×

उन्नाव काण्ड : सुप्रीम कोर्ट ने पीड़िता को एयरलिफ्ट कर एम्स लाने का दिया निर्देश

रायबरेली में सड़क दुर्घटना में गंभीर रूप से घायल उन्नाव के माखी गांव की दुष्कर्म पीड़िता की हालत सुधर रही है। लखनऊ के ट्रामा सेंटर में 28 जुलाई से भर्ती पीडि़ता ने आज आंख खोली है।

Aditya Mishra

Aditya MishraBy Aditya Mishra

Published on 5 Aug 2019 11:55 AM GMT

उन्नाव काण्ड : सुप्रीम कोर्ट ने पीड़िता को एयरलिफ्ट कर एम्स लाने का दिया निर्देश
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

लखनऊ: रायबरेली में सड़क दुर्घटना में गंभीर रूप से घायल उन्नाव के माखी गांव की दुष्कर्म पीड़िता की हालत सुधर रही है। लखनऊ के ट्रामा सेंटर में 28 जुलाई से भर्ती पीडि़ता ने आज आंख खोली है। इसके साथ ही अब वह इशारे समझने लगी है।

सुप्रीम कोर्ट ने पीड़ित को एम्स दिल्ली शिफ्ट करने का आदेश दिया है। उन्नाव के माखी गांव की दुष्कर्म पीड़ित के खिलाफ पांच मामलों में विधायक कुलदीप सिंह सेंगर आरोपित हैं।

ये भी पढ़ें...जम्मू कश्मीर में 370 हटने से पाकिस्तानी मीडिया में मची खलबली, कही ये बात

सेंगर को तीस हजारी कोर्ट पेश किया जाएगा

सभी मामलों की जांच सीबीआई कर रही है। सीबीआई आज कुलदीप सिंह सेंगर को रिमांड पर लेगी। सेंगर को तीस हजारी कोर्ट, दिल्ली में पेश किया जाएगा।

उच्चतम न्यायालय ने आदेश दिया है कि लखनऊ के किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी के ट्रामा सेंटर में भर्ती उन्नाव की दुष्कर्म पीड़ित का अब एम्स दिल्ली में इलाज होगा।

सुप्रीम कोर्ट ने दुष्कर्म पीडि़ता को स्थानांतरित करने का आदेश दिया है। अब उसका आगे का इलाज अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान, संसथान दिल्ली में ही होगा।

इससे पहले सुप्रीम कोर्ट ने पीड़ित की हालत की लगातार मॉनिटरिंग करने का भी निर्देश दिया था। केजीएमयू के ट्रामा सेंटर में भर्ती दुष्कर्म पीड़िता की हालत में सुधार आ रहा है।

ये भी पढ़ें...धारा 370 और पीएम मोदी का है पुराना कनेक्शन, दंग रह जाएंगे आप

बेहोशी से वह धीरे-धीरे वापस आ रही है। उसने नवें दिन आंख खोली है। प्रवक्ता डॉ संदीप तिवारी के मुताबिक, पीड़िता को वेंटिलेटर से भी हटाने का प्रयास किया जा रहा है।

मगर उसका ब्लड प्रेशर अभी गड़बड़ बना हुआ है। ट्रामा सेंटर के मीडिया प्रभारी प्रोफेसर संदीप तिवारी ने बताया कि 28 जुलाई के बाद से आज पीड़ित की हालत में सुधार दिखा है।

उसका बुखार कम हो गया है। वह इशारों में अब संकेत समझ रही है। वकील के बाद अब पीड़ित को भी वेंटीलेटर से हटाया जाएगा। वकील अभी भी डीप कोमा में है।

ये भी पढ़ें...जम्मू-कश्मीर पर ये क्या बोल गई पाकिस्तानी ऐक्ट्रेस वीना मलिक?

Aditya Mishra

Aditya Mishra

Next Story