rishi Published: March 6, 2018 | 6:58 pm

सहारनपुर : सीरिया के गौता शहर में इंसानियत को शर्मसार करते हुए रूस व सीरियाई फौज द्वारा आबादी क्षेत्र में की जा रही बमबारी पर विश्व प्रसिद्ध इस्लामिक शिक्षण संस्था दारुल उलूम देवबंद ने गहरी चिंता व्यक्त की है। संस्था के मोहतमिम मुफ्ती अबुल कासिम नौमानी ने कहा कि ऐसे भयावह हालात में जहां हम कुछ नहीं कर सकते वहां अल्लाह से मदद मांगनी चाहिए और दुआओं का सहारा लेना चाहिए।

मंगलवार को दारुल उलूम के मोहतमिम मुफ्ती अबुल कासिम नौमानी ने कहा कि सीरिया में बेकसूर लोगों पर जो जुल्म ढाए जा रहे हैं उनका तसव्वुर भी बेचैन कर देने वाला है। अफसोस की बात यह है कि सीरिया में हो रहे इंसानियत के कत्ले आम के बावजूद आलमी ताकतें खामोश तमाशाई बनी हुई हैं।

उन्होंने कहा कि ऐसे भयावह हालात में जब जुल्म की हदें पार हो रही हों तो हमें चाहिए कि हम अल्लाह की तरफ रुजू करें, और पूरे यकीन के साथ दुआओं का एहतमाम करें।

ये भी देखें : पुतिन सुनिश्चित करें कि सीरिया संघर्षविराम समझौते का शिद्दत से पालन हो : मैक्रों

उन्होंने मस्जिद और मदरसों के जिम्मेदारों से खुसूसी अपील करते हुए कहा कि सीरिया के मजलूमों के हक में दुआए की जाएं। और हर एक मस्जिद में कुनूत ए नाजिला (विशेष नमाज) का आयोजन करें।

संस्था के मोहतमिम मुफ्ती अबुल कासिम नौमानी ने यूएनओ से सीरिया के मामले में हस्तक्षेप करते हुए वहां अमन कायम कराने के लिए आगे आने का भी आहवान किया।