कोरोना मरीजों का इलाज कर रहे थे डाॅक्टर, पूरा परिवार संक्रमित, ऐसे बयां किया दर्द

मुंबई में कोरोना के मरीजों के इलाज के दौरान संक्रमित हुए एक डॉक्टर का पोस्ट सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। डॉक्टर का ये पोस्ट काफी इमोशनल करने वाला है।

नई दिल्ली: मुंबई में कोरोना के मरीजों के इलाज के दौरान संक्रमित हुए एक डॉक्टर का पोस्ट सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। डॉक्टर का ये पोस्ट काफी इमोशनल करने वाला है। डॉक्टर ने इस पोस्ट में कोरोना संक्रमित अपने परिवार के लिए दर्द और अफसोस बयां किया है।

फेसबुक पेज पर शेयर किया गया पोस्ट

डॉक्टर का ये पोस्ट ‘Humans of Bombay’ नाम के फेसबुक पेज पर शेयर किया गया है। इस पोस्ट में डॉक्टर ने लिखा है कि जब से कोरोना वायरस का अटैक हुआ है, तब से मैं बिना छुट्टी लिए संक्रमितों के इलाज में लगा हुआ था। मुझे मालूम था कि इस वक्त मरीजों को मेरी सबसे ज्यादा जरूरत है। इसलिए मैं अपनी ड्यूटी कर रहा था। रोजाना 5-10 मरीजों को देखता था। हालांकि, इस दौरान मैं अपनी सुरक्षा का ध्यान भी रख रहा था।

आगे अपने पोस्ट में उन्होंने लिखा, ‘मैंने मेरी पत्नी और बेटी को कोरोना वार्ड में देखा। इससे मैं बिल्कुल टूट गया। मैं इनके लिए खुद को दोषी समझ रहा था। बेशक एक डॉक्टर होने के नाते मरीजों के लिए मैं जो कर सकता था, मैंने वो सब किया। लेकिन, अपनी फैमिली को बचाने में मैं पूरी तरह से फेल हो गया।’

पत्नी को देखने के लिए और ज्यादा इंतजार नहीं कर सकता…

आगे अपने पोस्ट में डॉक्टर लिखते हैं कि इस महामारी की वजह से हमें कुछ समय के लिए अलग होना पड़ा, जो मेरी जिंदगी का सबसे मुश्किल वक्त है। मैंने अपनी पत्नी को देखने के लिए और ज्यादा इंतजार नहीं कर सकता। हालांकि, मैं मेरे पड़ोसियों का शुक्रगुजार हूं, जो मेरी बीवी को रोज खाना पहुंचा रहे थे।

गौरतलब है कि 18 मार्च को डॉक्टरों को बुखार आया, जिसके बाद डॉक्टर के साथ उनकी पत्नी और बेटी का भी कोरोना टेस्ट किया गया। तीनों का कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव निकला, जिसके बाद उन्हें एडमिट कर लिया गया। बता दें कि डॉक्टर और उनकी बेटी को एक हफ्ते के अंदर अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिया गया। लेकिन, उनकी पत्नी की हालत अभी तक खराब थी और वो अस्पताल में ही थीं।

चौथी बार टेस्टिंग के बाद डॉक्टर की बीवी की भी कोरोना रिपोर्ट नेगेटिव आ गई है और उन्हें डिस्चार्ज किया जा रहा है। डॉक्टर ने पोस्ट के आखिर में लिखा- आखिरकार हमने कोरोना को हरा दिया और फिर से एक साथ आ गए हैं।