×

शिवराज के दो मंत्रियों के रिश्तेदारों में लेन-देन का विवाद पहुंचा थाने

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 20 Sep 2017 9:10 AM GMT

शिवराज के दो मंत्रियों के रिश्तेदारों में लेन-देन का विवाद पहुंचा थाने
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

रायसेन : मध्य प्रदेश सरकार के प्रभावशाली और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के करीबी दो मंत्रियों के परिजनों और रिश्तेदारों के बीच लेन-देन का विवाद इतना बढ़ गया कि मामला पुलिस तक पहुंच गया है। दोनों पक्षों की शिकायत पर पुलिस मामले की जांच कर रही है।

ये भी देखें:वेस्टइंडीज का गम लाया लंका के लिए खुशीयों की सौगात, WC में सीट पक्की

पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, रायसेन जिले के उदयपुरा थाना क्षेत्र में खनिज मंत्री राजेंद्र शुक्ल के भाई विनोद शुक्ल की वीकेएस कंपनी का सिलवानी टोल बैरियर के पास निर्माण कार्य चल रहा है। यह टोल नाका मध्य प्रदेश रोड डेवलपमेंट कॉर्पोरेशन (एमपीआरडीसी) के अधीन आता है। वहीं सिलवानी-उदयपुरा मार्ग पर लोकनिर्माण मंत्री रामपाल सिंह के रिश्तेदार वीरेंद्र सिंह का डामर प्लांट है।

ये भी देखें:होंठों को करेंगे ऐसे स्क्रब तो नहीं चलेगा पता आपको है स्मोकिंग की लत

रायसेन के पुलिस अधीक्षक जगत सिंह राजपूत ने बुधवार को बताया कि विनोद शुक्ल और वीरेंद्र सिंह के बीच लेन-देन का विवाद है। इस मामले की पुलिस में शिकायत की गई है। हालांकि दोनों के बीच के विवाद का खुलासा नहीं किया गया है। पुलिस विवाद की जांच कर रही है जिसके बाद ही आगे की कार्रवाई की जाएगी। फिलहाल किसी भी पक्ष के खिलाफ प्रकरण दर्ज नहीं किया गया है।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story