Top
TRENDING TAGS :Coronavirusvaccination

अब कांपेगी चीनी सेना: आज आएंगे तीन और राफेल लड़ाकू विमान, भारत हुआ ताकतवर

फ्रांस में भारतीय वायुसेना के लड़ाकू पायलट प्रशिक्षण के लिए पहले से ही सात राफेल लड़ाकू विमानों का इस्तेमाल कर रहे हैं। भारतीय वायुसेना को हर दो महीने में तीन से चार राफेल जेट दिए जाने की उम्मीद है। तीन विमान जनवरी और फिर मार्च में 3, अप्रैल में 7 राफेल लड़ाकू विमान भारत को मिल जाएंगे।

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 4 Nov 2020 8:36 AM GMT

अब कांपेगी चीनी सेना: आज आएंगे तीन और राफेल लड़ाकू विमान, भारत हुआ ताकतवर
X
अब कांपेगी चीनी सेना: आज आएंगे तीन और राफेल लड़ाकू विमान, भारत हुआ ताकतवर (Photo by social media)
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: राफेल के तीन और लड़ाकू विमान आज भारत पहुंचेंगे। तीनों विमान फ्रांस से नॉन स्टॉप उड़ते हुए सीधे गुजरात के जामनगर एयरबेस पर पहुंचेंगे। तीनों विमान का रास्ते में कोई ठहराव नहीं होगा। यात्रा के दौरान उन्हें फ्रांसीसी और भारतीय टैंकरों द्वारा आकाश में ही ईंधन दिया जाएगा। तीनों के जामनगर में एक दिन के ब्रेक के बाद अंबाला पहुंचने की उम्मीद है। इससे पहले 28 जुलाई को पांच राफेल भारत पहुंचे थे और 10 सितंबर को अंबाला में आधिकारिक तौर पर विमानों को भारतीय वायुसेना में शामिल किया गया था। राफेल विमान मिल जाने से भारतीय वायु सेना की ताकत में बहुत बड़ा इजाफा हुआ है।

ये भी पढ़ें:डरे सभी अमेरिकी: क्या है कू क्लाक्स क्लान, जीकसा ट्रंप कर सकते हैं इस्तेमाल

सात लड़ाकू विमान

फ्रांस में भारतीय वायुसेना के लड़ाकू पायलट प्रशिक्षण के लिए पहले से ही सात राफेल लड़ाकू विमानों का इस्तेमाल कर रहे हैं। भारतीय वायुसेना को हर दो महीने में तीन से चार राफेल जेट दिए जाने की उम्मीद है। तीन विमान जनवरी और फिर मार्च में 3, अप्रैल में 7 राफेल लड़ाकू विमान भारत को मिल जाएंगे। इस तरह अगले साल अप्रैल तक देश में विमानों की संख्या 21 हो जाएगी। सभी 36 विमानों के साल के अंत तक वायुसेना के जल्द लड़ाकू बेड़े में शामिल होने की संभावना है। राफेल लड़ाकू विमान जून 1997 में रूसी सुखोई-30 के बाद 23 साल में भारतीय वायुसेना में शामिल होने वाला पहला लड़ाकू विमान है।

59 हजार करोड़ का सौदा

भारत ने राफेल सौदे में करीब 710 मिलियन यूरो विमानों के हथियारों पर खर्च किए हैं। पूरे सौदे की कीमत 59 हजार करोड़ रुपये है। इसमें से 18 लड़ाकू विमान गोल्डन एरो स्क्वाड्रन में शामिल हो जाएंगे।

Rafale Rafale (Photo by social media)

राफेल की ताकत

- 4।5 जेनरेशन मीड ओमनी-पोटेंट रोल एयरक्राफ्ट

- दो इंजन वाला राफेल हवा में के साथ-साथ डीप-पैनेट्रेशन में भी सक्षम

- राफेल में लगी है हवा से हवा में मार करने वाली मेटयोर मिसाइल जिसकी रेंज करीब 150 किलोमीटर है

- राफेल में हवा से सतह में मार करने वाली स्कैल्प क्रूज मिसाइल और हवा से हवा में मार करने वाली माइका मिसाइल भी है

- राफेल के पायलट के हेलमेट में ही फाइटर प्लेन का पूरा डिस्प्ले सिस्टम है

ये भी पढ़ें:Aamir Khan की बेटी Ira Khan ने बताया, 14 साल की उम्र में हुआ था यौन शोषण

सौदे की खास बातें

36 विमानों की कीमत - 3402 मिलियन यूरो

विमानों के स्पेयर पार्ट्स - 1800 मिलियन यूरो

भारत के अनुरुप बनाने में खर्चा - 1700 मिलियन यूरो

परफॉर्मेंस बेस्ड लॉजिस्टिक - 353 मिलियन यूरो

एक विमान की कीमत - 90 मिलियन यूरो

विमान में लगने वाले हथियार, सिम्यूलेटर, ट्रैनिंग मिलाकर एक फाइटर जेट की कीमत - 1600 करोड़ रुपये

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Newstrack

Newstrack

Next Story