×

आज का इतिहास: 21 मई के दिन एक बम धमाके से दहल गया था भारत, आत्मघाती हमले में राजीव गांधी की हत्या

Aaj Ka Itihas: 21 मई का इतिहास दुनिया और भारत में कई चर्चित घटनाओं के कारण बहुचर्चित तिथि है। आज ही के दिन 1991 में पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की एक आत्मघाती हमले में हत्या कर दी गई थी।

Bishwa Maurya
Updated on: 21 May 2022 3:45 AM GMT
आज का इतिहास: 21 मई के दिन एक बम धमाके से दहल गया था भारत, आत्मघाती हमले में राजीव गांधी की हत्या
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Today History 21 May in Hindi : भारतीय इतिहास में 21 मई का दिन बेहद दुर्भाग्यपूर्ण रहा है। आज का इतिहास (Aaj Ka Itihas) भारत के लिए इसलिए दुर्भाग्यपूर्ण रहा है क्योंकि 1991 में 21 मई को घटित एक घटना ने पूरे देश को झकझोर कर रख दिया था। इस दिन उग्रवादियों ने एक आत्मघाती हमले में पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी (Rajiv Gandhi) की हत्या कर दी थी। श्रीलंका में शांति सेना भेजे जाने के कारण लिबरेशन टाइगर्स ऑफ तमिल ईलम (LTTE) तमिल विद्रोही संगठन उस वक्त राजीव गांधी से काफी नाराज चल रहा था। लोकसभा चुनाव 1991 का घोषणा हो चुका था तब चेन्नई के श्रीपेरंबदूर में राजीव गांधी अपने चुनावी प्रचार के लिए गए थे इसी दौरान राजीव गांधी पर उग्रवादी संगठन एलटीटीई में आत्मघाती हमला करवाया था।

उग्रवादियों ने ऐसे दिया हत्या को अंजाम

पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी जब 1991 के लोकसभा चुनाव के लिए चुनाव प्रचार करने जब चेन्नई के पास श्रीपेरंबदूर पहुंचे तभी राजीव गांधी का स्वागत करते हुए उन्हें फूलों का हार पहनाने के लिए LTTE की महिला आतंकी तेनमोजी राजरत्नम (धनु) ने झुक कर राजीव गांधी का पैर छुआ और इसी वक्त महिला आतंकी ने कमर पर बंधे अपने विस्फोटकों में धमाका कर दिया। इस आत्मघाती हमले से इस चुनाव प्रचार के दौरान राजीव गांधी (Rajiv Gandhi Assassination) के साथ मौजूद कुल 16 लोगों की मौके पर ही मौत हो गई। पूरे कार्यक्रम स्थल पर चिथड़े उड़े शव फैल गए। इस हमले में 16 मौतों के अलावा मौके पर मौजूद कुल 45 लोग गंभीर रूप से घायल हुए थे।

जब सुष्मिता सेन ने जीता मिस यूनिवर्स का ताज

21 मई का इतिहास भारत के लिए कई मामलों में काफी बेहतर भी रहा है। साल 1994 में आज ही के दिन मनाली में आयोजित मिस यूनिवर्स (Miss Universe) प्रतियोगिता का खिताब भारतीय मानी जानी अभिनेत्री सुष्मिता सेन (Sushmita Sen) ने जीता था। सुष्मिता सेन ऐसी पहली भारतीय महिला की जिन्होंने मिस यूनिवर्स का खिताब अपने नाम किया हो। बता दें 21 मई 1994 को आयोजित मिस यूनिवर्स प्रतियोगिता में सुष्मिता सेन का मुकाबला उसी साल मिस वर्ल्ड बनी अश्वर्या राय से हुआ था।

जब मिस यूनिवर्स का खिताब अभिनेत्री सुष्मिता सेन ने जीता था (तस्वीर साभार : सोशल मीडिया)

आज ही के दिन हुआ था फीफा का स्थापना

एसोसिएशन फुटबॉल को बढ़ावा देने के मकसद से आज ही के दिन 1904 में फीफा (FIFA) की स्थापना हुई थी। फेडरेशन इंटरनेशनल फुटबॉल एसोसिएशन (Federation International Football Association) की स्थापना उस वक्त कुल सात नेशनल एसोसिएशन स्वीटजरलैंड, डेनमार्क, फ्रांस, बेल्जियम, स्पेन, नीदरलैंड और स्वीडन ने मिलकर किया था। मौजूदा वक्त की बात करें तो फीफा खेल संगठनों में से एक सबसे प्रतिष्ठित संगठन है। आज फीफा में कुल 209 सदस्य हैं।

भारत के इतिहास में 21 मई की प्रमुख घटनाएं

साल 2020 में आज ही के दिन एक विनाशकारी समुद्री तूफान अम्फान ने देश में दस्तक दी थी। इस विनाशकारी तूफान ने देश के राज्य पश्चिम बंगाल को सबसे ज्यादा नुकसान पहुंचाया था। जिसमें 70 से अधिक लोगों की मौत हुई थी। साल 1996 में आज ही के दिन राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में एक बड़ा धमाका हुआ था कश्मीरी अलगाववादियों द्वारा किए गए इस धमाके में उस वक्त कुल 25 लोगों की जान गई थी। आज ही के दिन 1997 में मध्यप्रदेश में एक बड़ा भूकंप आया था। इस भूकंप का एपीसेंटर मध्यप्रदेश का जबलपुर था जिसमें लगभग 27 लोगों की मौत हुई थी।

दुनिया में आज का इतिहास

21 मई के दिन दुनिया में कई बड़े घटनाएं घटित हुई थी। जिसमें सबसे चर्चित पहली बार न्यूयॉर्क के शहर में सड़कों पर देखी गई साइकिल थी। साल 1819 में स्विफ्ट वाकर नामक साइकिल पहली बार अमेरिका के न्यूयॉर्क में देखी गई थी। 1840 में ब्रिटेन का उपनिवेश न्यूजीलैंड को घोषित किया गया था। दक्षिणी अमेरिका के कोलंबिया में 1851 में 21 मई के ही दिन गुलामी प्रथा को समाप्त किया गया था। आज ही के दिन 1881 में अमेरिकी रेड क्रॉस संस्था का स्थापना किया गया था।

Bishwa Maurya

Bishwa Maurya

Next Story