×

मोदी और जशोदाबेन का तलाक: कुछ ऐसा था ये किस्सा, क्या आप जानते हैं पूरी कहानी?

भारत के पीएम मोदी के बारे में तो सब जानते हैं। वो कैसे रहते है क्या करते हैं, उनके बारे में सब जानते हैं। उनसे जुड़ी हर बातें लगभग सबको पता है।

Roshni Khan

Roshni KhanBy Roshni Khan

Published on 2 Feb 2020 7:42 AM GMT

मोदी और जशोदाबेन का तलाक: कुछ ऐसा था ये किस्सा, क्या आप जानते हैं पूरी कहानी?
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

नई दिल्ली: भारत के पीएम मोदी के बारे में तो सब जानते हैं। वो कैसे रहते है क्या करते हैं, उनके बारे में सब जानते हैं। उनसे जुड़ी हर बातें लगभग सबको पता है। लेकिन उनकी लाइफ की सबसे बड़ी सच्चाई उनकी और उनकी पत्नी जशोदाबेन से जुड़ी है। बहुत कम लोगों को पता है कि उन्होंने अपनी पत्नी को तलाक देना चाहते थे तो उनकी पत्नी ने उनके तलाक देने से इनकार कर दिया था। आज हम आपको पीएम मोदी और जशोदाबेन से जुड़े ही एक किस्से के बारे में बताने जा रहे हैं।

जशोदाबेन पीएम मोदी की पत्नी है लेकिन वे मात्र 2 महीने ही साथ रहे और उसके बाद पीएम मोदी ने अपना घर छोड़ दिया था। उनके बीच कभी पति पत्नी जैसे रिश्ते नहीं रहे। मोदी और जशोदाबेन की शादी के समय उनकी उम्र क्रमश 17 और 15 साल थी। घर वालों की वजह से उन्होंने जशोदाबेन से विवाह किया।

ये भी पढ़ें:CM उद्धव का बड़ा ऐलान, नागरिकता को लेकर महाराष्ट्र की जनता को दिया ये संदेश

कुछ समय पहले ही जशोदाबेन की तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हो रही थी कि वे शाहीन बाग में CAA के खिलाफ प्रदर्शन कर रही है लेकिन वो तस्वीरें झूठी निकली। असल में 2016 की तस्वीरों को अभी की तस्वीरें बता कर वायरल किया जा रहा था।

हम आपको उस बारे में बताने जा रहे हैं जब पीएम मोदी ने जशोदाबेन से तलाक मांगा था।

पीएम मोदी ने 1987 में जशोदाबेन को तलाक देने का फैसला किया था, लेकिन वो तैयार नहीं हुई। वे अपने बड़े भाई के साथ उनसे तलाक लेने के लिए पहुंचे थे लेकिन जशोदाबेन ने कहा कि वे उन्हें तलाक नहीं देना चाहती है अगर मोदी देना चाहते हैं तो दे।

ये भी पढ़ें:सामने आई हिन्दूवादी नेता रंजीत बच्चन की हत्या की ये दिल दहला देने वाली तस्वीरें

मोदी से अलग होने के बाद जशोदाबेन ने धोलका से अपनी पढ़ाई पूरी की और सरकारी स्कूल में टीचर की नौकरी से 2009-10 में रिटायर हुई। फ़िलहाल अब वे अपना पूरा टाइम भगवान की भक्ति में बिताती हैं।

Roshni Khan

Roshni Khan

Next Story