Top
TRENDING TAGS :Coronavirusvaccination

चमोली त्रासदी: 5 और शव बरामद, सात दिन बाद भी जारी है जिंदगी बचाने की जंग

  7 फरवरी को आई आपदा के बाद से सुंरग में फंसे लोगों को बचाने के लिए दिन रात अभियान चलाया जा रहा है। उत्तराखंड पुलिस, एसडीआरएफ और एनडीआरएफ के जवान मिलकर शवों को निकाल रहे हैं।

Aditya Mishra

Aditya MishraBy Aditya Mishra

Published on 14 Feb 2021 5:11 AM GMT

चमोली त्रासदी: 5 और शव बरामद, सात दिन बाद भी जारी है जिंदगी बचाने की जंग
X
पांच लाशें बरामद होने के बाद अब मरने वाले लोगों का आंकड़ा 43 हो गया है। टनल से मलबा और कीचड़ हटाए जाने का काम निरंतर चल रहा है।
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

चमोली/ नई दिल्ली: उत्तराखंड के चमोली में आई आपदा के बाद तपोवन पावर प्रोजेक्ट की सुरंग में फंसे लोगों को बचाने के लिए रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है।

सात दिन बीत चुके हैं, लेकिन अभी तक बचाव दल अंदर फंसे लोगों तक नहीं पहुंच पाया है। रविवार तड़के सुबह रेस्क्यू टीम ने सुरंग से पांच और शव बरामद किये, जिसके बाद इस त्रासदी में मरने वाले लोगों की संख्या 43 हो गई है।

उत्तराखंड के डीजीपी अशोक कुमार ने बताया कि तपोवन (चमोली में) में मुख्य सुरंग के किनारे से आज दो शव बरामद किए गए हैं।

उत्तराखंड में फिर तबाही! ऋषिगंगा पर बनी झील, वैज्ञानिकों ने दी चेतावनी

chamoli hadsa चमोली त्रासदी: 5 और शव बरामद, सात दिन बाद भी जारी है जिंदगी बचाने की जंग (फोटो:सोशल मीडिया)

7 फरवरी को आई थीं आपदा, अब 38 लाशें बरामद

उत्तराखंड पुलिस, एसडीआरएफ और एनडीआरएफ के जवान मिलकर शवों को निकाल रहे हैं। 7 फरवरी को आई आपदा के बाद से सुंरग में फंसे लोगों को बचाने के लिए दिन रात अभियान चलाया जा रहा है।

शनिवार को को चमोली की डीएम स्वाति एस भदौरिया ने बताया था कि एनटीपीसी टनल में खुदाई का काम 136 मीटर तक पूरा कर लिया गया है।

शुक्रवार को एक डेडबॉडी बरामद की गई थी। लापता 204 लोगों में से 38 लोगों के शव बरामद किए जा चुके हैं जबकि 2 लोगों को जिंदा बचाया गया है।

रेस्क्यू ऑपरेशन अब भी जारी है। पांच लाशें बरामद होने के बाद अब यह आंकड़ा 43 हो गया है। टनल से मलबा और कीचड़ हटाए जाने का काम निरंतर चल रहा है। कुछ लोगों के अब भी टनल में फंसे होने की आशंका है।

ऐसा भयानक मंजर: उत्तराखंड तबाही से सदमे में लोग, कीचड़ से निकल रही लाशें

chamoli hadsa चमोली त्रासदी: 5 और शव बरामद, सात दिन बाद भी जारी है जिंदगी बचाने की जंग(फोटो:सोशल मीडिया)

लोगों की मदद के लिए आईटीबीपी ने लगाये राहत शिविर

उत्तराखंड के चमोली जिले में ग्लेशियर टूटने के बाद जन जीवन अस्त व्यस्त हो गया है। कई गांवों से संपर्क टूटने के बाद आईटीबीपी ने वहां राहत शिविर लगाए हैं और लोगों को आवश्यक सामग्री मुहैया कराई जा रही हैं। लोगों को किसी भी तरह की कोई कठिनाई न हो इस बात का भी पूरा ख्याल रखा जा रहा है।

बता दें कि उत्तराखंड के चमोली जिले में सात फरवरी को ग्लेशियर टूटने से सैलाब आ गया था। जिसकी वजह से उत्तराखंड के 13 गांवों में भारी जनहानि हुई थी। कई लोग सैलाब में बह गए थे।

कई गांवों का जिले से सम्पर्क टूट गया था। तपोवन टनल में रेस्क्यू ऑपरेशन के बाद कई लाशें बरामद की जा चुकी हैं। कुछ लोगों को सुरक्षित भी बचाया गया है। लापता लोगों की तलाश अभी भी सर्च ऑपरेशन चलाया जा रहा है।

उत्तराखंड तबाही: एमपी में मचा कोहराम, लापता हुए इतने युवक

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Aditya Mishra

Aditya Mishra

Next Story