स्मृति ईरानी-प्रियंका चतुर्वेदी के बीच TWITTER WAR, जमकर तूतू-मैंमैं

Published by May 23, 2016 | 7:10 pm

नई दिल्ली: केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी और कांग्रेस प्रवक्ता प्रियंका चतुर्वेदी के ट्विटर वॉर ने सोमवार को खूब सुर्खियां बटोरी। ट्विटर पर तूतू-मैंमैं इतनी बढ़ी की बात राहुल गांधी पर जाकर ही खत्म हुई। दरअसल इस बहस की शुरुआत प्रियंका चतुर्वेदी के उस ट्वीट से हुई जिसमें उन्होंने स्मृति की सिक्युरिटी का मुद्दा उठाया था।

प्रियंका के ब्लॉग से शुरू हुआ विवाद
हुआ यूं कि रविवार को प्रियंका चतुर्वेदी ने एक टीवी चैनल के लिए लिखे ब्लॉग में उन्होंने कहा कि ट्विटर पर उन्हें ‘निर्भया की तरह बलात्कार’ करने की धमकी दी जा रही है। इसी मुद्दे पर एक ट्वीट में कांग्रेस प्रवक्ता को निशाना बनाते हुए लिखा गया था कि ‘जब प्रियंका चतुर्वेदी को ट्रोल किया जाता है तो वह औरत की गरिमा पर हमला होता है लेकिन जब स्मृति ईरानी के खिलाफ ज़हर उगला जाता है तो उसे स्वीकार कर लिया जाता है।’

प्रियंका ने क्या किया था ट्वीट ?
इस पर चतुर्वेदी ने जवाब दिया कि ‘स्मृति ईरानी को मिलने वाली कथित धमकी के बदले ज़ेड सिक्योरिटी मिल जाती है और  मुझे मिली बलात्कार/ मौत की धमकी की जांच के लिए मैं अभी तक संघर्ष कर रही हूं।’

जब बात स्मृति ईरानी की हो रही थी तो उनका जवाब देना भी लाज़िम था। उन्होंने प्रियंका को लिखा ‘मुझे ज़ेड सेक्योरिटी नहीं मिली है मैडम..’

इस पर प्रियंका का जवाब था ‘मैडम मुझे गृह मंत्रालय के आंतरिक प्रक्रिया के बारे में नहीं पता, मैं तो अखबार की रिपोर्ट के हिसाब से बात कर रही हूं। तो क्या मैं यह समझूं कि आपके पास किसी भी तरह की सुरक्षा नहीं है?’

बात खत्म होती इससे पहले स्मृति ने जवाब दिया ‘आप मेरी सुरक्षा को लेकर इतनी चिंतित क्यों हैं? कुछ योजना बना रही हैं क्या?’

प्रियंका का जवाब था ‘मेरे पास इतना वक्त नहीं है इसलिए आप इसकी चिंता न करें। आप तो कैंपस में एक और बखेड़ा खड़ा करने पर ध्यान लगाइए।’

स्मृति ने फिर जवाब दिया ‘इस काम में तो राहुल जी को महारत हासिल है..अरे नहीं, उन्हें तो असम में हारने की योग्यता है। मेरी गलती, आपका दिन शुभ हो।’

इस पर प्रियंका का आखिरी जवाब ‘और बार बार हारने और फिर भी मंत्रालय में जगह पाने में आपको महारत है। आपका दिन भी शुभ हो…’