×

तृणमूल के किले में सेंध लगाने में जुटे शाह

seema

seemaBy seema

Published on 29 Jun 2018 7:03 AM GMT

तृणमूल के किले में सेंध लगाने में जुटे शाह
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

कोलकाता: भाजपा अध्यक्ष अमित शाह पश्चिम बंगाल में तृणमूल कांग्रेस के किले में सेंध लगाने की कोशिश में जुट गए हैं। उन्होंने पंचायत चुनाव में भाजपा का सबसे मजबूत किला साबित हुए पुरुलिया से मिशन बंगाल का बिगुल बजाया। इस दौरान आयोजित जनसभा में उन्होंने राज्य की ममता बनर्जी सरकार पर जमकर हमला बोला और ममता सरकार पर हिंसा फैलाने का आरोप लगाते हुए उसे सत्ता से बेदखल करने की अपील की। उन्होंने कहा कि सरकार पर बांग्लादेश से होने वाली घुसपैठ रोकने और राज्य में सक्रिय माफियाओं पर अंकुश लगाने में नाकाम रहने का आरोप लगाया।

उन्होंने पंचायत चुनावों में भाजपा कार्यकर्ताओं की हत्या पर रोष जताते हुए कहा कि ममता सरकार ने बंगाल में हिंसा की धुन बजाकर इस राज्य को दुनिया भर में बदनाम कर दिया। जनसभा से पहले उन्होंने हिंसा में मारे गए तीन कार्यकर्ताओं के परिजनों को ढांढस बंधाया और भाजपा सरकार बांग्ला सरकार का नया नारा दिया। उन्होंने अगले लोकसभा चुनाव में राज्य में 23 सीटें जीतने का लक्ष्य निर्धारित किया।

20 कार्यकर्ताओं की हत्या का आरोप

उन्होंने कहा कि टीएमसी की लाख कोशिशों के बावजूद भाजपा डरने वाली नहीं है। भाजपा कार्यकर्ताओं को डराने के लिए टीएमसी ने पार्टी के उम्मीदवारों को पर्चा नहीं भरने दिया। दो करोड़ लोगों को वोट डालने से रोका गया। भाजपा कार्यकर्ताओं में भय फैलाने के लिए पार्टी के 20 कार्यकर्ताओं की हत्या की। इसके बावजूद भाजपा पंचायत चुनाव में 7000 सीटों पर जीत हासिल करने में कामयाब रही। अगले विधानसभा चुनाव में त्रिपुरा की जनता की तरह बंगाल की जनता भी ममता को सत्ता से बाहर कर देगी।

यह भी पढेंं : नया खुलासा : चोकसी ने घटिया सामानों को ऊंची कीमतों पर निर्यात किया

गांव में किया जनसंपर्क

भाजपा को मजबूती देने के लिए शाह ने हालदा गांव में जनसंपर्क भी किया। इस दौरान व्यवस्था में खामियां दिखने पर उन्होंने प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष को कड़ी फटकार लगाई। दरअसल शाह को जिन पांच घरों में जनसंपर्क करना था, वहां उनके बैठने की व्यवस्था नहीं थी। शाह इन घरों में परिवार के सदस्यों के साथ बैठ कर बातचीत करना चाहते थे। हालांकि बाद में जनसभा में उमड़ी भीड़ से शाह बेहद संतुष्ट नजर आए।

पैसा देने पर भी योजनाओं का लाभ नहीं

शाह ने कहा कि मोदी सरकार ने यूपीए शासन के मुकाबले राज्य सरकार को ज्यादा पैसा दिया। इसके बावजूद केन्द्र की योजनाओं को लागू नहीं किया गया। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार की विकास योजनाएं ममता सरकार की वजह से राज्य के लोगों तक नहीं पहुंच पा रही हैं। भाजपा अध्यक्ष ने बताया कि यूपीए सरकार के दौरान 13वें वित्त आयोग ने राज्य को महज 1 लाख 32 हजार करोड़ रुपये दिए थे, जबकि भाजपा की अगुवाई वाली सरकार में 14वें वित्त आयोग ने बंगाल को 3 लाख 60 हजार करोड़ की रकम दी है। इसके बावजूद लोगों तक योजनाओं का लाभ नहीं पहुंच रहा।

बंगाल में तृणमूल के गुंडों का राज

उन्होंने आरोप लगाया कि राज्य में तृणमूल कांग्रेस के गुंडों का राज चल रहा है। इस कारण राज्य में तमाम फैक्ट्रियां बंद हो गई हैं। यहां सिर्फ बम बनाने वाली फैक्ट्रियां ही चल रही हैं। इससे पहले कोलकाता से हेलीकॉप्टर से बीरभूम जिले के तारापीठ पहुंचे अमित शाह ने भारी सुरक्षा के बीच मशहूर मां तारा मंदिर में पूजा-अर्चना की। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष व शाह के पहुंचने पर ढोल बजाकर उनका स्वागत किया गया। शाह ने मौके पर जुटी भीड़ की ओर हाथ हिला कर उनका अभिवादन किया। भीतर पूजा-अर्चना करने और लगभग 25 मिनट मंदिर में गुजारने के बाद शाह ने तारापुर स्थित एक स्कूल में भाजपा नेताओं व कार्यकर्ताओं की एक बैठक को भी संबोधित किया।

seema

seema

सीमा शर्मा लगभग ०६ वर्षों से डिजाइनिंग वर्क कर रही हैं। प्रिटिंग प्रेस में २ वर्ष का अनुभव। 'निष्पक्ष प्रतिदिनÓ हिन्दी दैनिक में दो साल पेज मेकिंग का कार्य किया। श्रीटाइम्स में साप्ताहिक मैगजीन में डिजाइन के पद पर दो साल तक कार्य किया। इसके अलावा जॉब वर्क का अनुभव है।

Next Story