×

भीषण बारिश से तबाह हुए केरल के हजारों घर, रेड अलर्ट जारी

केरल में भीषण बारिश का कहर लगा तार जारी है। एर्नाकुलम, त्रिशूर, पठानमथिट्टा, मलप्पुरम जिलों में बीती रात भारी बारिश हुई। जिस वजह से कई घरों में पानी भर गया। मलप्पुरम और कोझीकोड को जोड़ने वाली प्रमुख सड़कें जल भराव के कारण बंद हैं।

Roshni Khan

Roshni KhanBy Roshni Khan

Published on 9 Aug 2019 3:33 AM GMT

भीषण बारिश से तबाह हुए केरल के हजारों घर, रेड अलर्ट जारी
X
बारिश ने मचाई तबाही, 25 मौतों के बाद रेड अलर्ट पर ये राज्य
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

तिरुवनंतपुरम: केरल में भीषण बारिश का कहर लगा तार जारी है। एर्नाकुलम, त्रिशूर, पठानमथिट्टा, मलप्पुरम जिलों में बीती रात भारी बारिश हुई। जिस वजह से कई घरों में पानी भर गया। मलप्पुरम और कोझीकोड को जोड़ने वाली प्रमुख सड़कें जल भराव के कारण बंद हैं।

ये भी देखें:केरल में भारी बारिश के कारण एक बच्चे समेत 2 लोगों की मौत

बाढ़ के कारण रात में लोगों को सुरक्षित पहुंचाया गया

बाढ़ की वजह से कई लोगों को रात में ही सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया।

इस बीच कोच्चि हवाई अड्डे पर 11 अगस्त 3 बजे तक सभी विमानों का परिचालन रोक दिया गया है।

रेड और ऑरेंज अलर्ट जारी

मौसम विभाग ने केरल के इडुक्की, मलप्पुरम, कोझिकोड के में बारिश की वजह से रेड अलर्ट, जबकि त्रिशूर, पलक्कड, वायनाड, कन्नूर और कासरगोड में बारिश का ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है।

ये भी देखें:केरल में भारी बारिश का कहर, मौसम विभाग ने जारी किया रेड अलर्ट

बारिश और तेज़ हवाएं चलने के अनुमान के कारण मछुआरों को समुद्र में नहीं जाने की सलाह दी गई है।

पीड़ितों के लिए लगाए गए 315 कैंप

केरल स्टेटट डिजास्टर मैनेजमेंट अथॉरिटी के अनुसार केरल के बाढ़ प्रभावित इलाकों से अब तक 22,165 लोगों को सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया है।

राज्य में बाढ़ से प्रभावित लोगों के लिए 315 कैंप लगाए गए हैं।

ये भी देखें:लद्दाख बुद्धिस्ट एसोसिएशन ने कार्यक्रम आयोजित कर सरकार को कहा धन्यवाद, मनाया जश्न

केरल के सीएम ने पीड़ितों की कर रहे मदद

केरल के सीएम पिनराई विजयन ने गुरुवार रात को कहा था कि सरकार बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए हर संभव कोशिश कर रही है।

वायनाड में भारी बाढ़ की त्रासदी देखने को मिल रही है।

रात में भीषण बारिश और अंधेरे की वजह से बाढ़ से प्रभावित क्षेत्रों में मदद पहुंचाने में दिक्कत आ रही है।

सरकार लोगों तक खाद्य पदार्थ पहुंचाने की हर भरसक कोशिश की जा रही है।

कुछ लोग तो ऐसे भी हैं, जो अपना घर छोड़कर बाहर नहीं निकल रहे हैं। लेकिन उन्हें हर हाल में बाहर आना होगा।

Roshni Khan

Roshni Khan

Next Story